POLITICS

अमूल-नंदिनी विवाद पर बोली निर्मल बंधन:कांग्रेस सरकार के दौरान कर्नाटक आया था अमूल, चुनाव के कारण इसे इमोशनल परिवार बनाया गया

मूल-नंदिनी विवाद पर बोलीं निर्मल मिलकर:कांग्रेस सरकार के दौरान कर्नाटक आया था अमूल, चुनाव के कारण इसे इमोशनल माइल बनाया गया

बैंगलोर12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

वित्त मंत्री निर्मल निगम ने रविवार को कहा कि कर्नाटक में मूल ब्रांड की एंट्री कांग्रेस सरकार के दौरान हुई थी। उन्होंने कहा- ये कहना गलत है कि अमूल को कर्नाटक में नंदिनी ब्रांड को खत्म करने के लिए लाया जा रहा है। राज्य में चुनाव होने की वजह से असम्ल की एंट्री को अटैच किया जा रहा है। बैंगलोर में एक कार्यक्रम के दौरान वित्त मंत्री ने कहीं ये बातें।

निर्मल बोलीं- बैंगलोर में नंदिनी और दिल्ली में मूल रखती हूं
निर्मल गठित ने कहा- मैं बैंगलोर आई तो नंदिनी का दूध, दही और पेड़ा लेता हूं, वहीं दिल्ली में असमल का दूध खरीदता हूं। मैं दिल्ली में कर्नाटक को रिप्रजेंट करती हूं, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि वहां नंदिनी दूध नहीं मिलेगा तो मैं दूध नहीं पीऊंगी। मैं असल का दूध खरीदूंगा और ये कर्नाटक के खिलाफ नहीं होना चाहिए।

निर्मल कर्नाटक में थिंकर्स फोटो के एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

निर्मल कर्नाटक में थिंकर्स फोटो के एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

नंदिनी ब्रांड भी दूसरे राज्यों में उत्पाद बेचता है
वित्त मंत्री ने कहा कि नंदिनी ब्रांड भी केरल, तमिलनाडु, रोजगार और संबंधित देशों में अपने उत्पाद बेचता है। इसी तरह दूसरे राज्यों के उत्पाद भी कर्नाटक में बिकते हैं। ये अच्छी कंपटीशन है। इसी वजह से भारत दुनिया का सबसे बड़ा मिल प्रोड्यूसर बना है।

उन्होंने कहा कि सबसे पहले येदियुरप्पा की सरकार ने किसानों से जाने वाले दूध की कीमत 2 रुपये/अभिग्रहण किया था। बाद में वर्तमान भाजपा सरकार ने इसे बढ़ाकर 5 रुपए/निष्कासित किया, जिससे किसानों को लाभ हो सकता है।

मूल-नंदिनी विवाद से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें…

राज्य में मूल ने एंट्री का ऐलान किया, कांग्रेस बोली- शाह स्थानीय ब्रांड को बर्बाद करना चाहते हैं

अमूल ब्रांड ने 5 अप्रैल को कर्नाटक में एंट्री करने का ऐलान किया था। इस पर कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने अमित शाह पर स्थानीय ब्रांड नंदिनी को बर्बाद करने का आरोप लगाया। पूरी खबर पढ़ें…

कर्नाटक में राहुल ने नंदिनी ब्रांड की आइसक्रीम:कहा- ये राज्य की शान

राहुल गांधी ने 16 अप्रैल को कर्नाटक दौरे के समय नंदिनी ब्रांड की आइसक्रीम खरीदने वाले थे। उन्होंने दायरे ब्रांड नंदिनी को कर्नाटक की शान बताया।​​​​​​​​​​इस दौरान कर्नाटक प्रदेश के अध्यक्ष डीके शिवकुमार और पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल भी मौजूद हैं।​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​ पूरी खबर पढ़ें…

नंदिनी दूध 39 रुपए, जबकि असम मूल 52 रुपए: फिर कर्नाटक में असम्ल की एंट्री से किस बात का डर?

मूल के कर्नाटक में प्रवेश के घोषणा के बाद से ही हुकूमत योजना है। कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी साजिश के तहत कर्नाटक के दूध ब्रांड नंदिनी को खत्म करना चाहती है। भास्कर एक्सप्लेनर में जानें कि क्या है कर्नाटक में अमूल वर्सेज नंदिनी दूध का विवाद और इसके पीछे का राजनीतिक मकसद। पूरी खबर पढ़ें…

Back to top button