POLITICS

संसद का बजट सत्र: राज्यसभा में स्वपन दासगुप्ता की सदस्यता रद्द करने का प्रस्ताव लाएगी टीएमसी; भाजपा ने बंगाल चुनाव के लिए बनाया उम्मीदवार है

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय

    • महुआ मोइत्रा स्वपन दशगुप्त; संसद का बजट सत्र LIVE अपडेट; किसान आंदोलन | राज्यसभा लोकसभा नवीनतम समाचार | महुआ मोइत्रा स्वपन दशगुप्त पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव किसान आंदोलन पेट्रोल डीजल मूल्य वृद्धि

    विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

    नई दिल्ली 18 दिन पहले

    • कॉपी नंबर

    बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने बंगाल की राजनीति के बड़े चेहरे स्वपन दासगुप्ता को हुगली की तारकेश्वर विधानसभा सीट से टिकट दिया है।

    पश्चिम बंगाल का सियासी घमासान अब संसद पहुंच गया है। तृणमूल कांग्रेस मंगलवार को राज्यसभा में सांसद स्वपन दासगुप्ता की सदस्यता रद्द करने का प्रस्ताव लाने वाली थी। इससे पहले ही उन्होंने राज्यसभा सांसद के पद से इस्तीफा दे दिया था। स्वपन दासगुप्ता ने अपना इस्तीफा राज्यसभा चेयरमैन को भेज दिया है।

    तृणमूल कांग्रेस ने कहा था कि दासगुप्ता मनोनीत सांसद हैं। ऐसे में उनका भाजपा की ओर से चुनाव लड़ना संविधान के खिलाफ है। दरअसल, बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने बंगाल की राजनीति के बड़े चेहरे स्वपन दासगुप्ता को हुगली की तारकेश्वर विधानसभा सीट से टिकट दिया है, जिसका टीएमसी विरोध कर रही है।

    महुआ मोइरा ने उठाया मुद्दा टीएमसी सांसद महुआ मोइरा ने सोशल मीडिया पर कहा कि दासगुप्ता पश्चिम बंगाल चुनावों के लिए भाजपा के उम्मीदवार हैं, जबकि संविधान की 10 वीं अनुसूची कहती है कि राज्यसभा का मनोनीत सांसद शपथ लेने और उसके 6 महीने की अवधि खत्म होने के बाद अगर कोई भी राजनीतिक पार्टी में शामिल होता है, तो उसे राज्यसभा की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

    ) इससे पहले राज्यसभा में सोमवार को विदेश मंत्री एस। जयशंकर ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में राष्ट्रवाद के मुद्दे पर जवाब दिया था। उन्होंने कहा था कि हम इन घटनाओं पर ध्यान से नजर रख रहे हैं। महात्मा गांधी की धरती से होने के कारण हम नस्लवाद से आंखें नहीं फेर सकते हैं। खासतौर पर उस देश में जहां, भारतीय प्रवासी बड़ी तादाद में रहते हैं। यूके के साथ हमारे संबंध मजबूत हैं, लेकिन पड़ी की जरूरत है तो हम ऐसे मामलों को उनके सामने उठाएंगे।

    भारतीय मूल की लड़की को राष्ट्रवादी बताया गया था
    दरअसल, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की पहली भारतीय मूल की अध्यक्ष रश्मि सामंत को पद से इस्तीफा दे दिया था।) रश्मि के अध्यक्ष बनने के बाद उनकी एक पुरानी सोशल मीडिया पोस्ट वायरल हो गई थी। उस पोस्ट को आधार बनाकर रश्मि को राष्ट्रवादी और असंवेदनशील बताया गया था और आगे बढ़ने के बाद उन्होंने पद छोड़ दिया था।


    यह सेशन 8 अप्रैल तक चलेगा। दोनों सदनों की कार्यवाही सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक चल रही है। इस दौरान राज्यसभा के सदस्य राज्यसभा और गैलारी में ही बैठेंगे। इसके अलावा लोकसभा की कार्यवाही भी पहले की तरह ही चली गई। कोरोना की वजह से दोनों सदनों को दो शिफ्ट में बदला जा रहा था। पहले चरण में 99.5% काम हुआ था
    के पहले चरण के दौरान लोकसभा में 99.5% काम हुआ था। इस दौरान, लोकसभा 50 घंटे की जगह 49.17 मिनट चली। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा 16.39 घंटे तक चली। बजट पर चर्चा के लिए 10 घंटे तय थे, लेकिन सदन में बहस 14 घंटे तक हुई।

    Back to top button
    %d bloggers like this: