POLITICS

महंगी हो सकती है LPG! एक्साइज पॉलिसी में भी फेरबदल, जानिए

तीन बैंकों की चेक बुकें भी अब काम नहीं करेंगी, जिनमें ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी), यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और इलाहाबाद बैंक हैं।

आज एक अक्टूबर, 2021 है और इस महीने की शुरुआत के साथ ही कई सारी चीजें बदल गई हैं। मसलन एलपीजी (लिक्विफाइड पेट्रोलियम गैस) के दाम में बढ़ोतरी हो गई, जबकि नई एक्साइज पॉलिसी में फेरबदल हुआ है। आइए जानते हैं कि वे और कौन-कौन सी रोजमर्रा के कामों से जुड़ी या फिर अन्य जरूरी चीजें हैं, जो बदली हैं:

1- 80+ आयु वर्ग में आने वालों को अपनी पेंशन पाते रहने के लिए एक अक्टूबर से नए नियम के तहत डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट या फिर लाइफ सर्टिफिकेट का सबूत देश के किसी भी हेड पोस्ट ऑफिस में जीवन प्रमाण केंद्र पर जमा करना होगा। डिपार्टमेंट ऑफ पेंशन एंड पेंशनर्स वेल्फेयर के मुताबिक, इस काम को करने के लिए 30 नवंबर, 2021 आखिरी तारीख है।

2- तीन बैंकों की चेक बुकें भी अब काम नहीं करेंगी, जिनमें ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी), यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और इलाहाबाद बैंक हैं। तीनों ही बैंकों का विलय दूसरे बैंकों में हो चुका है, इस वजह से अब इनके ग्राहकों को नए बैंक (जहां विलय हुआ है) की चेक बुक लेनी पड़ेगी, जिस पर अपडेटेड एमआईसीआर कोड और आईएफएससी कोड रहेगा। बता दें कि ओबीसी और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का विलय पीएनबी (पंजाब नेशनल बैंक) में हुआ, जबकि इलाहाबाद बैंक का मर्जर इंडियन बैंक में हो चुका है।

3- भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने सभी बैंकों के लिए अनिवार्य कर दिय है कि उन्हें अगले महीने से ‘अतिरिक्त कारक प्रमाणीकरण’ (AFA) करना होगा। मतलब मासिक बिलों के साथ ऑटो-पेड बिलों को अब ग्राहक द्वारा वेरिफाई करना होगा और लेन-देन से पहले स्वीकृत करना होगा। इसके लिए ग्राहकों को एसएमएस या ई-मेल के जरिए एक नोटिफिकेशन भेजा जाएगा। एक बार वेरीफाई हो जाने के बाद भुगतान आपके खाते से काट लिया जाएगा।

4- भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा लाए गए एक नए नियम के मुताबिक, एसेट अंडर मैनेजमेंट (एएमसी) यानी म्यूचुअल फंड हाउस में काम करने वाले जूनियर कर्मचारियों को अपनी ग्रॉस सैलरी (सकल वेतन) का 10% उस म्यूचुअल फंड की इकाइयों में 1 अक्टूबर, 2021 से निवेश करना होगा। चूंकि, बदलाव चरणबद्ध तरीके से होंगे, इसलिए उपरोक्त कर्मचारियों को अक्टूबर 2023 से अपने वेतन का 20 प्रतिशत निवेश करना होगा।

5- एलपीजी की कीमतों में हर महीने संशोधन किया जाता है। महीने के पहले दिन ही कमर्शियल सिलेंडर की कीमत 43 बढ़ गई। इससे पहले, सब्सिडी वाले एलपीजी सहित सभी श्रेणियों में एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में एक सितंबर को 25 रुपए प्रति सिलेंडर की वृद्धि की गई थी। यह दो महीने के भीतर दरों में तीसरी बढ़ोतरी थी।

6- दिल्ली में रहते हैं, तब नई एक्साइज पॉलिसी के तहत राष्ट्रीय राजधानी में निजी संचालित शराब ठेके एक अक्टूबर से 16 नवंबर, 2021 तक बंद रहेंगे। हालांकि, सरकार द्वारा संचालित स्टोर चालू रहेंगे। नई आबकारी नीति के तहत शुक्रवार से शहर में निजी तौर पर चलने वाली करीब 260 शराब की दुकानें बंद हो जाएंगी। दिल्ली में कुल 850 शराब की दुकानों में से केवल दिल्ली सरकार की एजेंसियों द्वारा संचालित शराब की खुदरा बिक्री 16 नवंबर तक जारी रहेगी।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: