POLITICS

नोएडा में हाईराइज सोसाइटी में केबल टूटने से लिफ्ट गिरी, बुजुर्ग महिला को मौत

नोएडा में हाईराइज सोसाइटी में केबल टूटने से लिफ्ट गिरी, बुजुर्ग महिला को मौत

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

नोएडा की हाईराइज सोसायटियों में आए दिन लिफ्ट में फंसने की घटनाएं सामने आती रहती हैं. गुरुवार को सेक्टर 137 में स्थित पारस टिएरा सोसाइटी में एक बड़ा हादसा हो गया. लिफ्ट की केबल टूटने से एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई. हादसे के बाद सोसायटी के लोगों का बिल्डर और अपार्टमेंट आनर्स एसोसिएशन के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा. पुलिस ने भी मौके पर पहुंचने में काफी देरी की. इसकी सूचना सोसायटी के लोगों को हुई तो सभी जमा हो गए और जमकर हंगामा किया. बाद में पुलिस ने लाठियां फटकार कर लोगों को खदेड़ दिया.
 
टावर नंबर 24 में आठवें फ्लोर के फ्लैट नंबर 803 में रहने वालीं 70 वर्षीय सुशीला देवी शाम को किसी काम से लिफ्ट से नीचे जा रही थीं. जैसे ही वह लिफ्ट पर चढ़ीं, अचानक लिफ्ट की केबल टूट गई. इसकी वजह से सुशीला लिफ्ट में ही फंसी रह गईं और लिफ्ट बीच की मंजिल में आकर अटक गई. सुशीला के साथ आठवें फ्लोर पर रहने वालीं उनकी पड़ोसी ने कहा कि जब लिफ्ट गिरी तो एक धमाका हुआ और सोसाइटी के व्हाट्सऐप ग्रुप में यह चर्चा चलने लगी कि कहीं भूकंप तो नहीं आया है.
 
इसी सोसाइटी में रहने वालीं अर्चना रावत ने कहा, घटना करीब 4:30 बजे हुई. सूचना मिलने पर हमारे टावर की एक लेडी ने गार्ड से बात की, तो उसने बताया कि लिफ्ट में कोई नहीं है. एक लिफ्ट चल रही है, दूसरी को जल्द ही ठीक कर दिया जाएगा. एक घंटे तक सुशीला देवी उसी लिफ्ट में फंसी रहीं. सुशीला देवी की बहू ने व्हाट्सऐप ग्रुप में लिखा कि उनकी मदर इन लॉ मिसिंग हैं. तब लोग उनकी तलाश करने लगे. इसके बाद मेंटेनेंस के लोग वहां आए और टावर नंबर 24 में जाकर,  लिफ्ट को खोला और मेरे सामने उस लेडी को बाहर निकाला गया.
 
मौके पर मौजूद लोगों को लिफ्ट को खोलने में 45 मिनट का समय लग गया. इसके बाद आनन-फानन में महिला को हॉस्पिटल में ले गए. जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इस घटना की खबर आग की तरह पूरी सोसाइटी में फैल गई और बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा होकर अपना रोष व्यक्त करने लगे. लोगों का गुस्सा बिल्डर और अपार्टमेंट आनर्स एसोसिएशन के खिलाफ था. पुलिस के देरी से मौके पर पहुंचने पर लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया. अधिकारियों का कहना था कि उन्हें यह सूचना सवा सात बजे मिली और सभी अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे. वहां पर कुछ लोग ग्रुप बनाकर अध्यक्ष के खिलाफ हंगामा कर रहे थे. उन्हें बलपूर्वक हटाकर अध्यक्ष को वहां से ले जाया गया.

यह भी पढ़ें

Featured Video Of The Day

नितिन देसाई की मौत की जांच होगी : देवेंद्र फडणवीस

Back to top button