POLITICS

राजस्थान में हादसा, 11 की मृत्यु: बस सड़क किनारे का शिखर था; ट्रक ने मारी के पीछे से टक्कर मारी और कई लोगों को कुचल डाला

जूनानूएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

राजस्थान के जून में रविवार सुबह एक बस और ट्रक की टक्कर में 12 लोगों की मौत हो गई। वहीं, 12 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। पुलिस और प्रशासन के मुताबिक, मृतक मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है। बस में 57 से ज्यादा लोग सवार थे.

यह हादसा लखनऊपुर थाना क्षेत्र के आगरा-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग-21 पर हन्तारा के पास सुबह 5:30 बजे हुआ। मृतकों में 7 महिलाएं और 5 पुरुष हैं। सभी मृतक गुजरात के भावनगर में रहने वाले थे।

दुर्घटना के बाद की फोटो।  शव सड़क पर बकरियाँ गयीं।

दुर्घटना के बाद की फोटो। शव सड़क पर बकरियाँ गयीं।

ख़राब होने की वजह से सड़क किनारे का किनारा बस था
पुलिस के मुताबिक, बस भावनगर से मथुरा होते हुए हरिद्वार जा रही थी। जून की सुबह आगरा-आगरा हाईवे पर अचानक बस की डीजल पाइपलाइन फट गई। करीब 10-12 यात्री ड्राइवर के साथ बस से उतरे।

ड्राइवर और उसका साथी पाइप रिपेयर करने के बाद डीजल लेने के लिए चले गए। तभी एक तेजतर्रार ट्रक ने बस को टक्कर मारी और आसपास के लोगों को कुचल कर निकल गया।

इस दौरान वहां से गुजर रहे अन्य सहयात्री के ड्राइवर ने सड़क पर पड़े बेसुध लोगों को देखा तो पुलिस को बुलाया गया और एम्बुलेंस को बुलाया गया। सभी के सामान को जूनून जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखा गया है।

पुलिस के अनुसार स्मारकों और चमत्कारों के परिवार को सूचित किया गया है।  उनका जूनून में सामान के टुकड़े पर आगमन हुआ।

पुलिस के अनुसार स्मारकों और चमत्कारों के परिवार को सूचित किया गया है। उनके जूनून में सामान के टुकड़े पर सामान चढ़ गया।

सड़कों पर लगा रहा जाम
दुर्घटना के बाद शव हाईवे पर टूट पड़े। वहां मौजूद लोगों ने एक-एक शव को बीच सड़क से लेकर प्लाजा साइड में रखवाया। वहीं, हाईवे पर भी जाम लग गया। पुलिस ने बताया कि अभी तक ये पता नहीं चल पाया है कि किस वाहन ने टक्कर मारी है। दुश्मन की हालत गंभीर बनी हुई है। सच में आओ आपसे पूछताछ की जाएगी।

स्थानीय लोगों ने बताया कि क्रांति के बाद हाईवे जाम हो गया।

स्थानीय लोगों ने बताया कि क्रांति के बाद हाईवे जाम हो गया।

धार्मिक यात्रा पर निकले थे
लखनऊ पुलिस के अनुसार, मृतकों में अंतुभाई पुत्र लालजी (55), नंदराम पुत्र मधूरी (68), कल्लो बेन (60) भरत पुत्र भीखा, लल्लू पुत्र दयाभाई, लालजी पुत्र मनजीभाई, अंबा पत्नी जियाना, कम्बू बेन पत्नी पोपट, रामू बेन पत्नी उदा, मधु बेन पत्नी अरविंद दागी, अंजू पत्नी थापा, मधु पत्नी लालजी चूड़ासामा शामिल हैं। सभी गुजरात के भावनगर जिले के निवासी हैं।

व्यवसाय: अभय शर्मा, नदबई

Back to top button