POLITICS

विपक्षी एकता के लिए नीतीश कुमार की मुहिम जारी, ममता और अखिलेश से मुलाकात करेंगे

विपक्षी एकता के लिए नीतीश कुमार की मुहिम जारी, ममता और अखिलेश से मुलाकात करेंगे

नीतीश कुमार ने कहा, ”हम अपने लिए कुछ नहीं चाहते, हमारी अपने लिए कोई व्यक्तिगत इच्छा नहीं है.

पटना:

विपक्षी दलों को एकजुट करने की मुहिम में जुटे जनता दल यूनाईटेड के नेता और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को कोलकाता और लखनऊ जाएंगे. वे कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एवं लखनऊ में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात करेंगे. नीतीश कुमार के साथ बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश जाएंगे.

यह भी पढ़ें

संभावना है कि नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव ममता बनर्जी और अखिलेश यादव से मुलाकात के दौरान विपक्षी दलों को एकजुट करने की आगे की रणनीति पर चर्चा कर सकते हैं.

नीतीश कुमार से जब रविवार को ममता बनर्जी से प्रस्तावित बैठक के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, ”यह सब अभी पूछने की क्या जरूरत है. हम जब सब कर लेंगे तब बात करेंगे.”  

नीतीश कुमार ने विपक्षी एकता के लिए अपनी मुहिम के बारे में कहा कि, ”हम अपने लिए कुछ नहीं चाहते, कितनी बार बोल चुके हैं. हमारी अपने लिए कोई व्यक्तिगत इच्छा नहीं है. हम तो पूरे देश के हित में सोच रहे हैं. अभी जो कुछ भी हो रहा है, पूरे देश के इतिहास को बदलने के चक्कर में हैं. हम चाहते हैं कि देश सुरक्षित रहे. आजादी की जो इतनी बड़ी लड़ाई हुई, नई पीढ़ी को मालूम होना चाहिए. कुछ लोग आजकल सब चीजों को बदल देना चाहते हैं. सब लोग जब एक साथ हो जाएंगे, मिलेंगे तो देश सुरक्षित रहेगा. हम इसके लिए काम कर रहे हैं.”   

इससे पहले इसी महीने दिल्ली में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल समेत वामपंथी नेताओं के साथ बीजेपी के खिलाफ 2024 में संयुक्त रणनीति को लेकर बैठकें की थीं.

नीतीश कुमार ने 12 अप्रैल को तेजस्वी यादव के साथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे से दिल्ली स्थित उनके आवास पर मुलाकात की थी. बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद थे. बैठक में ललन सिंह, मनोज झा, सलमान खुर्शीद, मुकुल वासनिक और बिहार कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह भी मौजूद थे.

नीतीश कुमार ने उसी दिन शाम को आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की थी. 

फरवरी में, नीतीश कुमार ने इस बात पर जोर दिया था कि यदि कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दल 2024 का लोकसभा चुनाव एकजुट होकर लड़ते हैं, तो भाजपा 100 सीट से कम सीट पर सिमट जाएगी.

नीतीश कुमार ने पिछले साल सितंबर में भी दिल्ली का दौरा किया था, जब उन्होंने शरद पवार, अरविंद केजरीवाल, डी राजा, सीताराम येचुरी और अखिलेश यादव जैसे नेताओं से मुलाकात की थी. जद (यू), राजद, कांग्रेस और वाम दल बिहार में सत्तारूढ़ गठबंधन का हिस्सा हैं.

Back to top button