POLITICS

बीजेपी मिनिस्टर बोले

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा पर एलएस स्पीकर ओम बिरला को लिखे पत्र का आरोप लगाया

नई दिल्ली5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
भाजपा सांसद निशिकांत दुबे नेसोम नेता ओम बिड़ला से मांग की है कि किशोर मोइत्रा को निलंबित किया जाए और एक समिति से मामले की जांच कराई जाए। - दैनिक भास्कर

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे नेसोम नेता ओम बिड़ला से मांग की है कि किशोर मोइत्रा को निलंबित किया जाए और एक समिति से मामले की जांच कराई जाए।

झारखंड के गोड्डा से भाजपा मिनियन निशिकांत किसान ने समाजवादी पार्टी के सांसद निशिकांत मोइत्रा पर आरोप लगाया है। बिजनेसमैन ओम बिड़ला को लिखी किताबों में शामिल होने का आरोप है कि बिजनेसमैन दर्शन हीरानंदानी से भगवान और कैश के लिए बिजनेसमैन दर्शन हीरानंदानी का सवाल है।

निशिकांत ने इस मामले की जांच के लिए बिजनेसमैन से मांग की कि कमेटी बनाई जाए और जापानी मोइत्रा को घर से निकाला जाए।

निशिकांत ने स्टार्स को ‘री-इमर्सेन्स ऑफ नेस्टी कैश फॉर कॉमर्स इन पार्लियामेंट’ में साहित्य से लिखा है। इसमें संपत्ति के गंभीर उल्लंघन, जमींदारों के अपमान और आईपीसी की धारा 120A के तहत आपराधिक मामले की बात कही गई है।

चीनी बोलीं- उम्मीद है कि ईडी भी प्रवेश द्वार पर है
जापानी मोइत्रा ने एक्स पर लिखा- डिग्री वाले और बीजेपी के कई नेता हनन के मामले में उलझे हुए हैं। अगर टीचर्स सबसे पहले लेते हैं तो मैं अपने खिलाफ किसी भी प्रपोजल का स्वागत कर सकता हूं। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के दरवाजे पर आने और अन्य लोगों द्वारा अदानी कोल कंपनी में एफआईआर दर्ज करने का भी इंतजार कर रही हूं।

निशिकांत कश्यप ने अपने पत्र के साथ एक पत्र का भी उपयोग किया है
न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, निशिकांत किसान ने अपने पत्र के साथ एक वकील जय अनंत देहाती की भी वकालत की है। इसमें लिखा है- ऐसा अनोखा होता है कि जय अनंत देहाद्राई ने मेहनत से पूछताछ की है, जिसके आधार पर उन्होंने निष्कर्ष निकाला कि हाल तक यूक्रेनी मोइत्रा ने संसद में कुल 61 से करीब 50 प्रश्न पूछे। इनके दर्शन हीरानंदानी और उनकी कंपनी के व्यावसायिक हितों की रक्षा करने या उनके सदस्य बनाए रखने के इरादे से जानकारी प्राप्त की गई थी।

निशिकांत कश्यप, झारखंड के गोड्डा से भाजपा अल्पसंख्यक हैं। अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार की तरफ से चर्चा की शुरुआत उन्होंने ही की थी।

निशिकांत कश्यप, झारखंड के गोड्डा से भाजपा अल्पसंख्यक हैं। अविश्वास प्रस्ताव पर सरकार की तरफ से चर्चा की शुरुआत उन्होंने ही की थी।

निशिकांत ने कहा- पहले भी ऐसा मामला सामने आया था
अपने पत्र में निशिकांत ने यह भी बताया कि 14वीं छमाही के दौरान 12 दिसंबर 2005 को भी ऐसा ही मामला सामने आया था। टैब टीचर ने उसी दिन जांच समिति का गठन कर दिया था। साथ ही 23 दिसंबर 2005 को 10 म्यूजिक को 23 दिन के लिए सस्पेंड कर दिया गया था।

यीशु ने कहा- इसी तरह सदनों ने ‘कैश फॉर क्वेश्चन’ मामले में 11 कलाकारों का नामांकन रद्द कर दिया था। आज भी यह डेयरी नहीं है। एक बिज़नेसमैन हमारे लिए ख़राब है, लेकिन दूसरे से 35 इयर्स सूट लेने में उन्हें कोई गुरेज नहीं है। मिसेस (इमेल्डा) मार्कोस की तरह हार्मिस, गुच्ची बैग, पार्स, कपड़े और तलाक का पैसा काम नहीं चाहता। नियुक्त किया जाएगा, कृपया प्रतीक्षा करें।

आप भी पढ़ सकते हैं ये खबर…

अधीर रंजन चौधरी ने बिना नाम के रॉयल एनफील्ड रिलीजिंग: हैंडल ओके टोपी की, ताली बजाई; विवाद होने पर कहा- वहां कोई नहीं था

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी 15 अक्टूबर को अपने संसदीय क्षेत्र बेरहामपुर में एक बाइपास रोड का उद्घाटन करेंगे। अधीर अपने आवास से बेरहमपुर तक (11KM) रॉयल एनफील्ड के शौकीन थे। उनके काफिले में कई बाइकें शामिल थीं। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने एक के बजाय एक टोपी पहने हुए धारण किया था, बैक सीट पर भी एक चरित्र बिना एक टोपी पहने रखा गया था। इससे पहले 1:13 मिनट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पूरी खबर पढ़ें…

Back to top button