POLITICS

श्रद्धा के 35 टुकड़े करने के बाद अपने घाव का इलाज कराने आया था आफताब, अब डॉक्टर ने खोले राज़

श्रद्धा के 35 टुकड़े करने के बाद अपने घाव का इलाज कराने आया था आफताब, अब डॉक्टर ने खोले राज़

आफताब अमीन पूनावाला को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार किया है.

नई दिल्ली:

दिल्ली के महरौली में लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वॉकर के मर्डर मामले में आरोपी आफताब अमीन पूनावाला पर पुलिस कस्टडी में है. इस हत्या को हर दिन हैरान करने वाले खुलासे हो रहे हैं. श्रद्धा की हत्या के बाद आरी से लाश के 35 टुकड़े करने के दौरान आफताब के हाथ में भी चोट आई थी, जिसका इलाज कराने वह महरौली में ही एक डॉक्टर के पास पहुंचा था. अब इस डॉक्टर ने आफताब के बारे में कई खुलासे किए हैं.

श्रद्धा मर्डर केस में आरोपी आफताब को टीवी पर देखने के बाद उसका इलाज करने डॉक्टर मीडिया के सामने आए हैं. डॉक्टर का कहना है कि आफताब मई में उनके पास इलाज के लिए आया था. तब आफताब के हाथ में घाव था. मई में ही श्रद्धा की हत्या की बात कही जा रही है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, डॉक्टर अनिल कुमार की मानें तो इलाज के दौरान उनको आफताब कुछ आक्रमक और बेचैन सा लगा. लेकिन देखकर ऐसा नहीं लगा कि उसको किसी बात का डर है. वह डॉक्टर की आंखों में देखकर बात करता था और सभी सवालों के बिना घबराए जवाब दे रहा था. 

डॉक्टर ने कहा, ‘मई में सुबह के वक्त आफताब आया था. मेरी असिस्टेंट ने मुझे बताया था कि इलाज के लिए कोई आया है. मैंने उसे देखा. उसका जख्म गहरा नहीं था. मैंने उससे पूछा कि चोट कैसे लगी. उसने बोला कि फल काटने के दौरान ऐसा हुआ. मुझे भी कोई शक नहीं हुआ, क्योंकि वह साफ तौर पर चाकू का छोटा सा निशान था.’ डॉक्टर अनिल कुमार के मुताबिक, इलाज के दौरान उनको बिल्कुल शक नहीं हुआ, कि आफताब इतना बड़ा कांड कर चुका है. 

डॉक्टर ने आगे कहा, वह इंग्लिश में बात करता था. उसने कहा कि वह आईटी सेक्टर में बेहतर मौके की तलाश में मुंबई से दिल्ली आया है. बता दें कि दो दिन पहले पुलिस आफताब को लेकर उनके क्लिनिक पहुंची. पुलिस ने डॉक्टर से पूछा कि क्या उन्होंने आफताब का इलाज किया था. डॉक्टर ने उसे पहचान लिया और हां में जवाब दिया. 

बता दें कि 28 साल के आफताब अमीन पूनावाला को अपनी 26 साल की लिव इन पार्टनर की गला घोंटकर हत्या करने और लाश के टुकड़े-टुकड़े करने को लेकर शनिवार को गिरफ्तार किया गया. दक्षिण दिल्ली के महरौली में उसने वॉकर के शव के 35 टुकड़े किये और करीब तीन हफ्ते तक फ्रीज में रखने के बाद इन्हे (टुकड़ों) को वह कई दिनों तक शहर के विभिन्न हिस्सों में फेंकता रहा.

ये भी पढ़ें:-


“पत्रकार बनना चाहती थी श्रद्धा…” : कॉलेज के मित्र ने याद किए पुराने दिन


प्यार का डरावना रूप है श्रद्धा और आफताब का रिश्ता : हो रहे खुलासे पर खुलासे


आफताब ने गूगल पर तलाश किए थे खून साफ करने के तरीके


“Yes I Killed Her, मुझे हिन्दी नहीं आती…” : आफताब का इकबालिया बयान


CCTV के ज़रिये आफताब पर 24 घंटे रखी जा रही है नज़र

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Featured Video Of The Day

श्रद्धा मर्डर केस : आरोपी आफताब की निशानदेही पर सबूत इकट्ठा करने में जुटी पुलिस

Back to top button
%d bloggers like this: