POLITICS

महामारी में भी मोदी बनाम ममता: पीएम मोदी की बैठक में शामिल नहीं होगी ममता बनर्जी, शाम 6.30 बजे राज्यों के मुख्यमंत्री से कोरोना पर होनी है चर्चा

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली एक घंटा पहले

  • कॉपी नंबर

फोटो 23 जनवरी की है, जब मोदी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती पर बंगाल पहुंचे थे। । मंच पर मोदी और ममता साथ थे, जय श्री राम के नारे लगने पर ममता नाराज हो गए। तभी से वे मोदी के सरकारी कार्यक्रमों से किनारा कर रहे हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बैठक से किनारा कर लिया। ” आज शाम 6.30 बजे कोरोना महामारी को लेकर होने वाली इस बैठक में बंगाल से राज्य के मुख्य सचिव हिस्सा लेंगे। इससे पहले 17 मार्च को हुई बैठक में भी ममता बनर्जी ने खुद को अलग कर लिया था। पश्चिम बंगाल चुनाव प्रचार अभियान के तहत दोनों नेताओं के बीच तल्खी बढ़ती जा रही है जिसका असर अब सरकारी कार्यक्रमों में भी दिखने लगा है। वैक्सीनेशन पर भी चर्चा संभव फोटो 23 जनवरी की है, जब मोदी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर बंगाल पहुंचे थे। मंच पर मोदी और ममता साथ थे, पर जय श्री राम के नारे लगने पर ममता नाराज हो गईं। तभी से वे मोदी के सरकारी कार्यक्रमों से किनारा कर रही हैं। - Dainik Bhaskar दो दिन पहले पीएम मोदी ने कोरोना के हालात पर रिव्यू मीटिंग की थी। इसके बाद अधिकारियों को कोरोनावायरस का संक्रमण रोकने के लिए सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए गए थे। उम्मीद की जा रही है कि राज्य के मुख्य सचिवों के साथ बैठक में पीएम मोदी वैक्सीनेशन पर भी चर्चा करेंगे। वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्यों में तिलहर

वैक्सीन की कमी की शिकायत की है। साथ ही इसकी क्षमता पर भी सवाल उठाया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ। हर्षवर्धन ने महाराष्ट्र के लिए कहा कि वहां की सरकार अपनी नाकामियां छिपाने के लिए हम पर आरोप लगा रही है। महाराष्ट्र में हालात में वहां की सरकार की स्थितियों की वजह से बिगड़े हैं और सरकार गलतियां दोहराती जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने पंजाब, महाराष्ट्र और दिल्ली सरकार को पत्र लिखकर वैक्सीनेशन बढ़ाने की बात कही है।

१। हर रोज 6 लाख से ज्यादा वैक्सीन की डोज दी जाए
२। रेमीदेसीवीर की कीमत पर नियंत्रण रखा गया

३। ऑक्सीजन की सप्लाई पड़ोसी राज्यों से बढ़ाई जाए
४। खराब पड़े वेंटीलेटर के लिए तकनीकी मदद दी जाए

देश में 24 घंटे में रिकॉर्ड प्रकरण सामने आए चला गया। कोरोनाटेन्स का आंकड़ा अब 1.29 करोड़ से अधिक हो गया है। सबसे ज्यादा कोरोना के मामले में महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, केरल, कर्नाटक, गुजरात, दिल्ली और एमपी से आ रहे हैं। महाराष्ट्र में केंद्र ने अपनी 30 विशेष टीमें भेजी हैं। उधर, मध्य प्रदेश में हर जिले में संडे लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। यहां बुधवार को ऑक्सीजन की कमी से 5 मरीजों की मौत हो गई।

Back to top button
%d bloggers like this: