POLITICS

एक्सीडेंट में बच्चे का सिर हो गया था धड़ से अलग, डॉक्टरों ने जोड़कर दिखाया चमत्कार, मौत के मुंह से खींच लाए बाहर

इजरायल के डॉक्‍टरों ने एक ऐसा चमत्कार दिखाया है जिसके बारे में जानकर हर कोई हैरान हो रहा है। दरअसल, एक बच्चे का एक्सीडेंट हो गया था। जिससे उसका सिर धड़ से अलग हो गया। उसके बचने की उम्मीद कम थी। उसका सिर सिर्फ स्किन से जुड़ा हुआ था मगर डॉक्टरों ने काफी कोशिशों के बाद उसे जोड़ दिया और बच्चे की जान बचा ली।

द टाइम्स ऑफ इज़राइल की रिपोर्ट के अनुसार, फ‍िल‍िस्‍तीन का रहने वाले 12 साल के सुलेमान हसन साइकिल से कहीं जा रहा था। उसी वक्त कार से उसका एक्सीडेंट हो गया। कार ने उसे जबरदस्त टक्कर मार दी। जिससे उसके सिर पर तेज चोट ली और सिर खोपड़ी के आधार और रीढ़ की हड्डी से अलग हो गया। सिर सिर्फ त्वचा से ही जुड़ा हुआ था। इस स्थिति को वैज्ञानिक रूप से द्विपक्षीय एटलांटो ओसीसीपिटल संयुक्त अव्यवस्था के रूप में जाना जाता है।

सिर धड़ से अलग होकर सिर्फ त्वचा से जुड़ा हुआ था

दुर्घटना के बाद बच्चे को हवाई जहाज से मेडिकल सेंटर ले जाया गया। जहां उसे इमरजेंसी सर्जरी के लिए भेजा गया। डॉक्टरों के अनुसार, उसका सिर उसकी गर्दन के आधार से लगभग पूरी तरह से अलग हो गया था। बच्चे का इलाज करने वाले आर्थोपेडिक सर्जन डॉ. ओहद इनाव ने द टाइम्स ऑफ इज़राइल को बताया कि सर्जरी में कई घंटे लग गए मगर हमने सही तरीके से ऑपरेशन कर दिया। इसके लिए हमें नई प्लेटें और फिक्सेशन लगानी पड़ी। बच्चे को बचाने के लिए हमने संघर्ष किया और आखिरकार सफलता पा ली। सर्जन का यह भी मानना ​​है कि बच्चे की रिकवरी किसी चमत्कार से कम नहीं थी क्योंकि उसके जीवित रहने की उम्मीज सिर्फ 50 प्रतिशत थी।

एक महीने तक डॉक्टर्स ने इस ऑपरेशन के बारे में किसी को नहीं बताया

ऑपरेशन पिछले महीने हुआ मगर डॉक्टरों ने जुलाई तक इसके बारे में किसी को कुछ नहीं बताया। बच्चे को हाल ही में सर्वाइकल स्प्लिंट के कारण अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। हालांकि वह डॉक्टरों की देख रेख में है। डॉ. इनाव ने आउटलेट को बताया कि बच्चा एकदम ठीक है। उसे कोई कोई न्यूरोलॉजिकल परेशनी नहीं है। इतने बड़े ऑपरेशन के बाद वह खुद से चल रहा है औऱ एकदम सामान्य है। उन्होंने आगे कहा कि ऐसी दुर्लभ सर्जरी के लिए विशेष डॉक्टरों की जरूरत होती है। यह बिल्कुल भी सामान्य सर्जरी नहीं है। खासकर बच्चों और किशोरों के लिए तो बिल्कुल भी नहीं। इसे करने के लिए ज्ञान और अनुभव की जरूरत होती है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, लड़के के पिता ने अपने बेटे को एक पल भी अकेला नहीं छोड़ा। उन्होंने अपने इकलौते बेटे को बचाने के लिए अस्पताल के कर्मचारियों को धन्यवाद दिया। फिलहाल बच्चा अपने घर पर सुरक्षित है औऱ सामान्य है।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button