POLITICS

एशियन चैंपियंस ट्रॉफी: भारत ने जापान को 5-0 से रौंदा, अब Final में मलेशिया से होगी भिड़ंत

India vs Japan Hockey Match Score: भारतीय हॉकी टीम ने 11 अगस्त 2023 की रात चेन्नई के मेयर राधाकृष्णन हॉकी स्टेडियम में खेले गए एशियन चैंपियंस ट्रॉफी (Asian Champions Trophy) के दूसरे सेमीफाइनल में जापान को 5-0 से रौंद दिया। अब उसकी भिड़ंत 12 अगस्त 2023 को इसी मैदान पर मलेशिया से होगी। मलेशिया ने शानदार खेल का नजारा पेश करते हुए गत चैंपियन दक्षिण कोरिया को 6-2 से हराकर टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया था।

तीसरे और चौथे क्वार्टर में भारत ने किए 1-1 गोल

भारतीय गोलकीपर पीआर श्रीजेश के लिए यह जीत और भी खास रही, क्योंकि यह उनका 300वां मैच मुकाबला था। भारत की ओर से आकाशदीप सिंह, कप्तान हरमनप्रीत सिंह, मनदीप सिंह, सुमित और कार्ति सेल्वम ने गोल किए। भारत ने पहले क्वार्टर को छोड़कर हर क्वार्टर में गोल किए। चौथे क्वार्टर के 51वें मिनट में स्थानीय खिलाड़ी कार्ति सेल्वम ने गोल किया। तीसरे क्वार्टर में भी भारत की ओर से एक गोल आया था। मैच के 39वें मिनट में सुमित ने भारत के लिए चौथा गोल किया।

दूसरे क्वार्टर में भारत ने लगाई गोल की हैट्रिक

इससे पहले दूसरे क्वार्टर में भारत ने 3 गोल किए थे। दूसरे क्वार्टर में पहले आकाशदीप ने 19वें मिनट में मैदानी गोल किया। फिर 23वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर कप्तान हरमनप्रीत सिंह गोलकर भारत को 2-0 से आगे कर दिया। इसके बाद 30वें मिनट में मनप्रीत सिंह के डिफ्लेक्शन पर मनदीप सिंह ने मैदानी गोलकर भारत का स्कोर 3-0 कर दिया। इससे पूर्व पहले क्वार्टर में भारत और जापान दोनों में कोई भी टीम खाता नहीं खोल पाई थी।

मलेशिया के लिए फैजल सारी, शेलो सिल्वरियस, अबू कमाल अजराई और नजमी जाजलान ने दागे गोल

पहले सेमीफाइनल की बात करें तो मलेशिया की तरफ से फैजल सारी, शेलो सिल्वरियस, अबू कमाल अजराई और नजमी जाजलान, जबकि साउथ कोरिया के लिए वू चेओन जी और कप्तान जोंगह्युन जांग ने गोल किए। दोनों टीम ने पहले क्वार्टर में सकारात्मक शुरुआत की। कोरिया ने तीसरे मिनट में ही चेओन जी के गोल से बढ़त बनाई, लेकिन अजराई ने अगले मिनट में ही गोल दागकर मलेशिया को बराबरी दिला दी।

इसके बाद भी दोनों टीम ने आक्रामक रवैया जारी रखा। मलेशिया ने नौवें मिनट में जाजलान के गोल से बढ़त हासिल की लेकिन कोरिया को 14वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिला जिसे जांग ने गोल में बदलने में कोई गलती नहीं की। मलेशिया को दूसरे क्वार्टर के चौथे मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिला जिसे सारी ने गोल में बदला। इसके दो मिनट बाद जाजलान ने पेनल्टी कॉर्नर पर गोल करके मलेशिया को 4-2 से आगे कर दिया।

Asian Champions Trophy 2023 | Semi-final
चेन्नई के मेयर राधाकृष्णन हॉकी स्टेडियम में शुक्रवार 11 अगस्त 2023 की शाम मलेशिया और कोरिया के बीच एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी के पहले सेमीफाइनल के दौरान गोल करने के बाद मलेशिया के सिल्वरियस शेलो ने टीम के साथियों के साथ जश्न मनाया। (सोर्स-पीटीआई फोटो)

तीसरे क्वार्टर में दोनों टीमों के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला। इस क्वार्टर में दक्षिण कोरिया को पेनल्टी स्ट्रोक भी मिला, लेकिन जिहुन यांग का शॉट गोलकीपर हाफिज़ुद्दीन ओथमान ने रोक दिया। मलेशिया चौथे क्वार्टर में शुरू से ही हावी रहा। सिल्वरियस ने 47वें और 48वें मिनट में गोल करके मलेशिया की बढ़त मजबूत की। इसके बाद साउथ कोरिया ने वापसी के काफी प्रयास किए, लेकिन मलेशिया ने उन्हें नाकाम करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

Live Updates

India vs Japan Hockey Match, Asian Champions Trophy 2023 Score: मलेशिया ने शानदार खेल का नजारा पेश करते हुए गत चैंपियन दक्षिण कोरिया को 6-2 से हराकर एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में प्रवेश किया।

भारत फाइनल में पहुंचा

भारतीय हॉकी टीम फाइनल में पहुंच गई है। अब 12 अगस्त 2023 को उसका मुकाबला मलेशिया से होगा। ग्रुप चरण में निराशाजनक शुरुआत के बाद बाद क्रेग फुल्टन और उनकी टीम ने रिकॉर्ड बनाया। जापान के खिलाफ भारत का प्रदर्शन शुरू से अंत तक दबदबा बनाए रखने वाला शो कहलाएगा।

चेन्नई में झुूमे दर्शक, कार्तिक ने भारत का स्कोर 5-0 किया

मैच के 51वें मिनट में जापान के खिलाफ भारत ने एक और गोल दाग दिया। यह गोल स्थानीय खिलाड़ी कार्ति की स्टिक से आया। हरमनप्रीत ने सुखजीत के लिए सर्कल में एरियल मारा। सुखजीत ने उसे कार्ति के पास पहुंचा दिया। कार्ति ने चतुराई का प्रदर्शन करते हुए गेंद को पोस्ट में नेट के अंदर पहुंचा दिया। कार्ति के गोल करते ही स्टेडियम में दर्शक खुशी से झूमने लगे।

फाउल के कारण भारत ने गंवाया 5वें गोल का मौका

चौथे यानी आखिरी क्वार्टर का खेल जारी है। मैच के 47वें मिनट में नीलकांता ने जापान सर्कल में एक सॉफ्ट थ्रू बॉल की कोशिश की। इस इलाके में तीन भारतीय थे, लेकिन एक के फाउल के कारण गेंद पर जापान को कब्जा मिल जाता है।

तीसरे क्वार्टर के बाद जापान के खिलाफ भारत 4-0 से आगे

तीसरे क्वार्टर के 43वें मिनट में हार्दिक ने मिडफील्ड में जापान से गेंद को अपने कब्जे में लिया। वह आगे बढ़े और बाईं ओर मनदीप को पास दिया। मनदीप ने अपने बाईं ओर आकाशदीप की ओर खेल दिया। हालांकि, शॉट पर कनेक्शन अच्छा नहीं रहा और भारत के हाथ से मौका निकल गया। अगले ही मिनट (44वें मिनट) जुगराज जापान के सर्कल में खाली जगह पर थे, लेकिन उनके स्वाइप को गोल पोस्ट पर जापान के इंटरसेप्शन ने रोक दिया। तीसरे क्वार्टर के बाद जापान के खिलाफ भारत का स्कोर 4-0 है।

सुमित ने भारत की बढ़त की चार गुनी

इस बार सुमित ने भारत के लिए गोल किया। मैच के 39वें मिनट में मनप्रीत को दूसरी बार पास मिला। उन्होंने सुमित के लिए गेंद पर पिन-पॉइंट बनाया। सुमित दो कदम आगे बढ़े, अपनी बाईं ओर मुड़े और रिवर्स स्टिक से योशिकावा के ऊपर से गेंद को गोल पोस्ट में पहुंचा दिया।

हॉफ टाइम के बाद का खेल जारी

तीसरे क्वार्टर का खेल जारी है। भारत को 32वें मिनट में ही गोल करना का शानदार मौका मिला। गेंद सर्कल में आई, लेकिन वह गुरजंत और आकाशदीप से दूर चली गई। इसके बाद 36वें मिनट में मनप्रीत और अमित रोहिदास ने जापान के गोलकीपर की परीक्षा ली। अमित रोहिदास ने डी के ऊपर से एक शॉट लिया, लेकिन योशिकावा ने उसे रोक दिया।

दूसरे हॉफ में भारतीय टीम रही हावी

भारत ने पहले क्वार्टर में अपनी आक्रामक क्षमता ज्यादा नहीं दिखाई लेकिन दूसरे क्वार्टर में उसने इसकी भरपाई कर ली। शुरुआत से अंत तक गेंद पर उसका नियंत्रण था। आधे रास्ते से पहले दो फील्ड गोल और एक पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदला।

हॉफ टाइम तक भारत 3-0 से आगे, मनदीप ने किया तीसरा गोल

दूसरे क्वार्टर के आखिरी मिनट में मनदीप सिंह ने भारत की बढ़त तिगुनी कर दी। मनप्रीत के स्लैप से मामूली डिफ्लेक्शन पर मनदीप सिंह ने गेंद को नेट में पहुंचा दिया। कहना गलत नहीं होगा कि चेन्नई के मेयर राधाकृष्णन स्टेडियम में जापान के खिलाफ भारत ने अब तक अपनी पूरी पकड़ बनाए रखी है।

फाइनल में पहुंचने पर मलेशिया से होगी भिड़ंत

बता दें कि भारत यदि जापान के खिलाफ दूसरे सेमीफाइनल में जीत हासिल करता है तो 12 अगस्त 2023 की रात साढ़े 8 बजे उसकी मलेशिया से भिड़ंत होगी। मलेशिया ने पहले सेमीफाइनल मैच में शानदार खेल का नजारा पेश करते हुए गत चैंपियन दक्षिण कोरिया को 6-2 से हराकर एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी (एसीटी) हॉकी प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश किया है।

कप्तान हरमनप्रीत सिंह ने 23वें मिनट में किया गोल

जापान के एक डिफेंडर की गलती से 23वें मिनट पर भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला। इस बार कप्तान हरमनप्रीत सिंह ने भारत की बढ़त दोगुनी कर दी।

आकाशदीप ने जापानी गोलकीपर की मेहनत पर फेरा पानी

19वें मिनट में आकाशदीप सिंह ने भारत का खाता खोला। सर्कल के दाईं ओर से हार्दिक और सुमित ने बातचीत की। हार्दिक ने इसे गोल की ओर मारा। जापान के गोलकीपर ने इसे बचा लिया, लेकिन डिफ्लेक्शन सीधे आकाशदीप की ओर होता है। वह इसे गोल पोस्ट में पहुंचाने में कोई गलती नहीं करते हैं।

भारतीय हॉकी टीम अब भी नहीं खोल पाई खाता

दूसरे क्वार्टर का खेल शुरू हो चुका है। भारत ने पहले की तरह इस क्वार्टर में भी आक्रामक हॉकी खेलने की रणनीति अपनाई है। हालांकि, 2 मिनट का खेल होने के बाद भी टीम खाता खोलने में असफल रही है।

पहले क्वार्टर के बाद भारत बनाम जापान 0-0

पहले क्वार्टर का खेल खत्म हो चुका है। पहले क्वार्टर में भारतीय टीम हावी रही, लेकिन जापान खिलाड़ियों ने शानदार डिफेंस का परिचय दिया। इसी का नतीजा रहा है कि भारत सिर्फ एक पेनल्टी कॉर्नर ही हासिल कर पाया।

10 मिनट में भी नहीं हुआ गोल

दस मिनट का खेल हो चुका है, लेकिन दोनों ही टीमें गोल करने में सफल नहीं हुईं है। भारत की ओर से आक्रामक खेल दिखाया गया है, लेकिन जापान के खिलाड़ियों ने भारतीयों के लिए मार्ग को रोकने के लिए स्वयं का घेरा बनाए रखा।

पांच मिनट का खेल खत्म

पांच मिनट का खेल हो चुका है। भारत ने अब तक आक्रामक हॉकी खेली है, लेकिन वह जापान के खिलाफ खाता नहीं खोल पाई। स्कोर अभी 0-0 से बराबर है।

शमशेर सिंह को ग्रीन कार्ड

तीसरे मिनट में भी भारत के शमशेर सिंह को ग्रीन कार्ड दिखाया गया। उन्हें 2 मिनट के लिए निलंबित किया गया है।

मुकाबला शुरू, भारत को दूसरे मिनट में ही मिला पेनल्टी कॉर्नर

दूसरे सेमीफाइनल में भारत और जापान की टीमें आमने-सामने हैं। भारत को दूसरे मिनट में ही पेनल्टी कॉर्नर मिला। हालांकि, जरमनप्रीत सिंह इसे गोल में तब्दील नहीं कर पाए।

ये है भारत और जापान की लाइन-अप

भारत: पीआर श्रीजेश, वरुण कुमार, जरमनप्रीत सिंह, मनप्रीत सिंह, हार्दिक सिंह, मनदीप सिंह, हरमनप्रीत सिंह, सुमित, शमशेर सिंह, आकाशदीप सिंह, गुरजंत सिंह।

जापान: ताकाशी योशिकावा, शोता यामादा, सेरेन तनाका, केंटारो फुकुदा, ताकी ताकाडे, ताकुमा निवा, मनाबू यामाशिता, केन नागायोशी, जेनकी मितानी, मसाकी ओहाशी, कोसी कावाबे।

ट्रायल के दौरान जिस प्रारूप पर हो रहा था विचार, अब नहीं होगा

एफआईएच अध्यक्ष तैय्यब इकराम ने चेन्नई में एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के मौके पर कहा, ‘एफआईएच ने नए पेनल्टी कॉर्नर नियम ट्रायल को रोकने और छोड़ने का फैसला किया है। ट्रायल के दौरान जिस प्रारूप पर विचार किया जा रहा था, उस पर अब विचार नहीं किया जाएगा। मैंने इस मामले में विकल्पों को फिर से परखने का निर्देश दिया है। हम मौजूदा नियम को बनाए रखने के पक्ष में हैं। इसमें अगर बदलाव होगा तो यह उसी प्रारूप के आसपास होगा जो अधिक गतिशील होगा।’

एफआईएच ने रद्द किया पेनल्टी कॉर्नर के नए नियम का परीक्षण

अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने शुक्रवार को कहा कि उसने पेनल्टी कॉर्नर के नये नियम के परीक्षण को ‘छोड़ने’ का फैसला किया है क्योंकि वह मौजूदा सेट पीस नियम के साथ ज्यादा छेड़छाड़ नहीं करना चाहता है।

पाकिस्तान ने 15 मिनट के भीतर दाग दिए थे 4 गोल

चौथा गोल करने में भी पाकिस्तानी टीम को ज्यादा समय नहीं लगा जब शाहिद ने 15वें मिनट में अब्दुल राणा और अम्माद के पास पर गोल कर दिया। चीन की रक्षात्मक पंक्ति काफी कमजोर दिख रही थी और पहले क्वार्टर के बाद पाकिस्तान 4-0 से आगे था। दूसरे क्वार्टर में पाकिस्तानी खिलाड़ी थोड़े धीमे पड़ गये जिससे चीन की टीम आक्रामक हो गई। चेन ने 35वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर से चीन के लिए गोल किया। अंतिम क्वार्टर में भी चीन ने आक्रामकता जारी रखी। लेकिन 52वें मिनट में अम्माद ने अपना दूसरा गोल कर दिया और स्कोर 5-1 हो गया। कुछ मिनट बाद राणा ने पाकिस्तान के लिए छठा गोल किया।

पाकिस्तान ने पहले क्वार्टर में ही जीत लिया था मैच

पाकिस्तान ने एक तरह से मैच पहले क्वार्टर में ही जीत लिया था। नौंवे मिनट में अम्माद ने चीनी गोलकीपर और उनकी रक्षात्मक पंक्ति को चौंकाते हुए बढ़त दिलायी। अगले ही मिनट में पाकिस्तान के लिए दूसरा गोल पेनल्टी कॉर्नर पर मोहम्मद खान ने दाग दिया। फिर अगले ही मिनट उन्होंने यह बढ़त तिगुनी कर दी।

5वें स्थान पर रहा पाकिस्तान, जूनियर खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतरी थी टीम

पाकिस्तान की हॉकी टीम ने शुक्रवार को चेन्नई के मेयर राधाकृष्णन हॉकी स्टेडियम में एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी के 5वें स्थान के प्लेऑफ में चीन को 6-1 से हराकर सांत्वना जीत दर्ज की। पाकिस्तान की ओर से मोहम्मद खान और मोहम्मद अम्माद ने दो दो गोल दागे जबकि अब्दुल शाहिद और अब्दुल राणा ने एक एक गोल किया। चीन के लिए एकमात्र गोल बेनहाई चेन ने दागा। पाकिस्तान ने अपने ज्यादातर उन्हीं खिलाड़ियों को उतारा जो जूनियर विश्व हॉकी चैंपियनशिप में हिस्सा लेंगे। अब सीनियर टीम अगले महीने चीन के हांगझू में होने वाले एशियाई खेलों के लिए तैयारी करेगी।

विश्व रैंकिंग की बात की जाए तो दोनों टीमों के बीच काफी अंतर है। भारतीय हॉकी टीम चौथे और जापान 19वें स्थान पर है, लेकिन मेजबान टीम को यह नहीं भूलना चाहिए कि ढाका में 2021 एशियन चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में उसे जापान के खिलाफ 3-5 से हार झेलनी पड़ी थी। वह भी तब जब लीग चरण में उसने अपने इसी प्रतिद्वंद्वी को 6-0 से हराया था। भारत ने अब तक टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा (20) गोल किए हैं, लेकिन जापान के खिलाफ लीग मैच में खिलाड़ियों ने गोल करने के मौके गंवा दिए थे। मुख्य कोच क्रेग फुल्टन की टीम जापान के खिलाफ लीग मैच में 15 पेनल्टी कॉर्नर में से केवल एक को ही भुना पाई थी। मेजबान भारत को अब अपनी इसी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ अपनी खराब ‘फिनिशिंग’ में काफी सुधार करना होगा। अब उन्हें पेनल्टी कॉर्नर से गोल करने के तरीके तलाशने होंगे।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button