POLITICS

बेटी हुई तो तीसरी मंजिल से फाँसी दीया:वो महिला जो 17 साल के बिस्तर पर थी, आज 3000 करोड़ रुपये को सिखाया रिक्रूट सेल्फ-डिफेंस

2 घंटे पहलेलेखक: रक्षा सिंह

  • कॉपी लिंक

वाराणसी में एक जगह है…पांडेयपुर। यह जगह आज एक ऐसी महिला की वजह से जानी जाती है जो अपने एनजीओ में यहां की पहचान और खुद के लक्ष्यों पर खड़ा होना सिखाती है। लेकिन महिला वो आज खुद बिना पहचान के चल नहीं सकती।

नाम है पूनम राय. पूनम को अपने शरीर के नीचे का हिस्सा महसूस होता है


लॉक आइकन

सामग्री अवरोधक

दैनिक भास्कर ऐप पर इस खबर को पूरा पढ़ने के लिए।

डीबी क्यूआर कोड

ऐप डाउनलोड करने के लिए QR स्कैन करेंएंड्रॉइड ऐप डाउनलोड करें - दैनिक भास्करआईओएस ऐप डाउनलोड करें - दैनिक भास्कर

मुफ़्त में ऐप पढ़ेंप्रीमियम सदस्यता है तो लॉगिन करें

Back to top button