POLITICS

भीम आर्मी के चंद्रशेखर ने मुस्लिमों से कहा

भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि मुसलमान काम करने वाले नेताओं का साथ दें और हिस्सेदारी की लड़ाई में हमारे साथ आएं, फिर देखें कि जहां उनकी गलती नहीं वहां उनके साथ अन्याय नहीं होने देंगे।

भीम आर्मी संगठन के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने मुसलमानों से अपील की है कि वह निकम्मे नेताओं का साथ छोड़कर उनका साथ दें। उन्होंने कहा कि मुसलमान काम करने वाले नेताओं का साथ दें और फिर जहां मुसलमानों की गलती नहीं होगी, वहां उनके साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा।

चंद्रशेखर उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे, तभी उनसे मदरसों के सर्वे को लेकर सवाल किया गया तो वह सरकार से ज्यादा विपक्ष पर हमलावर नजर आए। उन्होंने कहा, “जो समाज कमजोर होगा उसकी सारी जांच होगी, मैं मुजफ्फरनगर के ही नहीं पूरे देश के मुस्लिम समाज के लोगों से कहना चाहता हूं कि वो निकम्मे नेताओं का साथ छोड़कर, काम करने वाले नेताओं का साथ दें और हिस्सेदारी की लड़ाई में हमारे साथ आएं और फिर देखें कि जहां उनकी गलती नहीं, उस कार्य के रूप में उनके साथ अन्याय नहीं होने देंगे। ये हमारा वादा है।”

चंद्रशेखर खतौली कोतवाली क्षेत्र स्थित थानपुर गांव में संत शिरोमणी सदगुरु महाराज के मंदिर में भीमराव अंबेडकर की मूर्ति के स्थापना कार्यक्रम में पहुंचे थे। यहां उन्होंने ओरैया मामले को लेकर राज्य सरकार को भी घेरा।

चंद्रशेखर ने कहा, “ओरैया में एक छात्र को पीट-पीटकर मार दिया गया और उसकी लड़ाई लड़ने के लिए भीम आर्मी के लोग गए। तो वहां के निकम्मे प्रशासन ने अपनी जान बचाने के लिए हमारे कार्यकर्ताओं को पीटकर खुद अपनी गाड़ियों में आग लगा दी और नाम हमारे कार्यकर्ताओं पर लगा दिया। सबके नाम मुकदमा लगा दिया। एक-एक कार्यकर्ता की पीठ पर पड़ी लाठी का हिसाब होगा।”

पिछले दिनों भीम आर्मी व आजाद समाज पार्टी ने राजस्थान के जैसलमेर में सामाजिक न्याय यात्रा निकाली थी। चंद्रशेखर आजाद के आह्वान पर 15 सितंबर से 23 सितंबर तक सामाजिक न्याय यात्रा रैली निकाली गई थी। इस दौरान हर गांव, शहर और ढाणी, तहसील विधानसभा क्षेत्र में जाकर लोगों को जागरुक करने का काम किया गया।

राजस्थान की मौजूदा कांग्रेस सरकार के राज में अनुसूचित जाति, जनजाति, ओबीसी और अल्पसंख्यकों के साथ हुई घटनाओं और सरकार की विफलताएं लोगों तक पहुंचाने के उद्देश्य से इस यात्रा को निकाला गया था। संगठन का कहना था कि राज्य की लाचार कानून व्यवस्था को लेकर लोगों को जागरुक किया जाएगा।

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: