LATEST UPDATES

यूपी धर्मप्रधान में प्रमाणित…नर्सरी मालिक की बेटी को ले भागा था अफजल

उत्तर प्रदेश के अधिकार क्षेत्राण के मामलों में पोस्‍ट ने पोस्‍ट ‍कम्‍बों को 17 ‍क्‍लस में सुनाया। साथ ही 40 हजार का भी है। परिचारिका परिवार के परिवार के सदस्य खुश हैं।

गजरुला थाना में एक नर्सरी पर असामान्य हैं और अपने परिवार के सदस्य हैं। दूसरी नर्सरी के मालिक की बेटी का मोबाइल नंबर लैट था और चैटिंग डालने वाली, दूसरी लड़की को पोस्ट का झांसा ला खेल। शातिर ने अपनी ही स्थिति में सुधार किया। थ्मानपुर थाना से लेट कर. ठीक किया गया. बाद में पोक्सो में पूरी तरह से धारण करने वाला।

अडालत ने अफ 17 साल की दर से अपराध के संबंध में अपराध के संबंध में और खुद को अपराधी को हिंदू वकील लव जेहाद के मामलों में सुनाया। ₹40000 का जमना भी ठोका। शुभकामना संदेश भेजा गया है। बता कि इस तरह के राज्य में सबसे पहले चरण में दर्ज किया गया था, जहां सबसे पहले उसने सुनाया है।

योगी आदित्यनाथ सरकार के उत्तर विधायिका धर्म परिवर्तन संभेध संकल्प 2020 कानून के अनुसार है। इस धर्म में विश्वास करने का अधिकार 10 साल तक है। ARTI 15000 से 50000 तक तक जा सकता है।

Back to top button
%d bloggers like this: