POLITICS

‘Agnipath’ Protest के चलते Indian Railways को कैंसिल करनी पड़ी कई ट्रेनें, कई के रूट डायवर्ट; देखें लिस्‍ट

ये ट्रेनें सिर्फ बिहार में ही नहीं बल्कि यूपी, पंजाब, दिल्‍ली, मध्‍यप्रदेश और कोलकाता के लिए चलती हैं। इसके अलावा बिहार की कई पैसेंजर ट्रेनें भी रद्द हुई हैं।

भारत के कई राज्‍यों में केंद्र सरकार की ओर से पेश की गई अग्निपथ स्‍कीम को लेकर विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं। युवाओं में इस स्‍कीम को लेकर आक्रोश देखने को मिल रहा है, जिस कारण से कई रेलवे स्‍टेशनों, रूटों और सड़कों पर लोगों की भीड़ जमा हो चुकी है। इस कारण से भारतीय रेलवे ने अपने कई ट्रेनों को पूरी तरह से रद्द कर दिया है तो वहीं कई ट्रेनों के रूट में बदलाव किया गया है। बिहार के छपरा में तो एक ट्रेन की बोगी में आग भी लगा दी गई है।

27 ट्रेन किए गए कैंसिल

बिहार में अग्निपथ स्‍कीम के कारण भारी विरोध के कारण कुल 27 ट्रेनों को कैंसिल किया गया है। इसमें से 22 ट्रेनें ऐसी हैं, जिनको पूरी तरह से कैंसिल कर दिया गया है। वहीं 5 ट्रेनों का समय परिवर्तित किया गया है। इसके अलावा 29 ट्रेनों ऐसी हैं, जो इस भारी विरोध के कारण प्रभावित हुईं हैं। इसके अलावा 11 पैसेंजर ट्रेनें भी कैंसिल हुई हैं।

किन रूटों की ट्रेनें रद्द

इन ट्रेनों के रूट की बात करें तो ये ट्रेनें सिर्फ बिहार में ही नहीं बल्कि यूपी, पंजाब, दिल्‍ली, मध्‍यप्रदेश और कोलकाता के लिए चलती हैं। वहीं बिहार में चलने वाली 11 पैसेंजर ट्रेनों को भी रद्द किया गया है, जिसमें से 8 पूरी तरह से कैंसिल, 3 आंशिक रूप से रद्द हैं। चूकि प्रदर्शन अभी भी जारी है, इस कारण से अभी और भी ट्रेनें प्रभावित हो सकती हैं।

यहां देखें ट्रेनों की लिस्‍ट

बक्सर में 100 से अधिक युवाओंं ने रेलवे स्‍टेशन पर बोला धावा

बक्सर जिले में 100 से अधिक युवकों ने रेलवे स्टेशन पर धावा बोल दिया और पटरियों पर बैठ गए, जिससे पटना जाने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस का आगे का सफर करीब 30 मिनट तक बाधित रहा। इसके अलावा रेलवे स्‍टेशन पर कांच की खिड़कियां भी टूटी नजर आईं। इसके अलावा आरा में भी छात्रों द्वारा विरोध प्रदर्शन जारी रहा।

कहां- कहां प्रदर्शन

बिहार के कम से कम आठ जिलों – जहानाबाद, बक्सर, मुजफ्फराबाद, भोजपुर, सारण, मुंगेर, नवादा और कैमूर से अग्निपथ योजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की सूचना मिली है। राजस्थान, हरियाणा, यूपी, मध्य प्रदेश और दिल्ली में भी विरोध प्रदर्शन हुए।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: