POLITICS

Shraddha Murder Case: फ्रिज में थे श्रद्धा की लाश के टुकड़े, आफताब ने पेशे से डॉक्टर लड़की को बुलाया था घर

Shraddha Murder Case: श्रद्धा की हत्या के बाद आरोपी आफताब ने पेशे से साइकॉलजिस्ट एक लड़की को अपने घर बुलाया था।

Shraddha Murder Case: श्रद्धा वालकर मर्डर केस (Shraddha Walkar Murder Case) में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। अब दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया है कि श्रद्धा की हत्या के बाद आरोपी आफताब पूनावाला (Aaftab Poonawala) ने डेटिंग एप बम्बल के माध्यम से पेशे से एक डॉक्टर लड़की को अपने घर बुलाया था। दिल्ली पुलिस ने उस डॉक्टर लड़की की पहचान कर ली है। यह लड़की पेशे से साइकॉलजिस्ट है।

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने अब साइकॉलजिस्ट लड़की से संपर्क कर लिया है। पुलिस लड़की से आफताब अमीन पूनावाला (Aaftab Poonawala) को लेकर जानकारी जुटाएगी। श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब पूनावाला ने इस लड़की को अपने घर बुलाया था। जब साइकॉलजिस्ट लड़की आरोपी आफताब पूनावाला से उसके घर मिलने आई थी, तब श्रद्धा के शव के टुकड़े उसके घर के फ्रिज में रखे हुए थे।

पुलिस ने जांच के सिलसिले में डेटिंग एप्लिकेशन से जानकारी मांगी थी, क्योंकि आफताब कथित तौर पर इसके जरिए कई महिलाओं से मिला था।

श्रद्धा वालकर मर्डर केस (Shraddha Murder Case) के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Amin Poonawalla) की पुलिस कस्टडी खत्म हो गई है। दिल्ली की एक अदालत ने शनिवार (26 नवंबर, 2022) अब उसे 13 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। आफताब को अम्बेडकर अस्पताल से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया गया। वहीं आफताब का 28 नवंबर को नार्को टेस्ट हो सकता है।

दिल्ली पुलिस आफताब की बातों पर यकीन नहीं कर रही है। पुलिस का मानना है कि आफताब बहुत शातिर किस्म का शख्स है। वो पुलिस को भ्रम में डालने के लिए बहुत सी झूठी बातें गढ़ रहा है। यही वजह है कि दिल्ली पुलिस आफताब का नार्को टेस्ट करवा रही है।

श्रद्धा मर्डर केस मामले में गुरुवार को दिल्ली पुलिस ने दावा किया था कि आफताब ने श्रद्धा की हत्या करने के बाद उसके शव को टुकड़ों में करने के लिए पांच चाकुओं का इस्तेमाल किया था। जिनको बरामद कर लिया गया। जिसमें एक आरी अभी पुलिस को नहीं मिली है।

आफताब पर आरोप है कि उसने पहले अपनी लिव-इन-रिलेशनशिप पार्टनर श्रद्धा की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद उसके शव के 35 टुकड़े किए। शव के टुकड़ों को उसने तीन सप्ताह तक घर के ही फ्रीज में ही रखा। इसके बाद वो इन टुकड़ों को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और एनसीआर के अलग-अलग जगहों पर लोगों की निगाह से बचने के लिए रात में फेंकता था।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: