POLITICS

वैक्सीनेशन पर सरकार का बड़ा फैसला: 1 अप्रैल से 45 साल और उससे ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगेगी, सरकार ने कहा

से 45 साल से ऊपर के सभी लोगों के लिए कोविद 19 वैक्सीन

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली 10 दिन पहले

सरकार ने कोरोना वैक्सीनेशन पर बड़ा फैसला किया है। एक अप्रैल से 45 साल और इससे ऊपर के सभी लोग कोरोना वैक्सीनेशन के दायरे में आएंगे। उन्हें सिर्फ कोविन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना होगा। इसके बाद वे सरकार या प्राथमिक केंद्र पर जाकर टीका लगवा देंगे।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा गया कि देश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। लोगों को सिर्फ अपना पंजीकरण करना होगा और उन्हें आसानी से सरकार और केंद्रीय सेंटर्स पर वैक्सीन मिल जाएगी।

एक दिन पहले बदली गाइडलाइन, कोविशील्ड का दूसरा डोज 6 से 8 सप्ताह बाद दिखेगा

इससे पहले केंद्र सरकार ने 22 मार्च को कोविशील्ड वैक्सीन को लेकर नई गाइडलाइन जारी की थी। इसके अनुसार कोविशील्ड वैक्सीन के दो डोज के बीच का समय पहले से दो सप्ताह ज्यादा रहेगा। अब तक कोविशील्ड के दोनों डोज के बीच 4 से 6 सप्ताह, यानी 28 से 42 दिन का अंतर रखा गया था

नए निर्देश के अनुसार अब यह अंतर 6 से 8 सप्ताह यानी 42 से 56 दिन का होगा। नया नियम सिर्फ कोविशील्ड वैक्सीन पर लागू होगा। देसी वैक्सीन यानी भारत बायोटेक के कोवैक्सिन पर नए नियम लागू नहीं होंगे। कोविक्सिन के दो डोज चार सप्ताह के अंतर से ही लगाया जाएगा।

16 जनवरी से शुरू हुआ टीकाकरण
देश में 16 जनवरी को हेल्थकेयर वर्कर्स को नियुक्त करने के साथ कोरोनाईकरण की शुरुआत हुई। था। 2 फरवरी से एमलाइन वर्कर्स को भी वैक्सीन लगने लगी थी। 13 फरवरी से हेल्थकेयर वर्कर्स को दूसरा डोज दिया जा रहा है। एयरलाइन वर्कर्स को दूसरा डोज देने की शुरुआत 2 मार्च को हुई।

1 मार्च को शुरू हुआ दूसरा फेज देश में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज 1 मार्च से शुरू हुआ था। इस फेज के तहत 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। इसके साथ ही 45 से 60 की उम्र के ऐसे लोगों को भी वैक्सीन लग रही है, जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। जिन लोगों की उम्र 60 साल या उससे अधिक है, उन्हें पंजीकरण और वैक्सीनेशन के जब आईडी कार्ड के साथ रखना होगा। 45 से 60 वर्ष के जिन लोगों को गंभीर बीमारी है, उन्हें मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना होगा।

Back to top button
%d bloggers like this: