POLITICS

12 राज्यों में ऑक्सीजन का संकट: 50 हजार टन टैंकर ऑक्सीजन ऑक्सीजन केंद्र सरकार देगी, 100 नए अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगेंगे; पीएम मोदी ने जायजा लिया

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय

    • केंद्र सरकार 50 हजार मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन का आयात करेगी, देश में 100 नए अस्पताल बनेंगे; PM मोदी इसके अलावा स्टॉक

    विज्ञापन से परेशान है? विज्ञापन के बिना खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

    नई दिल्ली ३३ मिनट पहले

    • कॉपी नंबर

    फोटो उत्तर प्रदेश के प्रयागराज की है। यहां कोरोना के मरीज बाहर से ऑक्सीजन सिलेंडर लाकर अस्पताल में दे रहे हैं, इसलिए उनके मरीज को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा जा सकेगा।

    देशभर में मेडिकल ऑक्सीजन का संकट बढ़ता जा रहा है। समय पर ऑक्सीजन न मिलने के कारण बड़ी संख्या में कोरोना मरीजों की मौत हो गई है। अब केंद्र सरकार ने इससे निबटने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। केंद्र सरकार ने फौरी तौर पर 50 हजार टन टन ऑक्सीजन ऑक्सीजन के इंपोर्ट करने का फैसला किया है। केंद्र सरकार के इंपॉर्ड ग्रुप -2 (ईजी 2) की बैठक में यह फैसला लिया गया है। बैठक में यह भी तय हुआ कि पीएम केयर्स फंड की मदद से देशभर में 100 नए अस्पतालजीत किए जाएंगे, जहां ऑक्सीजन प्लांट लगेगा

    ये १२ अवस्थाएँ ऑक्सीजन की अधिकता में हैं दिल्ली में गुरुवार को हुई ईजी 2 की बैठक में उन राज्यों के हालात को लेकर चर्चा हुई, जहां कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। उनमें महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पंजाब और हरियाणा शामिल हैं। महाराष्ट्र में मेडिकल ऑक्सीजन की डिमांड राज्य में कुल ऑक्सीजन मैन्युफैक्चरिंग कैपेसिटी से बहुत ज्यादा हो गई है। ये बड़े फैसले हुए

    • कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देश के 12 राज्यों में मेडिकल ऑक्सीजन (मेडिकल ऑक्सीजन) की उपलब्धता जांची जाएगी।
    • प्रेशर स्विंग एडसोरिशन (PSA) अन्दर 100 अस्पतालों की पहचान। ऐसे अस्पताल स्वयं की ऑक्सीजन बनाने में सफल रहते हैं, जिससे मेडिकल ऑक्सीजन की नेशनल स्टड पर अत्यधिक कम होती है। पीएम-केयर फंड ने ऐसे 162 पीएसए प्लांट बनाने के लिए फंड जारी किया था।
    • 100 ऐसे अस्पतालों की पहचान की जा रही है, जो अपने यहां ये प्लांट लगा सकते हैं, जिससे देश में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी न रही।

    पीएम मोदी ने ऑक्सीजन संकट का जायजा लिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर के अस्पतालों में ऑक्सीजन के संकट को देखते हुए अफसरों के साथ बैठक की। इसमें मेडिकल ऑक्सीजन प्रोडक्शन की क्षमता और अन्य मेडिकल इक्यूपमेंट्स की उपलब्धता को लेकर अफसरों को निर्देश दिया गया है।

    सेराम इंस्टीट्यूट के सीईओ ने बाइडेन से मदद मांगी
    सबसे बड़ी फार्मा कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के सीईओ अदार पूनावाला ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से पूछा है। उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर कहा कि अगर हम कोरोना के खिलाफ सचमुच गंभीर हैं तो कच्चे माल के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटा दें। पूनावाला ने लिखा, ” आदरणीय राष्ट्रपति अगर हम सचमुच वायरस को हराने को लेकर एकजुट हैं, तो अमेरिका के बाहर के वैक्सीन उद्योग के आधार पर मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि अमेरिका के बाहर रॉ मटेरियल्स के एक्सपर्ट पर लगे प्रतिबंध हटा दें। ताकि वैक्सीन का उत्पादन संभव हो सके। आपके प्रशासन के पास विस्तृत जानकारी है। ”

    Back to top button
    %d bloggers like this: