POLITICS

ABP Opinion Poll: असम में BJP-CONG गठबंधन के बीच कांटे की टक्कर, UPA का वोट 10% बढ़ने का अनुमान

  1. Hindi News
  2. राष्ट्रीय
  3. ABP Opinion Poll: असम में BJP-CONG गठबंधन के बीच कांटे की टक्कर, UPA का वोट 10% बढ़ने का अनुमान

एबीपी न्यूज-सीवीओटर सर्वे के मुताबिक असम में एनडीए के नेतृत्व वाली सरकार आगामी विधानसभा चुनावों में अपनी सीटें बढ़ाकर सत्ता में वापसी कर रही है।

assam, BJPपीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्री सोनोवाल।(PTI)।

एबीपी न्यूज-सीवीओटर सर्वे के मुताबिक असम में एनडीए के नेतृत्व वाली सरकार आगामी विधानसभा चुनावों में अपनी सीटें बढ़ाकर सत्ता में वापसी कर रही है। बता दें कि चुनाव आयोग के मुताबिक 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को राज्य में तीन चरणों में 126 सदस्यीय असम विधानसभा के लिए चुनाव होगा। जिसके परिणाम 2 मई को घोषित किए जाएंगे।

असम विधानसभा चुनाव में वोट शेयर की बात की जाए तो भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन को आगामी चुनावों में लगभग 45 प्रतिशत वोट शेयर हासिल होगा। जो 2016 के चुनाव परिणामों की तुलना में +3 प्रतिशत है। सर्वे के अनुसार, असम में विधानसभा चुनाव में कांटे की टक्कर दिख रही है। कांग्रेस के नेतृत्व वाले UPA को 2016 के चुनावों की तुलना में लगभग 41 प्रतिशत वोट शेयर मिल रहा है। गठबंधन का वोट शेयर +10 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान है। एबीपी न्यूज-सीवीओटर के सर्वे से यह भी पता चलता है कि असम में अन्य पार्टियां 14 प्रतिशत वोट शेयर हासिल कर सकती हैं जो कि 2016 के चुनावों की तुलना में 13 प्रतिशत कम रहेगा।

असम विधानसभा चुनाव सर्वे में पता चला है कि भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए को 126 सदस्यीय असम विधानसभा में लगभग 65 से 73 सीटों पर जीत मिल सकती है। जो कि वर्तमान में 5 सीटों से कम है।

वहीं, कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए को 52 से 60 सीटें मिलने का अनुमान है। जो कि 2016 के चुनावों में मिली सीटों से 17 ज्यादा है। अन्य दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों, को चुनावों में लगभग 0 से 4 सीटें मिल सकती हैं।

यह भी कहा जा रहा है कि क्षेत्रवार, मध्य असम, पहाड़ी क्षेत्रों और बराक घाटी और ऊपरी असम से अधिकांश वोट बीजेपी को मिलेंगे जबकि निचले असम से वोट कांग्रेस को मिलेंगे। 2016 में, सभी क्षेत्रों से बहुमत भाजपा को मिला था।

बता दें कि असम में 2016 में विधानसभा चुनाव दो चरणों में हुए थे। जिसमें भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगियों ने राज्य के 126 विधानसभा क्षेत्रों में से 86 पर जीत हासिल की थी।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button