POLITICS

सुनिए न छोटे जासूस…जब संबित पात्रा से बोले कांग्रेसी नेता, BJP प्रवक्ता का तंज

  1. Hindi News
  2. राष्ट्रीय
  3. सुनिए न छोटे जासूस…जब संबित पात्रा से बोले कांग्रेसी नेता, BJP प्रवक्ता का तंज- आप भी तो मोटे जासूस हो, कौन से कम हो

भाजपा प्रवक्ता ने गौरव वल्लभ से कहा, “आपने कहा कि संबित पात्रा जवाब दे देगा, तो कल से संसद चलेगा। मैंने जवाब दे दिया, अब कल से संसद चलाओ।”

जनसत्ता ऑनलाइन
Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र

नई दिल्ली | Updated: July 31, 2021 8:57 PM

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ और बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा। (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

पेगासस जासूसी मुद्दे पर कांग्रेस संसद के दोनों सदनों से लेकर टीवी डिबेट तक पर भाजपा को घेरने में जुटी है। दोनों ही पार्टियों के प्रवक्ता इस दौरान शालीन भाषा की सीमा लांघने में भी नहीं चूकते। ऐसा ही एक मामला हाल ही में कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ और भाजपा नेता संबित पात्रा के बीच टीवी पर हुई बहस में देखने को मिला। यहां जब कांग्रेस नेता ने भाजपा प्रवक्ता को छोटा जासूस कहना शुरू किया, तो पात्रा ने भी पलटवार में उन्हें मोटा जासूस बुलाना शुरू कर दिया।

क्या बोले गौरव वल्लभ?: दरअसल, जब गौरव वल्लभ ने संबित पात्रा को संबोधित करते हुए कहा कि छोटे जासूस सुनिए। आप कहते हैं कि आपने पेगासस कानून का इस्तेमाल नहीं किया, तो क्या कानूनी मंत्री, आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद 2019 में संसद में खड़े होकर झूठ बोल रहे थे। क्या उनके खिलाफ संसद में झूठ बोलने पर कार्रवाई होनी चाहिए। जब वो साफ-साफ संसद में खड़े हो कर ये कह रहे हैं कि सौ से ज्यादा लोगों पर पेगासस का प्रयोग कर जासूसी की गई।

पात्रा बोले- कल से चलवाओ संसद: इस पर भाजपा प्रवक्ता ने संबित पात्रा ने पलटवार करते हुए कहा, “मैं छोटा जासूस हूं, तो आप मोटे जासूस हो। आप ही ने तो कहा कि 300 लोगों की जासूसी हो गई, तो आप भी मोटे जासूस हैं। अगर आप को सबकुछ पता है, तो आप खुद से ये सवाल क्यों पूछ रहे हैं।” इसके बाद भाजपा प्रवक्ता ने कहा, “आपने कहा कि संबित पात्रा जवाब दे देगा, तो कल से संसद चलेगा। मैंने जवाब दे दिया, अब कल से संसद चलाओ।”

एंकर ने टोका, तब शांत हुए दोनों प्रवक्ता: इसके बाद जब गौरव वल्लभ ने फिर संबित पात्रा को झूठा भाई कहना शुरू किया, तो दोनों के बीच जमकर बहस हुई। इस पर शो की एंकर अंजना ओम कश्यप को बीच में दोनों को टोकना पड़ा। उन्होंने कहा कि बहस के दौरान एक-दूसरे के कॉलर तक मत पहुंचिए। आप दोनों इतने प्रतिष्ठित और लोकप्रिय प्रवक्ता हैं। तू-तू, मैं-मैं मत कीजिए। भाषा की मर्यादा रखिए।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: