POLITICS

ब्रेकिंग न्यूज़: अतीक और उसके भाई अशरफ की प्रयागराज में हत्या

अतीक और उसके भाई अशरफ की प्रयागराज में हत्या:मेडिकल टेस्ट के लिए ले जाते हैं नशे की गोली सिर में मारी; तीन हमलावरों ने सरेंडर कर दिया

प्रयागराज41 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

माफिया अतीक और उसके भाई अशरफ की शनिवार की रात प्रयागराज में हत्या कर दी गई। पुलिस उन्हें अस्पताल में मेडिकल टेस्ट के लिए ले जा रही थी। पत्रकार साथ-साथ चल रहे अतीक से सवाल कर रहे थे। इसी बीच तीन युवक मीडियाकर्मी बनकर पुलिस की सुरक्षा के घेरे तोड़ आए और अतीक के सिर में गोली मार दी। इसके बाद अशरफ पर फोटोग्राफी की। दोनों वहीं ढेर हो गए।

इस हमले के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। तीनों हमलावरों ने सरेंडर कर दिया है। हमलावरों की पहचान लवलेश, सनी और अरुण मौर्य के नाम से हुई है। उनके पास से मीडिया कार्ड, कैमरा और माइक भी मिला है। इस हमले में कॉन्स्टेबल मानसिंह को भी गोली लगी, जिसे अस्पताल ले जाया गया।

यूपी पुलिस अभी इस मामले में कुछ भी नहीं कह रही है। हमलों के तुरंत बाद, यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर पैसिफिक कुमार सीएम योगी से मिलने पहुंचे। सीएम योगी ने सभी बड़े अधिकारियों की बैठक के लिए बुलाई है। वहीं, प्रयागराज में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। कारण पर SWAT (स्पेशल वीपंस ऐंड टैक्टिक्स) टीम पहुंच गई है। संवेदनशील क्षेत्र में RAF (रैपिड एक्शन फ़ोर्स) फिर से जा रहा है। पुलिस की गश्त बढ़ाई गई है।

फोटो मर्डर से तुरंत पहले है। अतीक और उसके भाई अशरफ को मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल ले जाया गया।

फोटो मर्डर से तुरंत पहले है। अतीक और उसके भाई अशरफ को मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल ले जाया गया।

उसी समय एक गोली लगी और उसके भाई की मौत हो गई। तस्वीर में दोनों के मृत शरीर दिख सकते हैं।

उसी समय एक गोली लगी और उसके भाई की मौत हो गई। तस्वीर में दोनों के मृत शरीर दिख सकते हैं।

हमले के बाद हमलावरों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। तस्वीर में दो हमलावरों को पुलिस ने पकड़ रखा है।

हमले के बाद हमलावरों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। तस्वीर में दो हमलावरों को पुलिस ने पकड़ रखा है।

अतीक से 23 घंटे पहले हो चुकी थी पूछताछ
अतीक अहमद और अशरफ से यूपी एटीएस और प्रयागराज पुलिस ने 23 घंटे पूछताछ की थी। दोनों से करीब 200 सवाल पूछे गए थे। सूत्रों के अनुसार, इस दौरान अतीक ने स्वीकार किया कि वह पाकिस्तान से हथियारों की आपूर्ति कर रहा है। मनपाड़ा जेल से उसने आईएसआई एजेंटों को फोन किया था। यही नहीं, अतीक ने उमेश पाल हत्याकांड की साजिश का भी जुर्म कबूल किया। अशरफ ने पुलिस को बताया कि किसी चैनल से हथियार पंजाब के एक फॉर्म हाउस तक पहुंच जाते थे।

पूछताछ के दौरान अतीक गिरगिड़ाता रहा। वह बेटे के जनाजे में शामिल होने की मिन्नतें कर रहा है। इसी दौरान अटिक की तबीयत खराब हो गई। इसके बाद अतीक और अशरफ को ही हथकड़ी में प्रयागराज के कॉल्विन हॉस्पिटल लाया गया।

घटनास्थल पर घटनास्थल बरामद हुआ है। कहा जा रहा है कि हमलावरों ने ऐसी ही घटना को अंजाम दिया।

घटनास्थल पर घटनास्थल बरामद हुआ है। कहा जा रहा है कि हमलावरों ने ऐसी ही घटना को अंजाम दिया।

सतर्कता से कैमरा और माइक भी बरामद हो गया है। तिकड़ी मीडियाकर्मी पहुंचे थे।

सतर्कता से कैमरा और माइक भी बरामद हो गया है। तिकड़ी मीडियाकर्मी पहुंचे थे।

अखिलेश यादव बोले- यूपी में क्राइम की परकाष्ठा हो गई
यूपी में अपराध की पराकाष्ठा हो जाती है और अपराधियों के हौसले बुलंद है। जब पुलिस की सुरक्षा की संभावनाओं के बीच सरेआम शूटिंग करके किसी की हत्या की जा सकती है तो आम जनता की सुरक्षा का क्या। इससे लोगों के बीच भय का माहौल बन रहा है, ऐसा लगता है कि कुछ लोग ऐसा माहौल बना रहे हैं।

गुरुवार को झांसी में हुआ था अतीक के बेटे का एनकाउंटर, शनिवार सुबह धराशायी हो गया
माफिया अतीक अहमद के बेटे असद और शूटर सेलर का सुबह साढ़े ग्यारह बजे एक के बीच झांसी में एनकाउंटर हुआ था। यूपी एसटीएफ की एक टीम उमेश पाल हत्याकांड के शिकारियों की आपस में मुलाकात के बाद बुधवार को झांसी पहुंची। एसटीएफ को शुरुआती जानकारी गुड्‌डू मुस्लिम के पहलू होने की मिली थी। गुड्डू मुस्लिम तो एसटीएफ के हाथ नहीं लगे, लेकिन असद और गुलाम एसटीएफ के हत्थे चढ़ गए।

असद और स्लेव की मिलने के बाद एसटीएफ दोनों को एक साथ स्पॉट करना चाहती थी, लेकिन उन्होंने शूटिंग शुरू कर दी। एसटीएफ की जवाबी कार्रवाई में दोनों मारे गए। असद को दो, जबकि नौकर को एक गोली लगी। शनिवार सुबह 10 बजे असद को प्रयागराज के कब्रिस्तान में चिपका दिया गया। पूरी खबर यहां पढ़ें…

हम इसे लगातार अपडेट कर रहे हैं..

Back to top button