POLITICS

पंजाब के 4 शहीद पंचत्व में विलीन:गर्भवती पत्नी का पति को घुटनों के बल सलाम, पिता के बाद बेटा देश के लिए कुर्बान

जम्मू कश्मीर के पुंछ में हुए पंजाब के चारों ओर के फैसले का शनिवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया शहीद। पसंद, मोगा, बठिंडा और गुरदासपुर में सिलेक्शन को फाइनल फेयर देने के लिए जनसैलाब उमाड़ा। चारों तरफ माहौल गमगीन हो रहा है।

गुरदासपुर के शहीदी जवान हरकृष्ण सिंह को उनकी सालों की बेटी ने मुखाग्नि दी। सप्तम पत्नी दलजीत कौर ने जैक के बल ग्लास नवाकर पति को अंतिम विदाई दी। उसी मोगा के शहीद लांस नायक कुलवंत सिंह ने अपने 3 महीने के बेटे की जानकारी दी। कुलवंत सिंह के पिता भी 24 साल पहले कारगिल जंग में शहीद हुए थे।

पुंछ में शहीद गुरदासपुर के युवा संस्कार
गुरदा सुपर के जवान हरकृष्ण सिंह का अंतिम संस्कार कर दिया गया। बटाला इलाके के गांव तलवंडी भरथ के निवासी हरकृष्ण सिंह को उनकी सालों की बेटी ने मुखाग्नि दी। वहीं सफ़र के दौरान पत्नी दलजीत कौर ने जैक के बल सीज़ नवाकर पति को अंतिम विदाई दी। ये सब देख हर किसी की आंख नम हो गई।

पिता कारगिल में शहीद, बेटे ने पुंछ में दी कुर्बानी
शहीद लांस नायक कुलवंत सिंह को शनिवार को मोगा के गांव चड़िक में राजकीय सम्मान के साथ विदाई दी गई। शहीद कुलवंत सिंह को उनके 3 महीने के बेटे ने जानकारी दी। कुलवंत के पिता बलदेव सिंह भी कारगिल युद्ध के दौरान शहीद हुए थे।

उस समय कुलवंत एक साल के थे। कुलवंत को 2010 में उनकी जगह नौकरी मिली। उनकी शहादत के 24 साल बाद कुलवंत शहीद हुए।

शहीद मनदीप सिंह का बेटा बोला- मैं भी फौजी बनूंगा
शापित के शहीद मनदीप सिंह का शनिवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनके माता-पिता गांव चन्नकोइया में उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए जनसैलाब उमड़ा। उन्हें बेटी ने अंतिम सेल्यूट किया। उसी साल 8 साल के करनदीप सिंह ने कहा कि वह अपने पिता मनदीप सिंह की तरह ही फौज में भर्ती होना चाहता है। वह भी देश की सेवा करेगा।

शहीद सेवक सिंह को अंतिम विदाई, मां-बाप के इकलौते बेटे थे
शहीद सैनिक सेवक सिंह शनिवार सुबह पंचतत्व में विलीन हो गए। उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए जनसैलाब उमड़ा। शहीद सेवक सिंह का बठिंडा जिले के तलवंडी साबो में उनके पूर्वजों के गांव टाइगरा में अंतिम संस्कार किया गया। वह माता-पिता के एकलौते पुत्र थे।

शाहिद तारीख से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें:-

पुंछ में शहीद गुरदासपुर के जवानी का संस्कार: लदान साल की बेटी ने पिता हरकृष्ण सिंह को मुखाग्नि

जम्मू कश्मीर की पूंछ में शहीद हुए गुरदासपुर के 25 साल के हरकृष्ण सिंह का आज अंतिम संस्कार किया गया। वह 6 साल पहले 2017 में सेना में भर्ती हुए थे​​​​​। हरकृष्ण सिंह पहले 16वीं की पढ़ाई में थे और बाद में 49RR में चले गए (पढ़ें पूरी खबर)

दोषी के शहीद मनदीप पंचतत्व में विलीन: बेटी ने किया सेल्यूट

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में शहीद हुए शहीद के मनदीप सिंह का शनिवार को राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनके माता-पिता गांव चन्नकोइया में उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए जनसैलाब उमड़ा। इस दौरान लोगों ने मनदीप अमर रहे के नारे भी लगाए (पूरी खबर पढ़ें)

पुंछ में शहीद मोगा के सूपत का संस्कार: 3 महीने के बेटे ने दी कुलवंत सिंह को मुखाग्नि

जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकी हमले में शहीद हुए मोगा के लांस नायक कुलवंत सिंह का शनिवार सुबह अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान नौजवानों ने हाथों में तिरंगे लेकर बाइक रैली भी निकाली। शहीद की पत्नी हरदीप कौर, मां हरिंदर कौर, बहन चरणजीत कौर व भाई हीनप्रीत सिंह ने भी श्रद्धांजलि दी (पूरी खबर पढ़ें)

शहीद जवान सेवक सिंह को अंतिम विदाई देने वाले लोग

जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में हमले में शहीद सैनिक सेवक सिंह शनिवार सुबह पंचतत्व में विलीन हो गए। शनिवार सुबह शहीद सेवक सिंह का पार्थिव शरीर संदेश। इस दौरान गांव में सेवक सिंह अमर रहे के नारे गूंजे। वह 2018 में सेना में भर्तियां कर रहा था (पूरी खबर पढ़ें)

Back to top button