LATEST UPDATES

Akshaya Tritiya 2021 Date, Puja Vidhi, Timings: अक्षय तृतीया की पूजा विधि और सोने की खरीदारी का शुभ मुहूर्त यहां देखें

  1. Hindi News
  2. Religion
  3. Akshaya Tritiya 2021 Date, Puja Vidhi, Timings: अबूझ मुहूर्तों में से एक है अक्षय तृतीया, जानिए इसकी पूजा विधि, महत्व, मंत्र, आरती और मुहूर्त

Akshaya Tritiya 2021 Date, Puja Vidhi, Shubh Muhurat, Timings: ये एक ऐसी तिथि है जिसमें कोई भी शुभ कार्य करने के लिए या कोई नयी वस्तु की खरीदारी के लिए पंचांग देखकर शुभ मुहूर्त निकालने की जरूरत नहीं पड़ती है।

akshaya tritiya, akshaya tritiya 2021, akshaya tritiya 2021 date, akshaya tritiya day 2021, akshaya tritiya time 2021,Akshaya Tritiya 2021 Puja: मान्यता है कि भगवान विष्णु के छठे अवतार श्री परशुराम का जन्म भी अक्षय तृतीया को ही हुआ था।

Akshaya Tritiya 2021 Date, Puja Vidhi, Shubh Muhurat Timings: वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि बेहद ही शुभ मानी जाती है। जिसे अक्षय तृतीया के नाम से जाना जाता है। इस दिन कोई भी शुभ काम करने के लिए मुहूर्त देखने की जरूरत नहीं पड़ती। विवाह के लिए भी ये दिन शुभ माना गया है। कहा जाता है कि इस दिन किये गये कार्य सफल होते हैं और उनमें किसी भी तरह की बाधाएं नहीं आती। जानिए अक्षय तृतीया का महत्व, पूजा विधि और मुहूर्त…

अक्षय तृतीया महत्त्व:


मान्यता है कि भगवान विष्णु के छठे अवतार श्री परशुराम का जन्म भी अक्षय तृतीया को ही हुआ था।


सतयुग और त्रेतायुग का प्रारंभ भी इसी दिन हुआ था।


भगवान विष्णु के अवतार नर-नारायण और हयग्रीव का अवतरण भी इसी तिथि में हुआ माना जाता है।


मान्यता है कि वेद व्यास एवं श्रीगणेश द्वारा महाभारत ग्रन्थ के लेखन का प्रारंभ भी इसी तिथि से हुआ था।


ये महाभारत के युद्ध का समापन दिन भी माना जाता है।


द्वापर युग का समापन भी अक्षय तृतीया पर हुआ माना गया है।


मान्यताओं अनुसार माँ गंगा का धरती पर आगमन इस शुभ तिथि पर ही हुआ था।


भक्तों के लिए तीर्थस्थल श्री बद्रीनाथ के कपाट भी इसी तिथि को खोले जाते हैं।


साल में केवल एक बार वृन्दावन के श्री बांके बिहारी जी मंदिर में श्री विग्रह के चरणों के दर्शन होते हैं।

बेहद ही शुभ है अक्षय तृतीया की तिथि: ये एक ऐसी तिथि है जिसमें कोई भी शुभ कार्य करने के लिए या कोई नयी वस्तु की खरीदारी के लिए पंचांग देखकर शुभ मुहूर्त निकालने की जरूरत नहीं पड़ती है। मान्यता है कि इस दिन पितृ पक्ष में किये गए पिंडदान का अक्षय परिणाम मिलता है। इस तिथि पर उपवास रखने, स्नान दान करने से भी अनंत फल की प्राप्ति होने की मान्यता है। इस व्रत से मिलने वाला फल कभी कम न होने वाला, न घटने वाला और कभी नष्ट न होने वाला होता है। घर पर शुभ मुहूर्त में इस विधि से करें अक्षय तृतीया की पूजा, जानिए सोने की खरीदारी का भी समय

अक्षय तृतीया की पूजा विधि: इस दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की आराधना की जाती है। कई स्त्रियाँ अपने परिवार की समृद्धि के लिए इस दिन व्रत भी रखती हैं। इस दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर नहाने के पानी में गंगा जल मिलाकर स्नान करना चाहिए। इसके बाद श्री विष्णुजी और माँ लक्ष्मी की प्रतिमा पर अक्षत चढ़ाना चाहिए। फूल या श्वेत गुलाब, धुप-अगरबत्ती इत्यादि से इनकी पूजा अर्चना करनी चाहिए। नैवेद्य स्वरूप जौ, गेंहू या फिर सत्तू, ककड़ी, चने की दाल आदि का चढ़ावा चढ़ाना चाहिए। हो सके तो इस दिन ब्राह्मणों को भोजन जरूर कराएं। इस खास दिन पर इन चीजों का दान करना बेहद ही फलदायी माना गया है- फल-फूल, भूमि, जल से भरे घड़े, बर्तन, वस्त्र, गौ, कुल्हड़, पंखे, खड़ाऊं, खरबूजा, चीनी, साग, चावल, नमक, घी आदि। घमंडी और अहंकारी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, इनकीं ये खूबी बना देती हैं इन्हें धनवान

अक्षय तृतीया पर करें ये काम:


इस दिन के साफ-सफाई का विशेष ध्यान दें।


बाजार से 11 कौड़ियां लाकर इनका पूजन कर धन के स्थान में रख दें।


इस दिन सात्विक भोजन करें और कलह-कलेश से बचें।


इस दिन जरूरतमंद की मदद जरूर करें। इस दिन किये गये पुण्य कामों का फल कई गुना मिलता है।


इस दिन केसर और हल्दी से देवी लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए।


इस दिन आर्थिक तरक्की के लिए सोने या चांदी से बनी लक्ष्मी की चरण पादुका खरीदकर घर में रखें और इसकी नियमित पूजा करें। अक्षय तृतीया का सोने की खरीदारी से नहीं है कोई सीधा संबंध, तो जानिए कैसे शुरू हुई ये परंपरा

अक्षय तृतीया मुहूर्त:


14 मई अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त- 05:38 AM से 12:18 PM


अवधि- 06 घण्टे 40 मिनट


तृतीया तिथि प्रारम्भ- 14 मई 2021 को 05:38 AM बजे


तृतीया तिथि समाप्त- 15 मई 2021 को 07:59 AM बजे

अन्य शहरों में अक्षय तृतीया मुहूर्त:


06:01 AM से 12:31 PM – पुणे


05:38 AM से 12:18 PM – नई दिल्ली


05:59 AM से 12:36 PM – अहमदाबाद


05:38 AM से 12:17 PM – नोएडा


05:38 AM से 12:18 PM – गुरुग्राम


05:38 AM से 12:19 PM – चण्डीगढ़


05:44 AM से 12:05 PM – चेन्नई


05:40 AM से 12:23 PM – जयपुर


05:44 AM से 12:12 PM – हैदराबाद


04:56 AM से 07:59 AM मई 15 तक – कोलकाता


06:04 AM से 12:35 PM – मुम्बई


05:55 AM से 12:16 PM – बेंगलूरु

सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त:


अक्षय तृतीया 14 मई को सोना खरीदने का समय- 05:38 AM से 05:30 AM मई 15


अवधि- 23 घण्टे 52 मिनट


15 मई को सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त- 05:30 AM से 07:59 AM


अवधि- 02 घण्टे 29 मिनट

इस राशि वालों पर शनि साढ़े साती का पहला चरण होने वाला शुरू, हो जाएं सतर्क

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: