POLITICS

देश में ‘कोरोना विस्फोट’ के कारण अफरा-तफरी जैसे हालात, राज्यों में बढ़ाई जा रही हैं पाबंदियां, 10 बातें

देश में 'कोरोना विस्फोट' के कारण अफरा-तफरी जैसे हालात, लगातार तीसरे दिन 1.5 लाख से ज्यादा नए मामले, 10 बातें

Corona के बढ़ते मामलों के कारण अस्पतालों में बेड और श्मशानों में जमीन कम पड़ रही है

नई दिल्ली:
कोरोना विस्फोट के कारण देश में अब अफरा-तफरी जैसे हालात पैदा हो गए हैं. देश में लगातार सातवें दिन एक लाख से ज्यादा मामले और लगातार तीसरे दिन 1.5 लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं. मंगलवार को देश में कोरोना के 1,61,736 नए मामले सामने आए हैं. इसके अलावा कोरोना के कारण 879 मरीजों की मौत हुई है. अस्पतालों में बेड और श्मशानों में जमीन कम पड़ गई है. देश के लगभग आधे हिस्से में नाइट कर्फ्यू के साथ अलग अलग तरह की पाबंदियां लगी हुई हैं लेकिन कोरोना के मामले हर रोज नए रिकॉर्ड बना रहे हैं. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या के लिहाज से ब्राजील को पीछे छोड़कर भारत दूसरे स्थान पर पहुंच गया है. इन सबके बीच एक राहत की खब ये है कि देश को कोरोना के खिलाफ जंग में एक वैक्सीन का साथ और मिल गया है. रूसी वैक्सीन SPUTNIK V को DCGI से भी इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है. इस वैक्सीन की प्रभावशीलता 91.6 प्रतिशत है, जो कि मॉडर्ना और फाइजर शॉट्स के बाद सबसे अधिक है. तो चलिए देखते हैं देश में इस वक्त कोरोना से जुड़े 10 बड़े अपडेट्स

कोरोना समाचार:

  1. देश में लगातार सातवें दिन एक लाख से ज्यादा मामले और लगातार तीसरे दिन 1.5 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. मंगलवार को देश में कोरोना के 1,61,736 नए मामले सामने आए हैं. इसके अलावा कोरोना के कारण 879 मरीजों की मौत हुई है.  

  2. कोविड रोधी टीके ‘SPUTNIK V’ को भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) से मंजूरी मिली है. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया वी.जी. सोमानी ने यह मंज़ूरी दी है. देश में आपात इस्तेमाल के लिए इस टीके का रूस से आयात किया जाएगा. बताते चलें कि . देश में भारत बायोटेक के ‘कोवैक्सीन’ और सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड-एस्ट्रोजेनेका के ‘कोविशील्ड’ टीके को पहले ही मंजूरी मिल चुकी है. इस तरह यह भारत के पास कोरोना संक्रमण के खिलाफ तीसरी वैक्सीन होगी. 

  3. कोरोना काल में पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों के कारण देश को इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ रही है. बंगाल में कोरोना केसों में 378 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है. अन्‍य चुनावी राज्‍य भी ज्‍यादा पीछे नहीं है. असम में केसों में 331% इजाफा देखा गया है. तमिलनाडु में भी कोरोना केसों में 173 फीसदी इजाफा हुआ है. यूटी पुदुच्‍चेरी में पिछले 14 दिनों में केस 173 फीसदी की रफ्तार से बढ़े हैं. दक्षिण के राज्‍य केरल में पिछले 14 दिनों में नए केसों में 84 प्रतिशत का इजाफा हुआ है.

  4. कोरोना संकट की विकरालता को आंकते हुए चुनाव आयोग ने शुक्रवार को चेतावनी भरे लहजे में कहा था कि जो प्रत्‍याशी और स्‍टार चुनाव प्रचारक कोविड-19 सुरक्षा नियमों का पालन नहीं करेंगे उनके प्रचार पर बैन लगाया जा सकता है. वैसे यह अलग बात है कि आयोग की ओर ये यह घोषणा ऐसे समय आई है जब चुनाव की आधी से अधिक प्रक्रिेया पूरी हो चुकी है. 

  5. महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगभग तय माना जा रहा है. रोजाना आने वाले मामलों में कोई कमी नहीं है, जिसके कारण अस्पतालों में जगह खत्म हो चुकी है. इसके अलावा वैक्सीन की कमी राज्य के लिए बड़ी चुनौती है. वहीं कोरोना के हालातों का जायजा लेने के लिए केंद्र की टीम ने महाराष्ट्र में पाया कि यहां रोकथाम के उपाय तय मानक से कम हैं. महाराष्ट्र भेजे गए केंद्रीय टीम ने पाया है कि सतारा, सांगली और औरंगाबाद जिले में रोकथाम के तरीके तय पैरामीटर से कम हैं. 

  6. छत्तीसगढ़ में कोविड संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं चरमरा गई हैं. राजधानी रायपुर का एक वीडियो सामने आया है. भीमराव अंबेडकर अस्पताल के इस वीडियो में शवदाह गृह में शवों को रखने की जगह नहीं, इन्हें किसी सामान की तरह रखा गया है.  

  7. दो दिनों पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दावा किया था कि राजधानी कोरोना के मामलों के लिए पूरी तरह से तैयार है लेकिन कोरोना लहर के विकराल रूप को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने केंद्र से दिल्ली के अस्पतालों में कोविड बेड बढ़ाने की मांग की है. 

  8. कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी और अस्पतालों में बिस्तर की कमी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने बैंक्वेट हॉल जैसे वैकल्पिक जगहों पर कोरोना वायरस मरीजों का इलाज शुरू किया है. अधिकारियों के अनुसार दरियागंज में LNJP अस्पताल के सामने शहनाई बैंक्वेट हॉल को कोविड सेंटर में तब्दील किया गया है, यहां 120 बस्तरों वाला कोविड-19 देखभाल केंद्र शुरू हो चुका है और फिलहाल दो दर्जन मरीजों का इलाज जारी है. 

  9. कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ने के बीच दिल्ली के कुछ प्रमुख मंदिरों ने श्रद्धालुओं के लिए सीमित दर्शन सुविधाएं प्रदान करने और ई-पास जारी करने का फैसला किया है तो तथा कुछ मंदिर मंगलवार से शुरू हो रहे नौ दिन के पर्व में भक्तों के लिए बंद रहेंगे. दिल्ली में छतरपुर, कालकाजी और झंडेवालान समेत कुछ देवी मंदिरों में नवरात्रि के दौरान श्रद्धालु बड़ी संख्या में दर्शन करने आते हैं. 

  10. हरियाणा सरकार ने कोरोना वायरस मामलों में बढ़ोतरी के बीच सोमवार को राज्य में तत्काल प्रभाव से रात का कर्फ्यू लगा दिया. हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘रात 9 बजे से सुबह 5 बजे के बीच रात का कर्फ्यू आज रात से लगाया जाएगा और यह अगले आदेश तक लागू रहेगा.”

Back to top button