POLITICS

कर्नाटक में पांच गारंटी की घोषणा बनी कांग्रेस के गले की फांस, विपक्षी दल हुए हमलावर

कर्नाटक में पांच गारंटी की घोषणा बनी कांग्रेस के गले की फांस, विपक्षी दल हुए हमलावर

विपक्षी दल कर्नाटक की कांग्रेस सरकार पर पांच गारंटियां पूरी करने का दबाव बना रहे हैैं.

बेंगलुरु:

कर्नाटक में विपक्षी दलों भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जनता दल (सेक्युलर) ने पांच गारंटी को पूरा करने में कांग्रेस सरकार के कथित तौर पर देरी करने को लेकर शुक्रवार को उस पर करारा प्रहार किया. हाल के विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने जनता से ‘पांच गारंटी’ का वादा किया था.

यह भी पढ़ें

कांग्रेस ने विधानसभा चुनावों में सभी परिवारों को 200 यूनिट मुफ्त बिजली (गृहज्योति) देने, हर परिवार की महिला मुखिया को प्रतिमाह 2000 रुपये की सहायता (गृहलक्ष्मी) देने, गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले परिवार के हर सदस्य को 10 किलोग्राम मुफ्त चावल (अन्नभाग्य) देने, दो साल के लिए बेरोजगार स्नातक युवाओं को प्रतिमाह 3000 रुपये और बेरोजगार डिप्लोमाधारक युवाओं को 1500रुपये (18 से 25 साल के उम् रवालों को) ‘युवानिधि’ योजना के तहत देने तथा सरकारी बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा का वादा किया था.

कांग्रेस ने आश्वासन दिया था कि बहुमत के साथ सत्ता में आने पर मंत्रिमंडल की पहली बैठक में ही इन योजनाओं को लागू किया जाएगा. पार्टी ने विधानसभा की 224 में 135 सीटें जीतकर शानदार बहुमत हासिल किया.

शपथ ग्रहण के शीघ्र बाद मुख्यमंत्री सिद्दरमैया ने मीडिया से कहा था कि मंत्रिमंडल ने सैद्धांतिक रूप से इन गारंटी को मंजूरी दे दी है. उन्होंने कहा था, ‘‘हम विवरण हासिल करेंगे और चर्चा करेंगे… वित्तीय प्रभाव पर गौर किया जाएगा और तब हम निश्चित ही ऐसा करेंगे. जो भी वित्तीय प्रभाव हो, हम इन पांच गारंटी को अगली मंत्रिमंडल बैठक के बाद पूरा करेंगे.”’

जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस मतदाताओं को गुमराह कर सत्ता में आई. उन्होंने चुपचाप नहीं बैठने का संकल्प लिया. उन्होंने कहा, ‘‘मैं उन परिवारों से आह्वान कर रहा हूं, जो 200 यूनिट बिजली का उपयोग करते हैं. यदि आपका बिजली उपभोग 200 यूनिट के पार जाता है ,तो आप भुगतान करें, मैं आपको ऐसा करने से नहीं रोकूंगा. उन्होंने इसका (200 यूनिट मुफ्त बिजली) का वादा किया था.”

पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सरकारी बसों में यात्रा कर रही महिलाओं से एक भी रुपया किराया नहीं देने की भी अपील की और कहा कि कांग्रेस ने मुफ्त बस पास का वादा किया है. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में महिलाओं को मुफ्त बस यात्रा की सुविधा देने से सरकारी खजाने पर 24000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा.

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कुमारस्वामी ने कहा, ‘‘क्यों आपने इन गारंटी योजनाओं की घोषणा करते हुए स्थिति के बारे में नहीं बताया. उस समय आपने बस मुफ्त और गारंटी का शोर मचाया. अब आप दिशानिर्देश की बात कर रहे हैं.”

भाजपा के वरिष्ठ नेता आर अशोक ने कहा कि सिद्धरमैया, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपनी चुनावी रैलियों के दौरान एक-एक गारंटी की घोषणा की. पूर्व उपमुख्यमंत्री अशोक ने कहा कि उन्होंने घोषणा की थी कि सरकार गठन के 24 घंटे के अंदर पहली मंत्रिमंडल बैठक में इन गारंटी को लागू किया जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार गठन के 240 घंटे से अधिक वक्त बीत गए हैं, लेकिन कांग्रेस नेता अब भी नफा-नुकसान की बात कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें –

कर्नाटक के नतीजों से कांग्रेस पर क्यों मजबूत हो जाएगी गांधी परिवार की पकड़?

राहुल ने कर्नाटक के मतदाताओं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आभार जताया

Featured Video Of The Day

सिटी सेंटर : मुंबई में कहां हुआ हिजाब को लेकर विवाद और अब क्या हैं हालात?

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button