POLITICS

2020 में प्रदूषण 5 लाख:यूपी में सबसे अधिक जन जने ने महाजन्य में सबसे अधिक बढ़े हुए मरे

नई दिल्ली2 घंटे पहले

    • वीडियो ) इस तरह के वायरस से संक्रमित होते हैं। आज के समय में सरकार ने प्रकाशित किया है, जो कि 2019 के नवीनतम वर्ष 2020 में 4.74 लाख इकाइयाँ और जन्म संख्या 5.98 लाख घटाई गई है। गृह की ओर से जारी व्यवस्था (सीआरएस) 2020 में ये बातें सामने आती हैं। देश के सबसे बड़े जनसंख्या वाले राज्य UPI में जन्म और मृत्यु हुई है। हालांकि, महाराष्ट्र में मौत की घटनाएं आगे बढ़ेंगी। विपरीत नगालैंड का इकलौता राज्य है, जहां 2020 के अंत में हत्या की हत्या है। ) 90% मौसम 11 में
      उदर 5 साल में जन्म के पंजीकरण के सांक देखें तो इनमें— 2016 में 2.22 करोड़, 2017 में 2.21, 2018 में 2.32, 2019 में 2.48 और 2020 में 2.42 करोड़ साल का पंजीकरण। तील, तिथि में वृद्धि दर्ज की गई। 2016 में यह 63.49 लाख पर था, जो 2020 में 81.15 लाख प्राप्त हुआ। जैसा 90% से अधिक से अधिक बारथ पंजीकरण 15 और दिथ पंजीकरण 11 राज्य हैं।

        )2019 से 2020 तक महाराष्ट्र, बिहार, महाराष्ट्र, महाराष्ट्र, कर्नाटक, कर्नाटक, महाराष्ट्र, महाराष्ट्र और महाराष्ट्र जैसे महाराष्ट्र 2020 में कुल 2.42 लेख और कुल 81.1 लाख लोगों की मृत्यु।

          कान के कान में बेहतर विकास ) साल 2020 में 14,3379 आँकड़ों की मृत्यु पर, मारक 33,582 वायुयान में और 10,97 के प्रकोप के कारण। बिल्‍ट, कुल लिंग के हिसाब से खराब मौसम 2020 में खराब होने वाले लोगों में 83,313 और 60,028 टॉय।

                • मृत्यु के पंजीकरण में आगे
                  पंजाब में 98.8 % पंजीकरण 21 दिनों में दर्ज किया गया है। इस फेहरिस्त में चेन्नई 97.5% है। 99.8% जन्मतिथि 21 वर्ष में बना है। इस सूची में 17वें, राजस्थान 19वीं और बिहार 22वें नंबर पर है। )
                      31 साल में जन्म-मृत्यु का पंजीकरण
                      साल 1989 में 31 लाख का दावा किया गया था, जो 81 लाख तक मिल चुका था। ट्विट, 1989 में ही 1.10 करोड़ का पंजीकरण हुआ, जो 2020 में 2.42 करोड़ मिला। 2020 में जन्मे 2.42 करोड़ में 1.25 करोड़ (52%) और 1.16 करोड़ (48%) स्मार्टफोन। 81.15 लाख लोगों में 48.82 लाख (60%) पुरुष और 32.33 लाख (40%) महिलाएँ हैं।

Back to top button
%d bloggers like this: