POLITICS

मोदी के लिखे गरबा को ध्वनि-तनिष्क ने दी आवाज: पीएम ने कहा, शुक्रिया, बोले

मोदी के लिखे गरबा को ध्वनि-तनिष्क ने आवाज दी:दूसरे ने रोमांचित किया, बोले- नया गरबा गीत नवरात्रि के दौरान शेयर करेंगे

नई दिल्ली6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार 14 अक्टूबर को अपने साथियों के साथ सबसे पहले एक गरबा को लिखा था, जिसमें सोलोमन और तनिष्क बागची ने आवाज दी थी। इसके लिए साउंडट्रैक, तनिष्क और उनकी म्यूजिक की टीम का शानदार प्रदर्शन किया गया। साथ ही लिखा कि मैंने पिछले कुछ दिनों में एक नया गरबा लिखा है और इसे नवरात्रि के दौरान शेयर करूंगा।

मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर एक पोस्ट में लिखा, वर्षों पहले मेरे लिखे एक गरबा की इस प्रिय संगीतमय कलाकारों के लिए ध्वनिक भानुशाली, तनिष्क बागची और जेजस्ट म्यूजिक की टीम आपको धन्यवाद देती है। मेरी यादों को ताजा कर दिया।

मोदी की ओर से इस पोस्ट पर सुन्दर भानुशाली की एक पोस्ट का जवाब दिया गया है। साउंडैसट ने एक्स पर गरबा की संगीतमय रचनाकारों को साझा किया है। पोस्ट में कहा गया, ”प्रिय नरेंद्र मोदी जी, तनिष्क बागची और मुझे आपका लिखा गरबा पसंद आया।” हम एक नई लय, संगीत और शैली के साथ एक गीत तैयार करना चाहते थे। जेजस्ट म्यूजिक ने इस गीत और वीडियो को तैयार करने में हमारी मदद की।

गाने का नाम ‘गरबो’ है। ध्वनिक भानुमुख वीडियो में भी दिखाई देते हैं। पीएम मोदी का लिखा ‘नवरात्रि का गरबा’ (गीत) रिलीज हो गया है। यूट्यूब पर यह गाना काफी पसंद किया जा रहा है।

ये है मोदी का लिखा गरबा

गाय तेनो गारबो ने झीले तेनो गारबो, गरबो गुजरात नी गर्वी मिरात छे।

घूमे तेनो गरबो तो जुमे तेनो गरबो, गरबो गुजरात नी गर्वी मिरात छे।

सूर्य चन्द्र गरबो ने ईसाईयों पान गरबो, गरबो गुजरात नी गर मिविरात छे। तंदु डोलावे ने, मनादु जुमावतो सवने रे गमतो गरबो रेडियारी रातो मैं लगाया रेडियमनो रामतो ने भामतो गरबो… के घूमतो.. हे हया हा, हे हया हा। ओहू हू हू हू हू

दिन पान गरबो ने रात पान गरबो

गरबो गुजरात नी गर मिविरात छे। संस्कृति गार्बो ने प्रकृति गार्बो

वंसदि छे गरबो, मोरपंछ गरबो गरबो मति छे, गरबो सहमती वीरनो ए गरबो, रिचनो ए गरबो।

काया पान गरबो ने जीव पान गरबो, गरबो जीवन नी हलवी निरत छे।

गरबो सती छे ने गरबो गति छे गरबो नारी नी फूल नी बुनत छे।

तंदु डोलावे ने, मनादु जुमावतो सवने रे गमतो गरबो रेडियारी रातो मैं लगाया रेडियमनो रामतो ने भामतो गरबो… के घूमतो.. गरबो तो सात छे ने गरबो अक्षत छे गरबो माताजिनु कंकु रदियत छे (2)

अव्व मा गरबो, स्वभाव मा गरबो भक्ति चे गरबो, हां शक्ति चे गरबो (2)

कैनन रनोट ने की महिमा
इस गरबा गीत के लिए पीएम मोदी की एक्स पर कविता लिखी है- कितनी सुंदर है, अटल जी की कविताएं या नरेंद्र मोदी जी के गाने और कहानियों की बात हो। हमारे इन महान नायकों की कला में डूब गई देखकर खुशी होती है। नवरात्रि 2023 गरबा। सभी कलाकारों के लिए प्रेरणादायक।

Back to top button