POLITICS

राहुल गांधी मैसूरु में गृह लक्ष्मी योजना का उद्घाटन करेंगे:हर महीने परिवार की एक महिला को 2000 रुपए मिलेंगे, चुनाव में घोषणा की थी

कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि सरकार बनने पर हम हर घर में एक हाउसवाइफ को हर महीने 2000 रुपए देंगे। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि सरकार बनने पर हम हर घर में एक हाउसवाइफ को हर महीने 2000 रुपए देंगे। (फाइल फोटो)

राहुल गांधी आज (30 अगस्त) को मैसूरु में कर्नाटक सरकार की गृह लक्ष्मी योजना का उद्घाटन करेंगे। इस कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे सहित पार्टी के कई सीनियर लीडर्स शामिल हो सकते हैं। यह कार्यक्रम महाराजा कॉलेज ग्राउंड में होगा, जिसमें एक लाख से ज्यादा लोग शामिल हो सकते हैं।

कर्नाटक में इसी साल मई विधानसभा चुनाव हुए थे। तब कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि सरकार बनने पर हम हर घर में एक हाउसवाइफ को हर महीने 2000 रुपए देंगे।

राहुल गांधी आज जैसे ही योजना का उद्घाटन करेंगे, तुरंत योजना के लिए रजिस्ट्रेशन करने वाली 1,09,54,000 महिलाओं के खाते में 2000 रुपए पहुंच जाएंगे। योजना का लाभ उन महिलाओं को मिलेगा, जिनके नाम राशन कार्ड है। जो महिला या उसका पति इनकम टैक्स देता है, वह योजना के लिए पात्र नहीं होगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पहले ये कार्यक्रम 20 अगस्त को बेलगावी में होना था, लेकिन इसे 27 अगस्त के लिए टाल दिया गया। बाद में जब राहुल गांधी का मैसूरु दौरा तय हुआ, तो कार्यक्रम की तारीख 30 अगस्त और जगह मैसूरु तय की गई।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर ये रिएक्शन दिया था।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर ये रिएक्शन दिया था।

कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस ने 135 सीटें जीती थीं
कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 224 सीटों में से 135 सीटें जीती थीं। वहीं, बीजेपी के खाते में 66, जेडीएस 19 और अन्य 4 सीटें जीत पाई थी। कर्नाटक विधानसभा चुनाव में 185 महिलाएं उम्मीदवार मैदान में थीं, इनमें से सिर्फ 8 ही जीतीं। भाजपा से 12 प्रत्याशी थीं, 2 जीतीं। कांग्रेस से 11 प्रत्याशी थीं, 3 जीतीं। जेडीएस से 13 प्रत्याशी थीं, 2 जीतीं। निर्दलीय 149 थीं, 1 ही जीतीं।

2018 में भाजपा को बहुमत नहीं… फिर भी सरकार बनाई
2018 में भाजपा ने 104, कांग्रेस ने 78 और JDS ने 37 सीटें जीती थीं। किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था। भाजपा से येदियुरप्पा ने 17 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, लेकिन सदन में बहुमत साबित न कर पाने की वजह से 23 मई को इस्तीफा दे दिया। इसके बाद कांग्रेस-JDS की गठबंधन सरकार बनी।

14 महीने बाद कर्नाटक की सियासत ने फिर करवट ली। कांग्रेस और JDS के कुछ विधायकों की बगावत के बाद कुमारस्वामी को कुर्सी छोड़नी पड़ी। इन बागियों को येदियुरप्पा ने भाजपा में मिलाया और 26 जुलाई 2019 को 119 विधायकों के समर्थन के साथ वे फिर मुख्यमंत्री बने, लेकिन 2 साल बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया। भाजपा ने बसवराज बोम्मई को मुख्यमंत्री बनाया।

इससे जुड़ी अन्य खबरें भी पढ़ें…
कर्नाटक में पूर्ण बहुमत से कांग्रेस सरकार, राहुल ने कहा- पांच वादे पहली कैबिनेट बैठक में पूरे करेंगे

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जीत मिली थी। नतीजे आने के बाद कर्नाटक कांग्रेस चीफ डीके शिवकुमार घर की बालकनी पर आए, कांग्रेस का झंडा फहराया और कार्यकर्ताओं के सामने हाथ जोड़े। राहुल गांधी ने कहा कि हम पहली कैबिनेट बैठक में पांच वादे करेंगे। पढ़ें पूरी खबर…

Back to top button