POLITICS

‘मैंने मणिपुर में ऐसी दो घटनाओं को देखा, जिसे मैं जीवन भर नहीं भूलूंगा’, वायनाड में बोले राहुल गांधी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद राहुल गांधी शनिवार को वायनाड दौरे पर हैं। राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता बहाल होने के बाद उनका पहला वायनाड दौरा है। केरल पहुंचने पर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उनका एयरपोर्ट पर जोरदार स्वागत किया। शाम को साढ़े पांच बजे राहुल गांधी केरल पहुंचे।

राहुल गांधी का वायनाड में हुआ जोरदार स्वागत

इस दौरान कांग्रेसी नेताओं ने राहुल गांधी का स्वागत किया। राहुल गांधी ने केरल के कलपेट्टा में एक जनसभा को भी संबोधित किया। राहुल गांधी ने जनसभा को संबोधित करते हुए मणिपुर की घटना का जिक्र किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा।

सुनाई दो महिलाओं की कहानी

राहुल गांधी ने अपनी मणिपुर यात्रा के बारे में कहा कि मैं अभी कुछ दिनों पहले मणिपुर गया था और मुझे वहां पर दो घटनाओं के बारे में पता चला, जिसे मैं जिंदगी भर नहीं भूलूंगा। राहुल गांधी ने कहा, “जब मैं एक कैंप में पहुंचा तो मैंने देखा कि एक कमरे में कई लोग रह रहे थे। इसी दौरान मैंने एक महिला को अकेले देखा और मैंने उनसे पूछा कि क्या हुआ? वह महिला काफी देर तक चुप रही और फिर मैंने उनका हाथ पकड़ा और उनसे पूछा कि क्या हुआ? महिला ने बताया कि वह गांव में सो रही थी और उसके बेटे को उसकी आंखों के सामने मार दिया गया। महिला अपने बेटे की लाश के पास अकेले रही। बाद में उसने सोचा कि बेटा तो वापस आएगा नहीं, इसलिए उसने वहां से भाग कर अपनी जान बचाई।

वहीं राहुल गांधी ने दूसरी महिला की कहानी का भी जिक्र किया और उसके साथ भी यही घटना हुई थी। राहुल गांधी ने कहा कि ऐसे हजारों उदाहरण है, जिसमें किसी को मार दिया गया, किसी भी बहन के साथ बलात्कार किया गया और किसी का घर जला दिया गया। उन्होंने कहा कि अगर मेरी मां और बहन के साथ ऐसा होता तो कैसा लगेगा? उन्होंने कहा कि मणिपुर की महिलाओं के साथ यही हुआ है।

पीएम मोदी पर राहुल गांधी ने साधा निशाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मणिपुर मुद्दे पर लोकसभा में भाषण दिया था। उनके भाषण पर राहुल गांधी ने कहा, “मैंने उनका भाषण सुना और वह हंस रहे थे। उनके मंत्रिमंडल के साथी भी हंस रहे थे। प्रधानमंत्री ने 2 घंटे 13 मिनट तक बात की लेकिन मणिपुर के लिए केवल 2 मिनट तक बात की। हम मैतेई और कुकी दोनों इलाकों में गए। लेकिन दोनों जगह हमें यही सुनने को मिला कि अगर कोई भी सुरक्षाकर्मी दूसरे समाज से है तो वे उन्हें मार डालेगा।”

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button