POLITICS

तेलंगाना में टीवी डिबेट के दौरान लाइब्रेरी:बीआरएस नेता ने भाजपा की जिंदगियां पकड़ लीं; लाइव प्रोग्राम का वीडियो आया सामने

राज39 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
बीजेपी ने कुतुबल्लापुर विधानसभा सीट से अपने हित कुना श्रीशैलम गौड़ के साथ हुई इस घटना की आलोचना की है। - दैनिक भास्कर

बीजेपी ने कुतुबल्लापुर विधानसभा सीट से अपने हित कुना श्रीशैलम गौड़ के साथ हुई इस घटना की आलोचना की है।

एक न्यूज चैनल पर लाइव डिबेट के दौरान अस्थायी पार्टी भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) के नेता ने भाजपा तेलंगाना चॉकलेट के साथ बाजार की। सोशल मीडिया पर यह वीडियो सामने आया है। लाइव प्रोग्राम में सवाल-जवाब के बीच बीआरएस नेता केपी विवेकानंद ने बीजेपी नेताओं से श्रीशैलम गौड़ की पकड़ ली।

बीआरएस नेता भाजपा नेताओं के साथ तालमेल बिठाने लगे। इस दौरान दर्शकों की भीड़ में बैठे कार्यकर्ता मंच की ओर दौड़ पड़े। लोगों ने मंच पर ग्यान-बचाव किया। बीजेपी ने इस घटना की अपनी जिज्ञासु के साथ हुई आलोचना की है।

तेलंगाना बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री जी किशन रेड्डी ने सोशल मीडिया पर लिखा- कुतुबल्लापुर से बीजेपी नेता उम्मीदवार कुनाश्री सलाम पर बीआरएस के नेता ने हमला किया. यह बात तब की है जब एक चुनावी प्रतियोगिता वाले उम्मीदवार पर सार्वजनिक रूप से हमला किया गया।

सोचिए अगर बीआरएस दूसरी बार सत्ता में आती है तो आम लोग भी इसी तरह से हमला करेंगे। तेलंगाना के लोग सावधान रहें। बीजेपी ने चुनाव आयोग से केपी रिलेटिव्स को चुनावी लड़ाई को रद्द घोषित करने की मांग की है।

विधानसभा चुनाव को लेकर अवसाद में बीआरएस पार्टी है
घटना को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता और कम्युनिस्ट मोर्चा के प्रमुख के लक्ष्मण ने बताया कि टीवी डिबेट में उद्योग मंत्री सरकार से सवाल करता है। उन्हें मसाले का जवाब देना चाहिए। लेकिन बीआरएस चुनाव हारना के डर से खत्म हो गया है। बीआरएस नेता ने जिस तरह के भाजपा उम्मीदवार पर हमला किया, उससे साफ है कि बीआरएस अवसाद में है।
तेलंगाना में 30 नवंबर को विधानसभा चुनाव की वोटिंग
तेलंगाना में 119 सीटों पर 30 नवंबर को चुनाव होगा। चुनाव आयोग ने 9 अक्टूबर को तेलंगाना, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और मिजोरम में मतदान की तारीख की घोषणा की थी। पांच राज्यों में 3 दिसंबर को चुनाव के नतीजे आएंगे।

2018 में बीआरएस ने 88वीं वर्षगांठ की सरकार बनाई, बीजेपी को एक सीट मिली

तेलंगाना में 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को सिर्फ एक सीट मिली थी। कांग्रेस के 19वें भाग में आई जगह। मुख्यमन्त्री मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव की पार्टी टीआरएस (2022 को पार्टी का नाम तेलंगाना राष्ट्र समिति से तीर्थ भारत राष्ट्र समिति कर दिया गया) को सबसे ज्यादा 88 सीटें मिलीं।

स्थायी स्थिति की बात करें तो अस्थायी पार्टी बीआरएस के पास इस वक्त 119 विधानसभा में 101 विधायक हैं। वहीं असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के पास 7 विधायक हैं, जबकि कांग्रेस के पास पांच, बीजेपी के पास तीन, AIFB के पास एक, एक नामित और एक विधायक है.

तेलंगाना में भाजपा ने 52 लड़कियाँ का उद्घाटन किया
बीजेपी ने तेलंगाना में 52 गेम्स की पहली सूची 22 अक्टूबर को जारी की। पार्टी ने राज्य में अपने 4 में से 3 पासपोर्ट टिकट दिए हैं। इसके अलावा राज्य में बीजेपी के इकलौते विधायक टी राजा सिंह को भी टिकट मिले हैं. टी किंग को अगस्त 2022 में दर्ज किया गया था। बीजेपी ने लिस्ट जारी करने से थोड़ी देर पहले अपना निलंबन रद्द कर दिया। इनके अलावा 13 महिलाओं को भी टाउनशिप के मैदान में उतारा गया है

119 में कांग्रेस 55 पर का शुभारंभ कर दिया गया
कांग्रेस ने 15 अक्टूबर को तेलंगाना में 55 टैटू के नाम की घोषणा की है। 16 जनवरी 2024 को तेलंगाना विधानमंडल का कार्यकाल समाप्त हो गया। यहां पिछली बार दिसंबर 2018 में विधानसभा चुनाव हुए थे और तेलंगाना नेशन कमेटी ने सरकार बनाई थी। चन्द्रशेखर राव दूसरी बार सीएम बने।

ये खबर भी पढ़ें…

मप्र में भाजपा के 92 मंडलों की 5वीं सूची जारी:3 मंत्रियों सहित 29 मंडलों के टिकट, इनमें शामिल विजय श्रेणी का बेटा भी

मध्य प्रदेश में बीजेपी ने 92 गेम्स की 5वीं लिस्ट जारी की है। इस सूची में सूचीबद्ध 67 नामों में से 37 को फिर से मौका मिला है, जबकि 3 उद्यमों में 29 नामों को शामिल किया गया है। होटल-3 सीट से कैलाश विजय ग्रेडी के विधायक पुत्र आकाश के टिकट कट गए। पूरी खबर यहां पढ़ें…

राजस्थान में कांग्रेस ने जारी की 33 शतरंज की सूची:गहलोत-पायलट सहित 29 दलों को टिकटें, पहली सूची में 5 कांग्रेस के नाम शामिल

राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने शनिवार को अपनी स्टॉकिंग्स की पहली सूची जारी कर दी है। केंद्रीय चुनाव समिति ने 33वें नाम पर अंतिम मुहर लगाई थी। सीएम अशोक अशोक और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट सहित पहली सूची में 29 रजिस्ट्रार के नाम हैं। पूरी खबर यहां पढ़ें…

Back to top button