POLITICS

लखीमपुर में हाथियों ने युवकों को दौड़ाया, VIDEO:दुधवा में हाथियों के साथ सेल्फी ले रहे थे, पीछे दौड़े तो जान बचाकर भागे युवक

लखीमपुर-खीरी2 महीने पहले

  • कॉपी लिंक
लखीमपुर के दुधवा नेशनल पार्क में यह घटना मंगलवार को हुई। - Dainik Bhaskar

लखीमपुर के दुधवा नेशनल पार्क में यह घटना मंगलवार को हुई।

लखीमपुर में हाथियों के झुंड ने तीन युवकों को दौड़ा लिया। ये युवक हाथियों के सामने खड़े होकर सेल्फी ले रहे थे। इस दौरान हाथी अचानक गुस्सा हो गए और दौड़ने लगे। घटना मंगलवार शाम की दुधवा टाइगर रिजर्व की है। वहां मौजूद किसी युवक ने इसका वीडियो बना लिया।

टाइगर रिजर्व के पलिया गौरीफंटा सड़क पर करीब हाथियों का झुंड खड़ा था। उसी दौरान तीन युवक हाथियों के करीब पहुंच गए। तब तक हाथियों ने कोई रिएक्शन नहीं किया। फिर यह युवक हाथियों के झुंड के साथ सेल्फी लेने लगे। उस दौरान हाथी भड़क गए और युवकों को दौड़ा लिया।

हाथियों को आता देख तीनों युवक घबरा गए। वह दौड़ने लगे। भागने के दौरान ही एक युवक सड़क पर गिर गया। हाथियों के आने से सड़क पर अफरा-तफरी मच गई। दूर खड़े राहगीरों ने जब शोर मचाना शुरू किया तो हाथी रुके और पलटकर जंगल में चले गए।

सबसे पहले हाथियों के दौड़ाने की 3 तस्वीरें…

इस फोटो में दिख रहा है कि हाथियों का झुंड तीन लोगों को दौड़ा रहा है। तीनों युवक तेजी से भाग रहे हैं।

इस फोटो में दिख रहा है कि हाथियों का झुंड तीन लोगों को दौड़ा रहा है। तीनों युवक तेजी से भाग रहे हैं।

दूर खड़े राहगीरों ने जब जोर से चिल्लाया तो हाथी उन तीनों को छोड़कर वापस लौट गए।

दूर खड़े राहगीरों ने जब जोर से चिल्लाया तो हाथी उन तीनों को छोड़कर वापस लौट गए।

इस फोटो में काफी लोग सड़क पर दौड़ रहे हैं। हाथियों के आने से सड़क पर अफरा-तफरी मच गई।

इस फोटो में काफी लोग सड़क पर दौड़ रहे हैं। हाथियों के आने से सड़क पर अफरा-तफरी मच गई।

“खतरे का एहसास होने पर हमलावर हो जाते हैं हाथी”
दुधवा नेशनल पार्क के डिप्टी डायरेक्टर टी. रंगा राजू ने बताया, वीडियो मुझे मेरे फील्ड डायरेक्टर ललित वर्मा ने मंगलवार रात को भेजा था। वीडियो के आधार पर जांच की जा रही है कि यह लोग पैदल जा रहे थे या फिर जानबूझकर झुंड के पास पहुंचे थे। ये हाथी तीन झुंडों में थे।

हाथियों की संख्या 100 के करीब होगी। हाथियों के झुंड के पास जाना खतरनाक हो सकता है। हाथी वैसे शांत जानवर हैं, लेकिन उनके झुंड के पास कोई जाता है, तो उनको खतरे का आभास हो जाता है। जिस वजह से हाथी हमलावर हो जाते हैं।

“हाथियों में परिवार का सिस्टम थोड़ा अलग”

दुधवा के वन्य जीव विशेषज्ञ अनुराग सिंह ने कहा, अन्य जानवरों की अपेक्षा हाथियों में परिवार का सिस्टम अलग होता है। जानवरों में देखा गया है कि मां-बाप ही बच्चों की सुरक्षा करते हैं। लेकिन हाथियों में परिवार का मामला अलग है। इनमें माता-पिता के अलावा मौसा-मौसी, चाचा-चाची जैसा माहौल होता है। सभी लोग मिलकर परिवार में जो बच्चे होते हैं उनकी सुरक्षा करते हैं। जब हाथियों के साथ में बच्चे होते हैं तो वह उनकी सुरक्षा के लिए ज्यादा संवेदनशील होते हैं। किसी खतरे का आभास होने पर वह भड़क जाते हैं। इस घटना में कुछ ऐसा ही हुआ होगा।

पहले भी पर्यटकों के पीछे दौड़े थे हाथी
यह पहली बार नहीं है, जब हाथियों द्वारा किसी पर्यटक के ऊपर हमला किया गया है। हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था। उस समय जिप्सी में सवार पर्यटकों को हाथियों ने दौड़ा लिया था। उस वीडियो के बारे में बताया गया था कि सैलानियों का एक समूह दुधवा टाइगर रिजर्व के सोनारीपुर बीट में सफारी करने के लिए पहुंचा था।

इसी दौरान वहां पर मौजूद हाथियों का झुंड पर्यटकों को देखकर भड़क गया और हाथियों ने सैलानियों को दौड़ा लिया। इसके बाद सैलानी जिप्सी में बैठकर भागते नजर आए। जिप्सी में ही मौजूद शख्स द्वारा इसका वीडियो बनाया गया था और उसी ने इस वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल किया था।

ये खबर भी पढ़ें…

लखीमपुर-खीरी में तेंदुए ने महिला का शिकार किया: घर में घुसकर बुजुर्ग को घसीट ले गया

लखीमपुर खीरी में उत्तर खीरी वन रेंज धौरहरा क्षेत्र के रामनगर बगहा गांव में अलसुबह घर के अंदर सो रही 75 वर्षीय महिला को घर मे घुसकर तेंदुए ने शिकार बना लिया। इसके बाद परिवार समेत पूरे गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है। घटना की सूचना पाकर मौके पर वन विभाग की टीम पहुचकर तेंदुए के पगचिन्ह समेट कर तलाश शुरू कर दी है। पढ़ें पूरी खबर….


Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button