POLITICS

बारिश का RED ALERT! दिल्ली टू हिमाचल मचा हाहाकार, कहीं बहा पुल कहीं दरकते पहाड़, टूट गया कई सालों का रिकॉर्ड

देश में मॉनसून ने जोरदार दस्तक दी है, लेकिन इस बार ये बारिश आफत लेकर आई है। दिल्ली से हिमाचल तक, असम से उत्तराखंड तक, बारिश ने हर तरफ अपना कहर दिखाना शुरू कर दिया है। कहीं पुल बह गए हैं, कहीं पेड़ गिर गए हैं तो कहीं लोगों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी है। हालत ऐसी बनी हुई है कि लोगों की जिंदगी पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गई है।

दिल्ली में बारिश से बाढ़ का खतरा

दिल्ली में इस समय स्थिति सबसे ज्यादा विस्फोटक दिखाई दे रही है। 41 सालों का रिकॉर्ड टूट चुका है। मिंटो ब्रिज बंद कर दिया गया है, जगह-जगह जलभराव हो रहा है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया है कि कल दिल्ली में 126mm बारिश हुई। मॉनसून सीज़न की टोटल बारिश का 15% मात्र 12 घण्टे में बरसा। लोग जल भराव से काफ़ी परेशान हुए। आज दिल्ली के सभी मंत्री और मेयर problem areas का इंस्पेक्शन करेंगे। सभी विभागों के अफ़सरों को संडे की छुट्टी कैंसिल कर के, ग्राउंड पर उतरने के निर्देश दिये हैं।

अब दिल्ली में चिंता का विषय ये भी है कि यमुना का स्तर बढ़ता जा रहा है। जानकारी ये मिली है कि हरियाणा ने हथिनी कुंड बैराज से यमुना नदी में 1 लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ दिया है। अब दिल्ली में यमुना का खतरे का निशान 204.5 मीटर है। इस समय आंकड़ा 203.18 मीटर चल रहा है, यानी कि खतरे के निशान के काफी करीब। इसी वजह से चेतावनी जारी की गई है कि राजधानी में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है।

हिमाचल में नेशनल हाईवे बंद, मंदिर में घुसा पानी

दिल्ली के अलावा हिमाचल प्रदेश में भी बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। कई जगह सड़कें धंसने की खबर है, बादल भी फटा है। भूस्खलन ने भी कई रास्तों को बंद कर दिया है। इसी कड़ी में मंडी-कुल्लू राष्ट्रीय राजमार्ग बंद कर दिया गया है। यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ये फैसला हुआ है। वहीं जोर देकर कहा गया है कि कई सड़कों पर भारी वाहनों की आवाजाही नहीं होगी।

बड़ी बात ये है कि हिमाचल में बारिश की वजह से 40 साल पुराना एक पुल व्यास नदी में डूब गया। उसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि एक मजबूत पुल अचानक से पानी के तेज बहाव की वजह से डूब जाता है। वैसे इस समय मशहूर पर्यटन स्थल मंडी में भी बारिश ने हालत खस्ता कर दी है। पंचवक्त्र मंदिर में भी पानी घुस चुका है।

पंजाब में 23 साल का रिकॉर्ड टूटा, सड़कों पर चलीं नाव

पंजाब में बारिश का जबरदस्त अटैक देखने को मिल रहा है। मोहाली से ऐसा वीडियो सामने आया है जहां सड़कों पर गाड़ियां बहती दिख गईं। कुछ जगहों पर इतना ज्यादा पानी भर चुका है कि नावें चलानी पड़ रही हैं। चंडीगढ़ में तो 23 साल का रिकॉर्ड टूट चुका है। पिछले 24 घंटे में 322 मिमी बारिश हुई है। अब ये हाल सिर्फ पंजाब का नहीं है, कई राज्यों को लेकर तो मौसम विभाग अभी भी भारी बारिश की चेतावनी जारी कर रहा है।

मौसम विभाग का RED ALERT, बारिश नॉनस्टॉप

इस समय जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेष. उत्तराखंड में भारी बारिश की बात कही जा रही है। अगले दो दिनों तक तेज बारिश का दौर जारी रह सकता है। वहीं पंजाब, हरियाणा और पूर्वी राजस्थान में भी बारिश से अभी राहत नहीं मिलने वाला है। राजधानी दिल्ली को लेकर मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी कर दिया है।

कई राज्यों स्कूल बंद, वर्क फ्रॉम का आदेश

दिल्ली, नोएडा, गुड़गांव, गाजियाबाद और फरीदाबाद में सोमवार को बारिश को देखते हुए स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है। इन जिलों के जिलाधिकारियों ने यह आदेश जारी किया है। वहीं गुड़गांव के प्रशासन ने सभी निजी कंपनियों को आदेश दिया है कि वे अपने कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की इजाजत दें, ताकि सारी सड़कों को साफ किया जा सके। बता दें कि गुड़गांव में कई जगहों पर बारिश के कारण सड़कें टूटी है, जिसे प्रशासन फिर से बनाएगा। इसी को देखते हुए प्रशासन ने फैसला किया है कि अगर लोग कम संख्या में सड़कों पर निकलेंगे, तो उन्हें आसानी होगी।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button