LATEST UPDATESPOLITICS

संगीतकार/musician राम लक्ष्मण का निधन, ‘फ़िल्म मैंने प्यार किया’ के म्यूजिक से फेसम हुए थे





राम लक्ष्मण. म्यूज़िक डायरेक्टर थे. लंबे समय से बीमार चल रहे थे.  79 वर्ष की उम्र में उनका नागपुर में निधन हो गया. उन्होंने मशहूर ब्लॉक बस्टर फ़िल्में जैसे ‘मैंने प्यार किया’, ‘हम आपके हैं कौन’ और ‘हम साथ साथ हैं’ के म्यूजिक को डायरेक्ट किया था. उनका असली नाम विजय काशीनाथ पाटिल था. उनके निधन पर सलमान खान ने भी शोक जताया है.
किन-किन संगीतकारों ने याद किया?
विजय पाटिल के निधन पर लता मंगेशकर ने शोक जताया. ट्वीट किया,
वहीं, पंकज उदास ने भी अपनी संवेदनाएं व्यक्त की. लिखा-
अनुभवी संगीतकार राम लक्ष्मण (विजय पाटिल) जिन्होंने ‘मैंने प्यार किया’ जैसी कई हिट फिल्मों के गाने कम्पोज़ किया. उनका कल रात दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया, मुझे उनके साथ काम करने का सौभाग्य मिला, विशेष रूप से फिल्म ‘पत्थर’ के एक गीत ‘मैं तेरे साथ हूं’ में. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे.
इंडस्ट्री में कैसे आए?

राम लक्ष्मण (विजय काशीनाथ पाटिल) ने क़रीब 200 से भी ज़्यादा फ़िल्मों में म्यूज़िक दिया था. इसमें हिंदी भोजपुरी और मराठी फिल्में शामिल थीं. हालांकि राजश्री प्रोडक्शन की फ़िल्मों से ख़ास पहचान मिली. विजय पाटिल को इंडस्ट्री में लेकर आए थे दादा कोंडके, जिनकी मराठी फिल्मों से उन्होंने अपने काम की शुरुआत की थी. फिर दादा कोंडंके की कई हिंदी फिल्मों में भी विजय पाटिल ने संगीत दिया.
किस फिल्म में कौन-से गाने का म्यूज़िक दिया?
राम लक्ष्मण को 1989 में ‘फ़िल्म मैंने प्यार किया’ से बड़ी सफलता मिली और इसी से वो देश भर में मशहूर हो गए. आज भी सलमान खान और माधुरी दीक्षित के बेहतरीन गानों की बात की जाए तो राम लक्ष्मण का ही जिक्र आता है. सलमान खान के सफ़र की शुरुआत से लेकर क़रीब दो दशक तक राम लक्ष्मण के गाने ही उनकी पहचान बने. आइए जानते हैं कि राम लक्ष्मण ने कौन-कौन से फेमस गानों के म्यूज़िक को डायरेक्ट किया था-
1- फिल्म- मैंने प्यार किया
# गाना- दिल दीवाना बिन सजना के
2- फिल्म- हम आपके हैं कौन
# गाना- दीदी तेरा देवर दीवाना
3-  फिल्म- हम साथ साथ हैं
# गाना-  महारे हिवडा में नाचे मोर
4-  फिल्म- 100 डेज़
# गाना-  ता ना दे रे ना 
5-  फिल्म- पत्थर के फूल
# गाना-  कभी तू छलिया लगता है
नाम के पीछे का किस्सा क्या है?
राम लक्ष्मण एक नाम नहीं बल्कि दो अलग-अलग व्यक्तियों के नाम हैं. दरअसल विजय उर्फ लक्ष्मण और सुरेंद्र उर्फ राम साथ में म्यूज़िक दिया करते थे. दोनों की जोड़ी इंडस्ट्री में मशहूर थी. संगीतकार सुरेंद्र का निधन 1976 में हो गया था. उस समय उन्होंने हिंदी फ़िल्म ‘एजेंट विनोद’ का म्यूज़िक पूरा ही किया था. फिल्म को राजश्री प्रोडक्शन ने 1977 में रिलीज किया. और उसी के बाद से विजय उर्फ राम ने अपने जोड़ीदार का नाम साथ लेकर चलने का फैसला किया और लोग उन्हें राम लक्ष्मण के नाम से जानते और पहचानते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: