POLITICS

बिहार के सासाराम और बिहार शरीफ में भी साम्प्रदायिक तनाव; गोलीबारी, पथराव और आगजनी हुई

बिहार के सासाराम और बिहार शरीफ में भी साम्प्रदायिक तनाव; गोलीबारी, पथराव और आगजनी हुई

बिहार के सासाराम में हुई हिंसा के दौरान कई घरों में आग लगा दी गई.

पटना:

रामनवमी पर्व पर पश्चिम बंगाल और गुजरात में हुई हिंसा के बाद बिहार के सासाराम में भी साम्प्रदायिक तनाव की खबर है. यहां दो गुटों के बीच पत्थरबाजी के अलावा कुछ घरों में आग लगाने की घटनाएं भी हुई हैं. प्रशासन का कहना हैं कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है.बिहार के बिहार शरीफ में भी रामनवमी पर तनाव के हालात बने. रामनवमी के जुलूस के दौरान कांटा पर मोहल्ले में पथराव हुआ. दोनों ओर से किए गए हमलों में दो लोगों को गोली लगी हैं. पथराव में तीन लोग जख्मी हुए हैं.

यह भी पढ़ें

बिहार के सासाराम में शुक्रवार को दो गुटों के बीच झड़प हुई. इससे शहर में माहौल बिगड़ गया. दरअसल गुरुवार को रामनवमी पर्व पर शोभा यात्रा के दौरान ही दो गुटों के बीच विवाद के कारण तनाव बन गया था. आज दोपहर में दोनों गुटों की तरफ से एक-दूसरे पर पथराव शुरू हो गया. पथराव से एक पुलिस कर्मी और दर्जन भर अन्य व्यक्ति घायल हो गए.

 रोहतास के एडीएम चंद्रशेखर प्रसाद ने बताया कि दोनों पक्षों  को समझाने का प्रयास किया जा रहा है. माहौल को शांतिपूर्ण करने के लिए जिला प्रशासन तत्पर है. फायरिंग की घटना नहीं हुई है. इस घटना में एक पुलीस कर्मी का सर फटा है और दर्जनभर लोग घायल हुए हैं. धारा 144 लगा दी गई है मामले पर नजर रखी जा रही है. 

बता दें कि आगामी 2 अप्रैल को सम्राट अशोक के जयंती समारोह में शामिल होने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह सासाराम आने वाले हैं. इसको लेकर प्रशासन सतर्क है. शहर में धारा 144 लागू की गई है.

बिहार के नालंदा के जिला मुख्यालय बिहार शरीफ में भी रामनवमी पर तनाव के हालात बने. बिहार शरीफ में रामनवमी के जुलूस के दौरान कांटा पर मोहल्ले में पथराव हुआ. इसके बाद वहां पर माहौल तनावपूर्ण हो गया. दोनों ओर से हमले की घटना हुई. इस दौरान दो लोगों को गोली लगी हैं. पथराव में तीन लोग जख्मी हुए हैं. सभी घायलों को इलाज के लिए बिहार सदर अस्पताल भेजा गया है. 

पश्चिम बंगाल में दूसरे दिन भी झड़प

पश्चिम बंगाल के हावड़ा में रामनवमी के दौरान हुई हिंसा के बाद आज फिर झड़प हुई. एएनआई की खबर के मुताबिक, हावड़ा में आज भी पत्‍थरबाजी की एक घटना हुई. पश्चिम बंगाल के हावड़ा शहर में रामनवमी की शोभा यात्रा निकाले जाने के दौरान गुरुवार को दो समूहों के बीच हिंसा हो गई थी, जिसमें कई वाहनों को आग लगा दी गई और दुकानों में तोड़फोड़ की गई. पुलिस ने कहा कि घटना के बाद कई लोगों को हिरासत में लिया गया है. 

शिबपुर इलाके में जिस सड़क पर हिंसा की घटना हुई थी, उसे यातायात के लिए खोलने के कुछ ही घंटों बाद वहां पथराव और आगजनी की ताज़ा घटनाओं की सूचना मिली. शिबपुर इलाके में झड़पों के बाद कम से कम 36 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. वहां रामनवमी के जुलूस के दौरान कथित भड़काऊ नारेबाजी और पथराव के बाद कई वाहनों में आग लगा दी गई थी. 

गुरुवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों में भाजपा और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के नेताओं द्वारा रामनवमी की शोभायात्राएं निकाली गईं. विहिप के प्रवक्ता सौरीश मुखोपाध्याय ने कहा कि विहिप ने इस अवसर पर राज्य भर में 1,000 बड़ी और छोटी शोभायात्राओं का आयोजन किया. हावड़ा, खड़गपुर, बैरकपुर, भद्रेश्वर, सिलीगुड़ी और आसनसोल में हजारों लोगों ने ‘जय श्री राम’ का उद्घोष करते हुए शोभायात्रा में भाग लिया.

गुजरात में 24 लोगों को हिरासत में लिया गया
उधर, गुजरात के वडोदरा शहर में सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील इलाकों में रामनवमी के दिन जुलूस पर कथित रूप से पथराव करने के आरोप में पुलिस ने 24 लोगों को हिरासत में लिया है. वडोदरा के पुलिस आयुक्त शमशेर सिंह ने बताया कि शहर में स्थिति नियंत्रण में है और सभी नियमित गतिविधियां सामान्य रूप से जारी हैं. उन्होंने कहा, “वडोदरा में गुरुवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान हुई पथराव की दो घटनाओं के सिलसिले में हमने अब तक 24 लोगों को हिरासत में लिया है. प्राथमिकी दर्ज होने के तुरंत बाद उन्हें औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया जाएगा. स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है.”

ये भी पढ़ें:-

आम आदमी पार्टी का ‘मोदी हटाओ देश बचाओ’ अभियान शुरू, दिल्ली में सभा आयोजित

दिल्ली आबकारी नीति: ईडी मामले में मनीष सिसोदिया की जमानत याचिका पर सुनवाई टली

Back to top button