POLITICS

संगरूर की अमनदीप को ‘वीरबाल अवार्ड’:14 की उम्र में जलती बस से 4 बच्चों को निकाला गया था, पूर्व सीएम कैप्टन ने किया सलाम

अमृतसर19 मिनट पहले

भारतीय बाल विकास परिषद की ओर से कोरोना संक्रमण के कारण दो साल बाद युवाओं को ‘वीरबाल पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया। पंजाब के संगरूर जिले की 14 साल की एक घटना में अमनदीप कौर का नाम भी शामिल है। अमनदीप कौर एक स्कूल वैन दुर्घटना में खुद के साथ-साथ चार बच्चों को बचाने में भी संभव हो रही थी।

15 फरवरी, 2020 को पंजाब के संगरूर जिले में लोंगोवाल-सिदसमाचार रोड पर 12 छात्रों को ले जा रही एक स्कूल वैन में हुआ था। इस पूरे हादसे में आठ छात्र बाल-बाल बच गए, जबकि चार की मौत हो गई। आठवीं में से 1 अमनदीप कौर खुद थी और 4 को उसने ही बचा लिया था। 2020 में अमरिंदर सिंह ने भी अमनदीप की आकांक्षा की थी और ट्विटर पर ट्वीट कर अमरदीप की वीरता को सलाम किया था।

हादसे के बाद इस हालत में स्कूल वैन मिली थी।

हादसे के बाद इस हालत में स्कूल वैन मिली थी।

बार-बार ड्राइवर को आगाह किया गया था
अमनदीप कौर ने बताया कि घटना के दिन जैसे ही वैन चली तो मैंने सर (शिक्षक-सह-चालक दलबीर सिंह) से कहा कि वैन से कुछ गंध आ रही है, लेकिन सर ने इसे बढ़ाना शुरू कर दिया। मैंने सर को फिर कहा कि बदबू बढ़ रही है, लेकिन उन्होंने शोक-उद्र देखा और गाड़ी दौड़ रहे हैं। बाद में जब आभास हुआ, स्थिति कंट्रोल से बाहर हो गई थी। अमनदीप सबसे पहले वैन के शीशे तोड़कर बाहर निकली और खुद को सुरक्षित किया।

जलती बस से चार बच्चों को निकाला
अमनदीप ने एक खिड़की तोड़ी और कूद गया। इतनी देर में आसपास के लोग मदद के लिए भी आ गए थे, लेकिन आग लगने के कारण परेशानी आ रही थी। अमनदीप ने जलती स्कूल वैन में से चार बच्चों को निकालने में मदद की।

Back to top button
%d bloggers like this: