POLITICS

जॉब्स में युवाओं को जिंदा जलाने का वीडियो आया सामने:आईटीएलएफ का दावा

इन्फाल5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
इंडिजिनस ट्राइबल लीडर्स फ्रंट (आईटीएलएफ) के प्रवक्ता घिंजा ने ये वीडियो शेयर किया है। रावत ने कहा कि वीडियो मेरे का है। - दैनिक भास्कर

इंडिजिनस ट्राइबल लीडर्स फ्रंट (आईटीएलएफ) के प्रवक्ता घिंजा ने ये वीडियो शेयर किया है। रावत ने कहा कि वीडियो मेरे का है।

मॉक में रविवार को कुकी समुदाय के युवाओं को जिंदा जलाने का वीडियो सामने आया है। इंडिजिनस ट्राइबल लीडर्स फ्रंट (आईटीएलएफ) के प्रवक्ता घिंजा ने ये वीडियो शेयर किया है। उन्होंने कहा कि वीडियो मई का है, लेकिन ये अभी सामने आया है.

7 मासूमियत के वीडियो में जिंदा युवा जलता हुआ दिखाई दे रहा है। लगभग कुछ आरोप-प्रत्यारोप के केवल पैर दिख रहे हैं। वीडियो के साथ वैलेंटाइन्स डे की आवाज भी आ रही है।

दैनिक भास्कर से मुखातिब राजीव सिंह ने कहा कि वीडियो हमें भी कुछ देर पहले ही मिला है। हम इसकी पुष्टि कर रहे हैं।

उधर, इंफाल पश्चिम के सिंजामेई में शनिवार देर रात ग्रामीण विकास मंत्री वाई खेमचंद के घर के पास ग्रेनेड विस्फोट हुआ। इस हादसे में सीआरपीएफ का एक जवान घायल हो गया। उसे अल्ट्रासाउंड हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है। वहीं, राज्य के सीएमरेन बी सिंह ने आर्किटेक्चरल आर्किटेक्चर का दौरा किया।

कंपनी के सीएम रेन सिंह ने देर रात को जिले के लिए स्मारकों का दौरा किया।

कंपनी के सीएम रेन सिंह ने देर रात को जिले के लिए स्मारकों का दौरा किया।

23 सितंबर: दो मृतकों के शवों की तस्वीरें सामने आईं
जुलाई से लापता दो बच्चों के शव की तस्वीरें 23 सितंबर को सामने आईं। फोटो में दोनों की बॉडी जमीन पर नजर आई। साथ ही लड़के का सिर कटा। हालाँकि दोनों के शव अभी तक नहीं मिले हैं। ये तस्वीरें सामने आई हैं ही राजनेताओं में हुई हिंसा के बाद फिर भड़क उठीं। मृतक मृतकों के लिए मस्जिद ने किया प्रदर्शन। उधर, गुस्साई भीड़ ने कई जगह विरोध प्रदर्शन किया। इसके अलावा भीड़ ने कई जगहों पर हमले किए।

23 सितंबर को मोबाइल इंटरनेट से बैन के बाद दो पवित्र वस्तुओं की तस्वीर सामने आई थी, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

23 सितंबर को मोबाइल इंटरनेट से बैन के बाद दो पवित्र वस्तुओं की तस्वीर सामने आई थी, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

27 सितंबर: बीजेपी ऑफिस में भीड़ ने लगाई आग
रात करीब 11 बजे इंफाल ने वेस्ट डिस्ट्रिक्ट में डिप्टी मेयर के घर पर हमला कर दिया। उनके घर के खंभे में दो टुकड़े आग लगा दिए गए, जबकि मेन गेट को तोड़ दिया गया। एक लैपटॉप पोस्ट को जड़ से उखाड़ दिया गया और पिक्चर का कांच तोड़ दिया गया। इन डेमोक्रेट का मकसद डिप्टी डेमोक्रेट के घर में आग लगाना था। पुलिस को घर के पेट्रोल में पेट्रोल बम की बोतलें मिली हैं।

इसके अलावा भीड़ ने थाउबल जिले में भाजपा कार्यालय में आग लगा दी। इसके अलावा भाजपा अध्यक्ष शारदा देवी के घर पर भी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

के थाउबल जिले में बीजेपी कार्यालय में भीड़ उमड़ पड़ी.

के थाउबल जिले में बीजेपी कार्यालय में भीड़ उमड़ पड़ी.

28 सितंबर: पूर्व के लुवांगसांगबाम ने पूर्व के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह के निजी घर पर अंधाधुंध हमला किया, लेकिन पुलिस ने उनके घर को करीब 500 मीटर पहले ही रोक लिया। पुलिस ने बदमाशों पर गैस के गोले दागकर बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। हमलों के प्रयास के बाद सीएम के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

गुंडागर्दी पर हमला करने जा रहे थे, वह सीएम एन बीरेन सिंह का निजी घर है।

गुंडागर्दी पर हमला करने जा रहे थे, वह सीएम एन बीरेन सिंह का निजी घर है।

सीबीआई ने दो साथियों की हत्या के आरोप में चार को गिरफ्तार किया है
1 अक्टूबर को सीबीआई ने दोनों आरोपियों की हत्या के आरोप में 2 महिलाओं समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया। चुराया हुआ चाँदपुर से पकड़ा गया। इनका नाम पाओमिनलुन हाओकिप, एस. मालस्वान हाओकिप, लिंग्नेइचोन बेब और टिन्नुपिंग हैं। जांच एजेंसी ने सभी दस्तावेजों को असम के लिए जिम्मेदार ठहराया। बतियाती कोर्ट ने इन आरोपों को 5 दिनों के लिए सीबीआई को भेज दिया।

गिरफ्तार लोगों में हत्या का मुख्य आरोपी और उसकी पत्नी भी है। उनकी दोनों बेटियों की उम्र 9 और 11 साल है। लड़कियाँ हैं, इसलिए उन्हें किसी तरह का आशीर्वाद की बात कही गई

19 जुलाई को महिलाओं को निवस्त्र कर दिखाने का वीडियो वायरल हुआ था
4 मई को ही थोउबल जिले में दो महिलाओं का निर्वासन कुजने की घटना हुई थी। इसका वीडियो 19 जुलाई को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो में दिख रहा है कि कुछ लोग दो महिलाओं को निर्वस्त्र करके अश्लील हरकतें करते हैं।

एक पीड़ित महिला के पति ने बताया- ‘हजार लोगों की भीड़ ने गांव पर हमला कर दिया था. मैं भीड़ से अपनी पत्नी और गांव वालों को नहीं बचा पाया। पुलिसवालों ने भी हमें सुरक्षा नहीं दी। भीड़ तीन घंटे तक दरिंदगी करती रहती है। मेरी पत्नी ने किसी तरह एक गांव में पनाह ली।’

वहीं, वीडियो में दिख रही दूसरी महिला की मां ने कहा- ‘अब हम कभी अपने गांव नहीं लौटेंगे. मेरे छोटे लड़के की गोली मारकर हत्या कर दी गई, मेरी बेटी की हत्या कर दी गई। अब मेरा सब कुछ ख़त्म हो चुका है।’

यह फोटो महिलाओं को निर्वस्त्र दिखाने जाने के वीडियो से ही ली गई है। हमने महिलाओं वाले हिस्सों का उपयोग नहीं किया। यह हुजूम पोस्टर का है।

यह फोटो महिलाओं को निर्वासित करता है आर कुए जाने के वीडियो से ही लीक हो गया है। हमने महिलाओं वाले हिस्सों का उपयोग नहीं किया। यह हुजूम पोस्टर का है।

अब तक 180 की मौत, 1100 घायल
पिछले 4 महीने से चली आ रही जातीय हिंसा में अब तक 180 लोग मारे गए हैं। 1100 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इतने ही नहीं 5172 भव्य के मामले सामने आए, जिनमें 4786 घर और 386 धार्मिक स्थलों का दहन और स्मारक करने की घटनाएं शामिल हैं।

ये खबर भी पढ़ें…

पहले सरकार ने समर्थन दिया, अब मैतेई के खिलाफ:कुकी क्षेत्र में दो निवेशकों का डंका, परिवार बोला- पुलिस ने उन्हें शामिल नहीं किया

3 मई, 2023 से माके में हो रही हिंसा, 5 महीने बाद नया मोड़ है। शुरुआत में मैतेई समुदाय के सीएम बीरेन सिंह और सरकार का फ्रैंक समर्थन कर रहे थे, अब खिलाफ हैं। वजह है 17 साल की लड़की और 20 साल की फ़िज़ाम हेमनजीत की हत्या। पूरी खबर यहां पढ़ें…

एनआईए-सीबीआई ने कहा- वैज्ञानिकों में हर साक्ष्य के आधार पर इंडिजिनस ट्राइबल लीडर्स फ्रंट ने विचारधारा पर लगाए गए आरोप

विद्वानों में हर साक्ष्य का आधार दिया गया है। एनआईए और सीबीआई ने 2 अक्टूबर को ये बात कही। दोनों इंडिजिनस ट्राइबल खंड फ्रंट (आईटीएलएफ) की ओर से दिए गए पोर्टफोलियो में कहा गया है कि किसी भी समुदाय, धर्म या संप्रदाय के खिलाफ कोई भी पूर्वाग्रह नहीं रखा गया है। पूरी खबर यहां पढ़ें…

Back to top button