POLITICS

एसी से निकलने की नसीहत देने वाले राजभर को अखिलेश यादव ने गिफ्ट की है फॉर्च्यूनर कार, सपा सचिव के नाम पर है रजिस्टर्ड

ओपी राजभर इन दिनों अखिलेश यादव से नाराज चल रहे हैं। राजभर ने कुछ दिन पहले कहा भी था कि जब राष्ट्रपति चुनाव के लिए लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस हुई थी, उस समय उन्हें आमंत्रित नहीं किया गया था।

समाजवादी पार्टी के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओमप्रकाश राजभर ने हाल ही में अखिलेश यादव पर निशाना साधा था। उन्होंने सपा अध्यक्ष को एयर कंडीशनर की हवा छोड़कर घर से बाहर निकलने और कार्यकर्ताओं से मिलकर अपने संगठन को मजबूत करने की सलाह दी थी। पर अखिलेश यादव को AC से बाहर निकलने की नसीहत देने वाले ओपी राजभर खुद समाजवादी पार्टी की दी हुई एसी कार में चलते हैं।

सपा ने राजभर को तोहफे में फॉर्च्यूनर कार गिफ्ट की है जोकि समाजवादी पार्टी के सचिव के नाम पर रजिस्टर है। ओपी राजभर की अखिलेश यादव को एसी से निकलने की सलाह पर जवाब देते हुए सपा ने कहा है कि राजभर खुद पार्टी की दी हुई एसी कार में चलते हैं और दूसरों को नसीहत देते हैं।

एसी से बाहर निकलने की दी थी सलाह: गौरतलब है कि राजभर ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में अखिलेश को नसीहत देते हुए कहा था, “सपा अध्यक्ष को एयर कंडीशनर की हवा लग गई है। उन्हें कार्यकर्ताओं के बीच आना चाहिए और उनसे मुलाकात करनी चाहिए। ओपी राजभर ने कहा था कि मैं जब उनसे मिलूंगा तो कहूंगा कि आप बाहर निकलिए और कार्यकर्ताओं से मिलिए। सुभासपा प्रमुख ने कहा था, “सपा अध्यक्ष को घेरे रहने वाले ‘नवरत्नों’ की वजह से ही वह इस विधानसभा चुनाव के बाद सरकार नहीं बना पाए। लोग उन्हें वोट देने को तैयार थे लेकिन वह खुद वोट लेने को तैयार नहीं थे।”

सुभासपा में बगावत: वहीं, दूसरी ओर उत्तर प्रदेश में ओम प्रकाश राजभर की पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी में हाल ही में बड़ी बगावत हुई। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष शशि प्रताप सिंह ने पार्टी छोड़ दी और उन्होंने ओम प्रकाश राजभर के ऊपर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि ओपी राजभर देश के सबसे बड़े झूठे नेता हैं और उन्होंने सिर्फ परिवारवाद को बढ़ावा दिया है। राजभर बिन पेंदी के लोटे की तरह हैं और सिर्फ धोखा देने का काम करते हैं।

इसके साथ ही शशि प्रताप सिंह ने नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है। उन्होंने बताया था कि उनकी पार्टी का नाम ‘राष्ट्रीय समता पार्टी’ होगा। गौरतलब है कि शशि प्रताप सिंह को कुछ दिन पहले ही पार्टी के प्रवक्ता पद से हटाया गया था। वहीं ओपी राजभर के बेटे और पार्टी के महासचिव अरुण राजभर ने कहा था कि शशि प्रताप सिंह के पार्टी छोड़ने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button