POLITICS

ईरान ने 12 एक्ट्रेस के फिल्मों और सीरियल में काम करने पर लगाया बैन, ड्रेस कोड के तोड़े थे नियम

ईरान ने 12 एक्ट्रेस के फिल्मों और सीरियल में काम करने पर लगाया बैन, ड्रेस कोड के तोड़े थे नियम

एक्ट्रेस तारानेह अलीदोस्ती ईरानी एक्टर्स में बड़ा नाम हैं, जिनपर बैन लगाया गया है.

तेहरान:

ईरान ने बुधवार को 12 महिला एक्टर्स पर फिल्मों और टीवी सीरियल में काम करने पर बैन लगा दिया. एक अधिकारी ने कहा कि महिला कलाकार इस्लामिक गणराज्य के सख्त ड्रेस कोड का पालन करने में नाकाम रहीं. इस्लामिक गणराज्य ड्रेस कोड में हेड स्कार्फ अनिवार्य है, लेकिन इसका भी पालन नहीं किया गया. इसलिए उन्हें बैन कर दिया गया. 

यह भी पढ़ें

ईरान के संस्कृति और इस्लामी मार्गदर्शन मंत्री मोहम्मद मेहदी इस्माइली ने हफ्ते में एक बार होने वाली कैबिनेट मीटिंग के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. इस दौरान मंत्री ने कहा कि जो लोग कानून का पालन नहीं करेंगे, उन्हें काम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

इन एक्टर्स के काम करने पर लगा प्रतिबंध
ईरानी मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, एक्ट्रेस तारानेह अलीदोस्ती, कातायुन रियाही और फतेमेह मोटामेद आरिया समेत 12 एक्टर्स पर ड्रेस कोड के नियम तोड़ने का आरोप है. इन्हें फिल्मों में काम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. 

अलीदोस्ती और रियाही ईरानी एक्टर्स में बड़ा नाम है. ये दोनों एक्टर्स लंबे समय से हिजाब का विरोध करती नजर आ रही हैं. उन्हें 22 वर्षीय ईरानी कुर्द महसा अमिनी की हिरासत में मौत पर पिछले साल व्यापक विरोध प्रदर्शन के दौरान कुछ समय के लिए हिरासत में लिया गया था. अमिनी को पहले ईरान में महिलाओं के लिए सख्त ड्रेस कोड का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. उनकी मौत के बाद महीनों तक प्रदर्शन हुए थे.

1983 से महिलाओं के लिए लागू है ड्रेस कोड
ईरान की 1979 की इस्लामी क्रांति के बाद 1983 से महिलाओं के लिए गर्दन और सिर को ढंकना अनिवार्य कर दिया गया है. हालांकि, महिलाएं ड्रेस कोड का तेजी से उल्लंघन कर रही हैं. ईरान ने पिछले कुछ महीनों में हिजाब नियमों का उल्लंघन करने वाली महिलाओं और व्यवसायों के खिलाफ कदम बढ़ा दिए हैं.

नियम तोड़ने पर हो सकती है 10 साल तक की सजा
ईरान की इस्लामिक सरकार ने हिजाब नहीं पहनने पर कड़ी सजा का कानून बनाया है. यहां हिजाब नहीं पहनने पर भारी जुर्माना और 10 साल तक की सजा हो सकती है. यहां हिजाब को लेकर खूब विवाद हुआ था और महिलाएं इसके विरोध में सड़कों पर उतरी थीं. इसी विवाद के बीच सरकार की तरफ से ये विवादित कानून पारित कर दिया गया और हिजाब पहनना पूरी तरह से अनिवार्य कर दिया. 

ये भी पढ़ें:-

इज़रायल ने गाजा में हमास के 320 ठिकानों पर किये हमले, ईरान ने कहा- हिंसा “आउट ऑफ कंट्रोल’

इजरायल ने तेज किया हमला, गाजा के अस्पतालों में चरमराई स्वास्थ्य व्यवस्था, संसाधनों की कमी;10 पॉइंट्स

अमेरिका के विदेश मंत्री ब्लिंकन की ईरान को चेतावनी दी, अमेरिकियों पर हमले का जवाब देंगे

Back to top button