POLITICS

सुप्रीम कोर्ट ने पीएफआई पर लगाया प्रतिबंध: पिछले साल केंद्र ने लगाया था 5 साल का प्रतिबंध

नई दिल्ली7 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
पीएफआई ने सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार के खिलाफ पांच साल के प्रतिबंध की याचिका दायर की है।  - दैनिक भास्कर

पीएफआई ने सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार के खिलाफ पांच साल के प्रतिबंध की याचिका दायर की है।

केंद्र सरकार ने सितंबर 2022 में स्टार फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) पर पांच साल का प्रतिबंध लगाया था। इसके खिलाफ 20 अक्टूबर को पीएफआई सुप्रीम कोर्ट में पेश किया गया। जस्टिस अनिरुद्ध बोस और जस्टिस बेला एम मैनचेस्टर की बेंच ने शुक्रवार को सुनवाई के लिए याचिका दायर की। हालाँकि, ऑर्केस्ट्रा ने अदालत में मामले को खारिज करने की अपील करते हुए पत्र दिया, इस अदालत में दो सप्ताह तक सुनवाई हुई।

पीएफआई ने सुप्रीम कोर्ट में यूएपीए ट्रिब्यूनल के 21 मार्च के फैसले को चुनौती दी है, जिसमें केंद्र भी शामिल है। 27 सितंबर, 2022 को फैसले की पुष्टि की गई थी।

केंद्र सरकार ने 28 सितंबर 2022 को पीएफआई के अलावा 8 और साथियों को देश की सुरक्षा के लिए आतंकियों पर प्रतिबंध लगाया था। इस फैसले के तहत पीएफआई के खिलाफ कर्नाटक हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी, लेकिन 30 नवंबर 2022 को हाईकोर्ट ने याचिका खारिज कर दी थी।

केंद्र सरकार के 28 सितंबर 2022 को बैन के बाद कई जगहों पर पीएफआई संगठन ने विरोध प्रदर्शन किया था.

केंद्र सरकार के 28 सितंबर 2022 को बैन के बाद कई जगहों पर पीएफआई संगठन ने विरोध प्रदर्शन किया था.

पूर्वोक्त राज्य में वस्तुओं की थी था जांच
एनआईए, ईडी और राज्यों की पुलिस ने सितंबर 2022 में सात राज्यों में पीएफआई से जुड़े 270 लोगों को गिरफ्तार और हिरासत में लिया था। विचारधारा को पीएफआई के खिलाफ साक्ष्य मिले। इसके बाद एस्ट्रुअल्स पर बैन कर दिया गया था

गृह मंत्रालय की अधिसूचना में कहा गया था कि पीएफआई के कुछ संस्थापक सदस्य आतंकवादी इस्लामिक लेफ्ट ऑफ इंडिया (सिमी) के नेता हैं, और पीएफआई का जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के साथ संबंध है। जेएमबी और सिमी दोनों प्रतिबंधित संगठन हैं। इसमें कहा गया है कि इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) जैसे आतंकवादी संगठन के साथ पीएफआई की संलिप्तता के कई उदाहरण हैं।

अधिसूचना में दावा किया गया है कि पीएफआई देश में असुरक्षा की भावना को बढ़ावा देने के लिए एक समुदाय में कट्टरपंथ को बढ़ावा देने के लिए गुप्त रूप से काम कर रही है, इस तथ्य से सिद्ध हुआ है कि कुछ पीएफआई कैडर अंतरराष्ट्रीय कट्टरपंथी आतंकवादी शामिल हो गए हैं ।।

पीएफआई से जुड़े इन कलाकारों पर प्रतिबंध है

1. रिहायब इंडिया फाउंडेशन (आरआईएफ)

2. प्रोटॉन फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई)

3. अखिल भारतीय इमामबाड़े काउंसिल (AIIC)

4. नेशनल कॉन्फेडरेशन ऑफ ह्यूमन रिस्ट्स क्लाइमेट (एनसीएचआरओ)

5. नेशनल विमेंस फ्रंट

6. जूनियर मोर्चा

7. एम्पावर इंडिया फाउंडेशन

8. रिहैब फाउंडेशन

Back to top button