POLITICS

LG-केजरीवाल की तकरार से आजिज आए CJI, DERC मामले पर बोले

दिल्ली विद्युत नियामक आयोग (DERC) के चेयरमैन को नियुक्त करने के मामले में दिल्ली सरकार और केंद्र के बीच चल रही रस्साकसी से सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ भी आजिज आ गए हैं। उनका कहना था कि अगर अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल वीके सक्सेना एक साथ बैठकर चर्चा करें तो उन्हें नहीं लगता कि समस्या का हल नहीं निकलेगा। उसके बाद सीजेआई ने तल्ख लहजे में कहा कि दोनों से मुझे केवल एक नाम चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और LG वीके सक्सेना से इस पद के लिए पूर्व न्यायाधीशों के नामों पर विचार-विमर्श करने को कहा। अदालत ने कहा कि संवैधानिक पदों पर बैठे दोनों लोगों को राजनीतिक कलह से ऊपर उठना होगा। दिल्ली सरकार के वकील अभिषेक मनु सिंघवी और उप राज्यपाल की तरफ से पेश हरीश साल्वे को सीजेआई ने कहा कि अपने अपने क्लाइंट को मेरा फैसला बता दीजिए।

गुरुवार को फिर से मामले पर गौर करेंगे सीजेआई

सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस पीएस नरसिम्हा व जस्टिस मनोज मिश्रा की बेंच ने कहा कि वह बृहस्पतिवार को एक बार फिर मामले पर विचार करेगी। बेंच ने दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के वकीलों से कहा कि दोनों को अदालत में आज के घटनाक्रम की जानकारी दी जाए। बेंच ने कहा कि दोनों संवैधानिक पदाधिकारियों को झगड़े भूलकर डीईआरसी अध्यक्ष पद के लिए एक नाम देना होगा।

सुप्रीम कोर्ट ने चार जुलाई को कहा था कि वह डीईआरसी प्रमुख सहित अन्य नियुक्तियों को नियंत्रित करने वाले केंद्र के हालिया अध्यादेश के एक प्रावधान की संवैधानिक वैधता का अध्ययन करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस (सेवानिवृत्त) उमेश कुमार के डीईआरसी प्रमुख के रूप में शपथ ग्रहण समारोह को स्थगित करने से संबंधित दिल्ली सरकार के बयान को भी रिकॉर्ड में लिया, जिनकी नियुक्ति आम आदमी पार्टी (आप) सरकार और केंद्र के बीच विवाद का एक और मुद्दा बन गया है।

जस्टिस उमेश कुमार इलाहाबाद हाईकोर्ट से रिटायर हुए हैं। राष्ट्रपति ने उनको डीईआरसी प्रमुख के पद पर नियुक्त किया था। लेकिन आप सरकार इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई। उसके बाद टॉप कोर्ट ने शपथ ग्रहण समारोह पर रोक लगा दी थी। आज इस मामले की सुनवाई सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच ने की थी।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button