POLITICS

तेलुगू सागर में हेलिकॉप्टर की मांग बढ़ी:किराया भी 50% तक बढ़ा; अब एक घंटे का बिजनेस 4 से 6 लाख हुआ

चेन्नई2 घंटे पहलेलेखक: शाइन जैकब

  • कॉपी लिंक
बड़े राजनीतिक दल ज्यादातर जमीन किराये पर लेते हैं क्योंकि वे रैली में हिस्सा लेने के लिए केंद्रीय नेताओं को राज्यों में ले जाते हैं।  - दैनिक भास्कर

बड़े राजनीतिक दल ज्यादातर जमीन किराये पर लेते हैं क्योंकि वे रैली में हिस्सा लेने के लिए केंद्रीय नेताओं को राज्यों में ले जाते हैं।

फॉक्सवैगन का मौसम शुरू हो गया है, ही हेलीकॉप्टरों की डिजायनों की बिक्री में वृद्धि हुई है। उत्पादक भी 25 से 50% अधिक बढ़ा है। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव और अगले साल के आम चुनाव पर नजर 6 से 8 महीने में हेलीकॉप्टरों और उद्यमियों की बिक्री में बढ़ोतरी हो सकती है।

चेन्नई से आप हेलिकॉप्टर बुक करते हैं तो एक घंटे की लागत 4.50 लाख रु. है. अगर रेजिडेंट से बुक करें तो 6 से 6.75 लाख रु. लग सकते हैं।

भारत में 254 हेलीकॉप्टर
यूनाइटेड विंग सोसाइटी ऑफ इंडिया के अनुसार, देश में 254 चार्टर्ड हेलीकॉप्टर हैं। इनमें 190 डिफेंस, पब्लिक सेक्टर, कंपनियों के लिए रिजर्व हैं। बाकी 60-70 चुनाव में लगे हैं। अमेरिका के पास 10 हजार चार्टर्ड हेलीकॉप्टर हैं।

आम कंपनियों के इलेक्ट्रॉनिक्स कारखाने हुए डिजाइन
इंडस्ट्रीज़ में पवन हंस, ग्लोबल वेक्ट्रा, हेलीगो चार्टर्स, हेरिटेज़ एविएशन और हिमालयन हेली बड़े उद्यम हैं। चेन्नई में स्थित चार्टर फ्लाइट्स एविएशन के भारत में मिशन कंट्रोलर बिनीश पॉल के मुताबिक, अभी आम कंपनियों की कंपनी ने नियुक्तियां की हैं।

सबसे बड़ी पार्टी भाजपा से
फ़्रॉस्टी की एक प्राइवेट एविएशन कंपनी गोल्डन ईगल एविएशन एसोसिएशन के डायरेक्टर जीसस जॉर्ज के मुताबिक सबसे ज़्यादा मांग बीजेपी से है। क्षेत्रीय धर्मशाला ने भी एक से दो रिजर्वायर रख रखे हैं। डबल इंजिनियरिंग हेलीकॉप्टर सबसे ज्यादा खरीदे जा रहे हैं। आम दिनों में सिंगल इंजन हेलिकॉप्टर का एक मिनट का किराया 1498 रु. तो डबल इंजन का 2500 रु. सबसे ज्यादा से शुरू होता है.

Back to top button