POLITICS

Yoga To Get Rid Of Constipation: कब्ज का नेचुरल तरीके से इलाज करने के लिए आसान और कारगर हैं ये 3 योगासन

Yoga To Get Rid Of Constipation: कब्ज का नेचुरल तरीके से इलाज करने के लिए आसान और कारगर हैं ये 3 योगासन

Yoga To Get Rid Of Constipation: कब्ज एक ऐसी समस्या है जो आपके पूरे दिन को बिगाड़ सकती है.

खास बातें

  • कब्ज एक ऐसी समस्या है जो आपके पूरे दिन को बिगाड़ सकती है.
  • ये पेट में दर्द और सूजन से आपके मूड़ को भी प्रभावित करती है.
  • कब्ज की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं तो प्राकृतिक तरीका है योग.

Simple Yoga Exercises For Concentration: कब्ज एक ऐसी समस्या है जो आपके पूरे दिन को बिगाड़ सकती है. ये पेट में दर्द और सूजन से आपके मूड़ को भी प्रभावित करती है. कब्ज का इलाज करना सभी चाहते हैं लेकिन कब्ज के नेचुरल तरीके हर किसी को पता नहीं होते हैं. कब्ज के कारण कई हैं हम सुबह देर से उठते हैं, अनहेल्दी फूड्स खाते हैं और कम फिजिकल एक्टिविटी करते हैं, लेकिन अगर आप कब्ज के लिए कारगर तरीके अपनाते हैं तो इससे आसानी से बच सकते हैं. कब्ज का अहसास न केवल आपको असहज करता है बल्कि आपका पूरा दिन भी बर्बाद कर सकता है. आप अपने काम पर ध्यान नहीं दे पाएंगे, कुछ भी खा नहीं पाएंगे और आपका पूरा ध्यान अपने पाचन स्वास्थ्य पर रहेगा. अगर आप कब्ज की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं तो सुरक्षित और प्राकृतिक तरीका है योग.

कब्ज में योग कैसे मदद कर सकता है | How Yoga Can Help With Constipation

योग न केवल आपके शरीर को लचीला और टोंड बनाने में मदद करता है, बल्कि इसके कुछ आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ भी हैं. फिजिकल एक्टिविटी का ये रूप पाचन संबंधी समस्याओं के कारण होने वाले दर्द और परेशानी को दो तरह से कम करने में मदद करता है:

पेट की मालिश करना: योग में मुड़ना और झुकना शामिल है, जो आपके पेट की मालिश करता है, आसान मल त्याग को प्रोत्साहित करता है.

तनाव को मैनेज करता है: तनाव कब्ज का एक और कारण है और आपके भटकते मन को शांत करने के लिए योग से बेहतर कुछ नहीं है. यहां 3 बेस्ट योगासन हैं जो कब्ज से निपटने में आपकी मदद करते हैं.

1. पवनमुक्तासन

स्टेप 1: आराम की स्थिति में अपनी पीठ के बल लेट जाएं.


स्टेप 2: अपने घुटनों को मोड़ें और अपने घुटनों और टखनों को एक साथ रखते हुए अपनी जांघों को अपने पेट के पास लाएं.


स्टेप 3: अपने हाथों को पैरों के चारों ओर लाएं और उन्हें आपस में जकड़ लें.


स्टेप 4: अपनी गर्दन को ऊपर उठाएं और अपनी ठुड्डी को अपनी छाती से लगाएं.


स्टेप 5: 4-5 सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें और फिर शुरुआती बिंदु पर जाएं.

2. मालासन

स्टेप 1: अपने पैरों को चौड़ा करके अपनी चटाई पर खड़े हो जाएं.


स्टेप 2: अपने घुटनों को मोड़ें और अपने बट को नीचे करके स्क्वाट की स्थिति में आ जाएं.


स्टेप 3: हथेलियों को एक साथ लाने के लिए अपनी कोहनी मोड़ें और अपनी कोहनी को अपने भीतर के घुटनों के खिलाफ दबाने के लिए अपनी बाहों को अपने घुटनों के अंदर ले जाएं.


स्टेप 4: अपनी रीढ़ को सीधा, गर्दन सीधी और कंधों को आराम से रखें.


स्टेप 5: इस मुद्रा में 4-5 सांसों तक रहें और फिर आराम करें

3. बालासन

स्टेप 1: योग चटाई पर अपने पैरों के आधार को ऊपर की ओर रखते हुए घुटने टेकें. आपके पैर की उंगलियां एक साथ होनी चाहिए और घुटने एक दूसरे से थोड़े अलग होने चाहिए. आप अपने दोनों हाथों को साइड में रख सकते हैं.


स्टेप 2: सांस छोड़ें और अपने धड़ को आगे की ओर झुकाएं, अपने पेट को अपनी जांघों पर टिकाएं. आपका सिर चटाई को छूना चाहिए.


स्टेप 3: चटाई को छूने के लिए अपने दोनों हाथों को अपने सामने फैलाएं.


स्टेप 4: इस पोजीशन में रहते हुए 4-5 सेकेंड के लिए सांस अंदर-बाहर करें और फिर वापस शुरुआती पोजीशन में आ जाएं.

इस तरीके से जान सकते हैं कि आपको Prostate Cancer होगा या नहीं! एक्सपर्ट बता रहे हैं पूरी बात


अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

Back to top button
%d bloggers like this: