POLITICS

एनडीए में जाने के प्रश्न पर नीतीश बोले

पटना42 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
नीतीश कुमार हरियाणा में नामांकन के कार्यक्रम में नहीं गए और जनसंघ के संस्थापक पंडित आध्याल की जयंती कार्यक्रम में आए।  इसी पर मीडिया ने अपना सवाल उठाया।  - दैनिक भास्कर

नीतीश कुमार हरियाणा में नामांकन के कार्यक्रम में नहीं गए और जनसंघ के संस्थापक पंडित आध्याध्याल की जयंती कार्यक्रम में आए। इसी पर मीडिया ने अपना सवाल उठाया।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर एनडीए में क्या जायेंगे? पटना में सोमवार को मीडिया के सवाल पर नीतीश ने कहा- ये सब फालतू बात है. इसमें मेरी कोई किताब नहीं है। मेरा सिर्फ एक ही लक्ष्य है- उम्मीदवार को एकजुट करना।

नीतीश कुमार सोमवार को पटना में जनसंघ (वर्तमान में भाजपा) के संस्थापक पंडित आध्यात्म की जयंती में शामिल हुए। नीतीश कुमार ने इस कार्यक्रम के लिए हरियाणा में नामांकन के महाजुटान से दूरी बना ली।

नीतीश की एनडीए में वापसी के सवाल पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और बीजेपी के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा- नीतीश कुमार एक राजनीतिक दल बन गए हैं और अब वे भी एनडीए में वापसी के लिए तैयार हैं तो उनकी एनडीए में वापसी नहीं हो रही है।

सीएम ने जनसंघ के संस्थापक पंडित उपाध्याय की जयंती पर उन्हें श्रद्धाजंलि दी।

सीएम ने जनसंघ के संस्थापक पंडित उपाध्याय की जयंती पर उन्हें श्रद्धाजंलि दी।

प्रतियोगिता का कार्यक्रम ठीक हो गया
इंडियन नेशनल लोकदल (आईएनएलडी) ने कैथल में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी देवीलाल की जयंती के कार्यक्रम में नीतीश गठबंधन गठबंधन के भारत के नेताओं को आमंत्रित किया था। नीतीश कुमार नहीं गए और पंडित उपाध्याय की जयंती में शामिल हुए प्रदेश।

इस पर नीतीश कुमार ने कहा- हम तो कहां-कहां जाते हैं। कई जगहें हैं जहां जाना होता है वहां वहां ही हैं, वहां कोई भी बड़ी बात बस नहीं है। वहाँ पार्टी का कार्यक्रम तो पहले से तय है। नीतीश के साथ डिप्टी सीएम तेजस्वी भी इस कार्यक्रम में आए थे।

नीतीश बोले- पंडित जी को कोई भी रक्षाबंधन कर सकता है
नीतीश कुमार ने दिव्य पंडित आद्यायथ की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। आद्योपांत उपाध्याय की जयंती कार्यक्रम में प्रवेश पर उन्होंने कहा कि इसमें कोई बड़ी बात नहीं है। कोई भी व्युत्पत्ति रक्षाबंधन कर सकता है। जो दिव्य जी के विचार से सहमत हैं, और नहीं आते हैं तो वह समझते हैं कि नहीं आते हैं।

बिहार सरकार की बैठक सोमवार की बजाय मंगलवार को आयोजित की गई। लेक्चरर ने जब सीएम नीतीश कुमार से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव की ओर इशारा करते हुए कहा गया है कि कहीं भी बाहर विधानसभा बैठक नहीं हुई है.

सीएम के साथ डिप्टी सीएम भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

सीएम के साथ डिप्टी सीएम भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

नीतीश के जाने के बाद बीजेपी के नेता आये
पंडित आद्योपांत के श्राद्ध के बाद वहां के डिप्टी सीएम नीतीश कुमार निकल गये। उनके जाने के बाद भाजपा नेता कार्यक्रम देश में हैं। प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी, राज्यसभा सांसद मुलायम सुशील मोदी, पूर्व मंत्री नंद किशोर यादव, और प्रभारी मंत्री नागेंद्र चौधरी।

सीएम के जाने के बाद बीजेपी के नेता पंड्या आद्याध्याल की जयंती कार्यक्रम प्रदेश में।

सीएम के जाने के बाद बीजेपी के नेता पंड्या आद्याध्याल की जयंती कार्यक्रम प्रदेश में।

सम्राट चौधरी ने कहा कि हमें सरकारी कार्यक्रमों के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई थी। अगर जानकारी मिलती है तो टैब पर जरूर आएं। वहीं नीतीश कुमार और दीक्षांत समारोह में शामिल होने पर सम्राट चौधरी ने कहा कि ये अच्छी बात है, इसमें शामिल होना चाहिए। महापुरुषों का सम्मान मिलना चाहिए।

Back to top button