POLITICS

हिमाचल प्रदेश में बारिश का कहर, 50 की मौत, 15 अगस्त के लिए IMD ने जारी किया येलो अलर्ट

सीएम सुखविंदर ने मंडी जिले के संबल गांव से एक वीडियो क्लिप साझा करते हुए कहा कि इस भयानक स्थिति से निपटने के लिए बचाव, खोज और राहत अभियान जारी हैं।

नई दिल्ली

heavy rain in himachal pradesh | shimla |
हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश से तबाही (AP PHOTO)

हिमाचल प्रदेश में पिछले 24 घंटों में भारी बारिश के बाद 50 से अधिक लोगों की जान चली गई है। वहीं 20 लोग अभी भी फंसे हुए हैं। अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि 14 लोगों की मृत्यु शिमला में हुई भूस्खलन के कारण हुई। भूस्खलन के कारण कई सड़कें टूट गईं और घर गिर गए।

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का बड़ा बयान

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने हिमाचल में आई आफत पर बोलते हुए कहा, “पिछले 24 घंटों में 50 से अधिक लोगों की जान चली गई है। 20 से अधिक लोग अभी भी फंसे हुए हैं, और मरने वालों की संख्या बढ़ भी सकती है। खोज और बचाव अभियान जारी है। हमने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कोई भी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं करने का निर्णय लिया है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, मल्लिकार्जुन खड़गे, बीजेपी प्रमुख जेपी नड्डा, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने राज्य सरकार को हर संभव मदद देने का आह्वान किया है।”

इससे पहले सीएम सुखविंदर ने मंडी जिले के संबल गांव से एक वीडियो क्लिप साझा करते हुए कहा, “इस भयानक स्थिति से निपटने के लिए बचाव, खोज और राहत अभियान जारी हैं।”

जानिए अब तक क्या हुआ

  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस आफत पर कहा कि राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की टीमें राज्य में राहत और बचाव कार्यों में लगी हुई हैं। उन्होंने बाढ़ के कारण जानमाल के नुकसान को बेहद दुखद बताया।
  • शिमला में समर हिल के पास यूनेस्को की विश्व धरोहर शिमला-कालका रेलवे ब्रिज बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। 50 मीटर लंबा पुल बह गया है और पटरियां हवा में लटक गई हैं।
  • मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि समर हिल इलाके में एक शिव मंदिर ढह गया और फागली इलाके में एक अन्य जगह जहां कई घर मिट्टी और कीचड़ के नीचे दब गए थे, उनके मलबे से 9 शव निकाले गए हैं। मुख्यमंत्री ने शिमला शहर के समर हिल इलाके में मंदिर ढहने की जगह का दौरा किया और कहा कि मलबे के नीचे दबे लोगों को बचाने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं।
  • राज्य में सभी स्कूल और कॉलेज सोमवार को बंद रहे। आपदा के कारण राज्य में 621 सड़कें बंद हैं। मौसम विभाग ने मंगलवार को भारी बारिश के लिए येलो अलर्ट जारी किया है और 18 अगस्त तक राज्य में बारिश की संभावना जताई है।
  • मौसम विभाग ने सोमवार को कुल्लू, किन्नौर और लाहौल और स्पीति को छोड़कर राज्य के 12 में से 9 जिलों में अत्यधिक भारी बारिश की संभावना जताई और मंगलवार के लिए येलो अलर्ट जारी किया।

  • सोलन जिले के जादोन गांव में रविवार रात बादल फटने से एक ही परिवार के सात लोगों की मौत हो गई। बादल फटने से जिले में दो घर बह गए। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि छह लोगों को बचा लिया गया, जबकि सात अन्य की मौत हो गई।

First published on: 14-08-2023 at 22:26 IST

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button