POLITICS

जयराम रमेश के उलट NSUI ने इजरायल को बता दिया आतंक फैलाने वाला, विवाद हुआ तो ट्वीट डिलीट

Last Updated:

जामिया एनएसयूआई ने इजरायल पर हो रहे हमास के हमले को जस्टिफाइ किया है। एक पोस्ट डाली लेकिन फिर उसे डिलीट कर दी।

NSUI On Israel:  जामिया मिलिया इस्लामिया की एनएसयूआई यूनिट ने फिलिस्तीन के हक की बात की है। एक पोस्ट डाल कर इस टेरर युद्ध में इजरायल पर सवाल खड़े किए फिर डिलीट भी किया। लेकिन तब तक तीर कमान से निकल चुका था। दरअसल, एक दिन पहले ही वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जयराम रमेश कह चुके थे कि वो देश की सरकार के साथ हैं और इजरायल पर हुए हमले की निंदा करते हैं।

खबर में आगे पढ़ें

  • JNUSU अध्यक्ष आइशी घोष ने भी किया फिलिस्तीन का समर्थन
  • जामिया के एनएसयू हैंडल ने पहले इजरायल के विरोध में लिखा, फिर…
  • क्या पार्टी दिग्गजों की नहीं मानते छात्र नेता!

चे ग्वेरा को किया याद

आइशी घोष जेएनयू छात्र संगठन की अध्यक्ष हैं। जहां पूरी दुनिया इजरायल के खिलाफ हमास के अटैक की निंदा कर रही है वहीं आइशी इसे अलग रंग दे रही हैं। पोस्ट एक्स पर उन्होंने इसे शोषित बनाम शोषक, रंगभेद के खिलाफ जवाब का नाम दिया है। एक पोस्टर के जरिए फिलिस्तीन समस्या की जड़ इजरायल को ही बताया है। लिखा है- किसी के स्टेट पर अधिकार जमाने वाले और उसको दबाने वाले स्टेट को ‘रक्षा के अधिकार’ के बारे में व्याख्यान देने का कोई अधिकार नहीं है। आज कॉमरेड चे ग्वेरा को उनकी पुण्य तिथि पर याद करते हुए उनकी कही गई बात को याद किया जा रहा है जो उन्होंने वर्षों पहले कही थी
.. “होमलैंड या डेथ”। 

देखें पोस्ट-

An occupier and oppressor State (Israel) has no right to lecture about the ‘Right to Defend’.

Today remembering Comrade Che Guevara on his death anniversary and what he had said years ago
..”Homeland or Death”.

With Palestine 🇵🇸❤️ pic.twitter.com/AKfkildlRm

— Aishe (ঐশী) (@aishe_ghosh) October 9, 2023

पोस्ट डाल कर किया डिलीट

वहीं जामिया मिल्लिया इस्लामिया की छात्रसंघ यूनिट एनएसयूआई ने पहले एक पोस्ट ट्वीट किया। जिसमें भारी भरकम शब्दों से सीधे सीधे इजरायल को टारगेट किया। लिखा- इजरायल जो जबरन 7 साल तक कब्जा जमाकर बैठे वो आतंक ही था…अब इजरायल और फिलिस्तीनी अधिकारियों को शांति वार्ता की ओर कदम बढ़ाने चाहिए।  फिर सिलसिलेवार तरीके से बताया कि  क्यों वो इसका विरोध करते हैं। लिखा- जबरन उस क्षेत्र पर इजरायल ने कब्जा किया। उन पर कई प्रतिबंध लगाए, अनैतिक काम किया…फिर भी हम मानते हैं कि हमास के एक्शन से इलाके में शांति नहीं आएगी लेकिन स्थिति काबू में नहीं रहेगी।

deleted post

क्या कहा था जयराम रमेश ने?

8 अक्टूबर को  कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा था कि कांग्रेस मानती है कि हिंसा से समाधान नहीं निकल सकता। उन्होंने कहा था- किसी भी प्रकार की हिंसा से कोई समाधान नहीं निकलता…. भारत ने हमले की निंदा की है और पीएम मोदी ने कहा कि भारत इजराइल के साथ खड़ा है।”

ये भी पढ़ें- बारूद के ढेर पर गाजा… इजरायल-फिलिस्तीन-हमास तीन किरदार, जानिए 1948 से अब तक क्या-क्या हुआ?

First Published:

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button