POLITICS

मानव तस्करी रैकेट का भंडाफोड़, एक महिला समेत तीन अपहरणकर्ता गिरफ्तार

मानव तस्करी रैकेट का भंडाफोड़, एक महिला समेत तीन अपहरणकर्ता गिरफ्तार

पीड़ित को बचा लिया गया और पुलिस दल ने सभी आरोपीयों को गिरफ्तार कर लिया है

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने नाबालिग को अगवा करने और उसकी जबरन शादी करवाने के आरोप में एक महिला समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक इस लड़की को तीन लोगों ने एक घर में बंद किया हुआ था. पुलिस ने लड़की को बरामद करके परिजनों को सौंप दिया है. यह मामला दिल्ली के कालका जी (Kalkaji) इलाके का है जहां नेहरू प्लेस के फुटपाथ में रहने वाली एक लड़की को अगवा (Kidnap) कर लिया गया था. पुलिस के मुताबिक 8 अगस्त, 2021 को कालकाजी में 15 साल की लड़की के अपहरण की सूचना मिली थी. पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज कर जांच शुरू की.

इस दौरान टीम को पता चला कि पीड़ित परिवार मूल रूप से राजस्थान के अजमेर का रहने वाला है और वर्तमान में नेहरू प्लेस में फुटपाथ पर रहकर किसी तरह अपनी गुजर बसर कर रहा है. अभी 10 जनवरी को लापता लड़की के माता-पिता पुलिस स्टेशन आए और बताया कि उन्हें उनकी बेटी का फोन आया था, जिसमें उसने कहा कि वह तिगरी एक्सटेंशन, दिल्ली के इलाके में है. पुलिस तुरंत हरकत में आई और जिस मोबाइल नंबर से पीड़िता ने कॉल की थी उसकी लोकेशन का पता करके वहां पहुंची. फोन की लास्ट लोकेशन का पता करने पर पता चला कि फोन सी-ब्लॉक, तिगरी एक्सटेंशन के क्षेत्र में सक्रिय था. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो पता चला कि लड़की को तीन लोगों ने एक घर में बंद किया हुआ था.

पुलिस के हत्थे चढ़ा गैंगस्टर राकेश ताजपुरिया, रोहिणी कोर्ट शूटआउट के दौरान शूटरों को दिए थे हथियार

पुलिस ने लड़की को रिहा कराकर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पूछताछ करने पर उनकी पहचान रंजन कुमार, रंजन कुमारी उर्फ ज्योति और दिलीप कुमार के रूप में हुई है. पूछताछ करने पर आरोपी रंजन कुमारी उर्फ ज्योति जो इस मामले की मास्टरमाइंड थी, ने खुलासा किया कि वह घटना से दो-तीन दिन पहले पीड़ित लड़की से नेहरू प्लेस में मिली थी. जहां उसने देखा कि पीड़ित एक गरीब जरूरतमंद लड़की थी और उसे आसानी से लालच देकर अगवा किया जा सकता है. पुलिस के मुताबिक दो-तीन दिन बाद वह फिर से अपने ब्वॉयफ्रेंड यानी आरोपी दिलीप कुमार के साथ वारदात को अंजाम देने के लिए नेहरू प्लेस आ गई. उसने पीड़िता से कहा कि अगर वह उसके साथ आएगी तो वह उसके लिए अच्छे कपड़े की व्यवस्था कर सकती है. इस बहाने मासूम नाबालिग लड़की मान गई लेकिन उसने अपनी छोटी बहन को भी साथ ले जाने की जिद की.

‘सुल्ली डील्स’ जैसे ऐप के जरिए भारत में मुस्लिम महिलाओं का उत्पीड़न निंदनीय : संयुक्त राष्ट्र अधिकारी

अरोपियों ने उसकी बहन को छोड़कर उसका अपहरण कर लिया. वे उसे अपने ऑटो में ले गए. उसके बाद आरोपी रंजन कुमारी उर्फ ज्योति ने अन्य आरोपी व्यक्तियों की मदद से नाबालिग लड़की का उसके नशेड़ी भाई रंजन कुमार के साथ जबरदस्ती शादी करा दी, दोनों तिगड़ी एक्सटेंशन में किराए पर रह रहे थे. पीड़ित लड़की को मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने या घर से बाहर जाने की अनुमति नहीं थी. अब 10 जनवरी वह अपने परिवार को कॉल करने में सफल रही क्योंकि उस समय घर में कोई भी मौजूद नहीं था. पीड़ित को बचा लिया गया और पुलिस दल की त्वरित प्रतिक्रिया से सभी आरोपी व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपी 26 साल का रंजन कुमार नशे का आदी है. उसने ग्रेजुएशन किया है. उसकी बहन रंजन कुमारी ब्यूटी पार्लर में काम करती थी. आरोपी दिलीप कुमार एक निजी फर्म में काम करता था.

बुल्ली बाई ऐप केस में मुख्य आरोपी नीरज बिश्नोई असम से गिरफ्तार

Back to top button
%d bloggers like this: