POLITICS

ADR Report: पांच क्षेत्रीय दलों को इलेक्‍टोरल बॉन्‍ड के जरिए मिला 250 करोड़ का चंदा

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म की ओर से रिपोर्ट तैयार किए जाने तक राष्ट्रीय पार्टियों में, वित्त वर्ष 2020-21 के लिए बीजेपी की ऑडिट रिपोर्ट चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं थी।

चुनाव अधिकार समूह एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के अनुसार, पांच क्षेत्रीय दलों ने घोषणा की है कि उन्हें 2020-21 में चुनावी बांड (Electoral Bonds) के माध्यम से 250.60 करोड़ रुपये का चंदा मिला है।

31 क्षेत्रीय दलों की कुल आय 529.416 करोड़ रुपए: एडीआर की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2020-21 में 31 क्षेत्रीय दलों की कुल आय 529.416 करोड़ रुपए थी और उनका कुल घोषित खर्च 414.028 करोड़ रुपए था। साल 2020-21 में सबसे ज्यादा खर्च करने वाली पांच पार्टियों में डीएमके (218.49 करोड़ रुपए), टीडीपी (54.769 करोड़ रुपए), अन्नाद्रमुक (42.37 करोड़ रुपए), जनता दल यूनाइटेड (24.35 करोड़ रुपए) और तेलंगाना राष्ट्र समिति (22.35 करोड़ रुपए) शामिल हैं।

इलेक्‍टोरल बॉन्‍ड के जरिए 250.60 करोड़: रिपोर्ट के मुताबिक, शीर्ष पांच दलों की कुल आय 434.255 करोड़ रुपए है, जो विश्लेषण किए गए राजनीतिक दलों की कुल आय का 82.03 प्रतिशत है। स्वैच्छिक योगदान के तहत, राजनीतिक दलों ने इलेक्‍टोरल बॉन्‍ड के जरिए अपनी आय का 250.60 करोड़ (47.34 प्रतिशत) दान से एकत्र किया। जबकि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए दूसरे दान और योगदान 126.265 करोड़ रुपए (23.85 प्रतिशत) थे।

29 पार्टियों की आय में गिरावट: जिन 31 क्षेत्रीय दलों का विश्लेषण किया गया, उनमें से केवल पांच ने इलेक्‍टोरल बॉन्‍ड के जरिए चंदे की घोषणा की। रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान 31 क्षेत्रीय दलों की कुल आय में से 84.64 करोड़ रुपए (15.99 प्रतिशत) ब्याज से कमाई गयी आय थी। 31 पार्टियों में से 29 की कुल आय वित्त वर्ष 2019-20 में 800.26 करोड़ रुपए से घटकर वित्त वर्ष 2020-21 में 520.492 करोड़ रुपए हो गई, जो कि 34.96 प्रतिशत की गिरावट है।

एडीआर ने कहा कि 17 क्षेत्रीय दल हैं जिन्होंने बताया कि वित्त वर्ष 2020-21 के लिए उनकी आय का एक हिस्सा शेष है। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2020-21 के लिए राष्ट्रीय दलों में भारतीय जनता पार्टी की ऑडिट रिपोर्ट फिलहाल ईसीआई की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं थी।

2019-20 में बीजेपी की 4847.78 करोड़ रुपए की संपत्ति: एडीआर के अनुसार, भाजपा ने वित्त वर्ष 2019-20 में 4,847.78 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की, जो सभी राजनीतिक दलों में सर्वाधिक है। इसके बाद बसपा ने 698.33 करोड़ रुपए और कांग्रेस ने 588.16 करोड़ रुपए की संपत्ति की घोषणा की है। वित्त-वर्ष 2019-20 में एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, वित्त वर्ष के दौरान सात राष्ट्रीय और 44 क्षेत्रीय दलों द्वारा घोषित कुल संपत्ति क्रमश: 6,988.57 करोड़ रुपए और 2,129.38 करोड़ रुपए थी।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button