POLITICS

पर्यटक बस में 100 मीटर गहरी खाई में 6 लोगों की मौत, 27 घायल; बस में हरियाणा के 33 लोग सवार थे

29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
बस में सवार लोग नाव पर सवार होकर घर लौट रहे थे।  - दैनिक भास्कर

बस में सवार लोग नाव पर सवार होकर घर लौट रहे थे।

उत्तराखंड के अशांत में रविवार रात स्कूल बस 100 मीटर गहरी खाई में गिर गई। इस हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि 24 लोग घायल हो गए। सभी कलाकारों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतकों में 5 महिला कर्मचारी और एक बच्चा शामिल है।

पुलिस को पता चला कि नालनी के पास रात करीब 8 बजे यह हादसा हुआ। हरियाणा के शाहपुर गांव स्थित न्यू ह्यूमन इंटरनेशनल स्कूल के 34 लोग शनिवार को अपहरणकर्ता की शरण में आए थे, जो रविवार को घर लौट रहे थे। समसामयिक बस ऊबड़-खाबड़ ऊँचाई में जा गिरी।

हादसे की 3 तस्वीरें…

तस्वीर में बस 100 मीटर गहरी खाई में नजर आ रही है।

तस्वीर में बस 100 मीटर गहरी खाई में नजर आ रही है।

पुलिस, स्थानीय लोगों और एसडीआरएफ ने लोगों को बाहर निकाला।

पुलिस, स्थानीय लोगों और एसडीआरएफ ने लोगों को बाहर निकाला।

असली को सफेद कपड़े में सुपरमार्केट अस्पताल भेजा गया।

असली को सफेद कपड़े में सुपरमार्केट अस्पताल भेजा गया।

पुलिस और एसडीआरएफ ने शव को कब्र से बाहर निकाला
न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, हादसे की जानकारी के बाद पुलिस और स्टेट डिजास्टर रेजंस फोर्स (एसडीआरएफ) की टीम के सदस्यों को जानकारी दी गई। वे युगल के साथियों में प्रवेश और स्मारक का सम्मान करते हैं। साथ ही मुर्दे का भी शव निकला।

दो महीने पहले गंगोत्री हाईवे पर बस 50 मीटर गहरी खाई में गिरी थी
दो महीने पहले 20 अगस्त को गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर गंगनानी के पास एक बस 50 मीटर गहरी खाई में गिरी थी। हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई, जबकि 27 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। बस में 32-33 गुजराती लोग सवार थे, जो गंगोत्री धाम की यात्रा करके लौट रहे थे। पूरी खबर पढ़ें…

बस दुर्घटना से जुड़ी यह खबर भी पढ़ें…

महाराष्ट्र में बस खाड़ी में गिरी, 13 की मौत, क्यूबा के स्थानीय लोगों ने 29 यात्रियों को अपने साथ जोड़ा

महाराष्ट्र के रायगढ़ के खोपोली गिर इलाके में एक बस 700 फीट गहरी खाई में गिरी। हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई। बस में 40 से अधिक यात्री सवार थे। 29 लोगों के स्थानीय लोगों की मदद से पक्षियों की मांग की गई। इनमें से कुछ लोगों के गंभीर उपभोक्ता शामिल हुए। पूरी खबर पढ़ें…

Back to top button