POLITICS

भास्कर इंटरव्यू: सप्ताहभर पहले तक कांग्रेस नेता रहे पीसी चाको केरल में राहुल के खिलाफ प्रचार करेंगे, बोले -23 के समर्थन ने किया

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय

    • राहुल गांधी पीसी चाको | पीसी चाको साक्षात्कार अद्यतन; राहुल गांधी कांग्रेस की राजनीति और केरल चुनाव २०२१

    पर बोलते हैं )

    विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

    नई दिल्ली 17 दिन पहले लेखक: रवि यादव

    • कॉपी नंबर

    पूर्व कांग्रेस नेता पीसी चाको ने शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया है। एनसीपी में आते ही केरल विधानसभा चुनाव में चाको की भूमिका अब बदल गई है। अब तक जिस पार्टी के टिकट तय करने में उनकी भूमिका थी, अब वही कांग्रेस पार्टी के खिलाफ प्रचार करेंगे। केरल में NCP सत्तारूढ़ लेफ्ट डेमोक्रैटिक (LDF) की सहयोगी है।

    इस बारे में चाको ने दैनिक भास्कर से बातचीत की। चाको ने लोकतांत्रिक मूल्यों पर केंद्र की मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करने वाले राहुल गांधी की पार्टी में ही इंटरनल डेमोक्रेसी न होने का आरोप मढ़ दिया। चाको ने कहा कि वर्तमान में कांग्रेस में ठेकेदारी प्रथा का पालन किया जा रहा है। उन्होंने जी -23 प्रमुख का भी समर्थन किया। पूरी बातचीत करें …

    कांग्रेस को अलविदा कहते हुए क्या कारण मिल रहा है? मेरी कांग्रेस से जुड़ाव पिछले 50 साल का है। मौजूदा समय में कांग्रेस विपक्ष की भूमिका नहीं रही पा रही है। देश में मोदी सरकार के खिलाफ माहौल है, लेकिन कांग्रेस की इच्छा विपक्ष की भूमिका निभाने की नहीं है। कांग्रेस में नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए 23 लोगों ने लिखित में प्रस्ताव दिया था। कांग्रेस में ठेकेदारी प्रथा चल रही है।

    केरल चुनाव में टिकट देने का फ़ैसला दो गुट कर रहे हैं। सारा मामला पार्टी हाई कमान के संज्ञान में लाया गया, लेकिन कोई ऐक्शन नहीं लिया गया। मौजूदा समय में कांग्रेस में इंटरनल डेमोक्रेसी नहीं है। कांग्रेस में काम करने में मन की संतुष्टि नहीं मिल रही थी। पांच राज्यों में चुनाव आ रहे हैं, लेकिन कांग्रेस इसे लेकर गंभीर नहीं है तो ऐसी पार्टी में मेरा पड़ाव का मन नहीं था।

    NCP में जाने की क्या वजह रही, क्या भाजपा की ओर से निमंत्रण मिला था? नहीं … नहीं, मैं भाजपा को पसंद नहीं करता। अब भाजपा के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं।

    आपके NCP में जाने पर केरल के चुनाव के नतीजे क्या रह रहे हैं? ( एक पार्टनर है। केरल में LDF के साथ NCP है, मैं उनके लिए काम करूंगा। वैसे मेरी कांग्रेस में कई दोस्त हैं, जिनसे मैं मिलता रहता हूं। मौजूदा समय में कांग्रेस के क्या हालात हैं और भाजपा ऊपर क्यों जा रही है? सबसे पहले कांग्रेस को ये समझना है, कांग्रेस की जो कमियां बनी रही, उसी के कारण भाजपा का फायदा होता है। कांग्रेस में अभी तक कमी को दूर करने के प्रयास नहीं किए गए। जी -23 में कांग्रेसियों की ओर से नेतृत्व पर सवाल खड़े किए गए, क्या आप मानते हैं कि कांग्रेस में परिवारवाद खत्म होना चाहिए? उन्होंने नेतृत्व किया के खिलाफ नहीं बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की वर्किंग कमेटी और अध्यक्ष का चुनाव करवाया जाएगा। पांच राज्यों के चुनाव नतीजों पर आपका क्या कहना है? एक राज्य असम में भाजपा के चांस हैं, बाकी राज्यों में एंटी भाजपा ही जीतेंगे। अब आप NCP के नेता बन गए हैं तो महाराष्ट्र के मामले पर क्या कहेंगे?
    मुझे बाकी राज्यों की जानकारी नहीं है मैंने केरल को लेकर फैसला लिया है, बाकी सब एनसीपी निर्णय लेगी। पार्टी जो निर्णय लेगी मैं उसके साथ हूँ। आपकी केरल चुनाव में क्या भूमिका रहेगी, क्या आप खुद भी चुनाव लड़ेंगे?
    नहीं, मैं चुनाव नहीं करूँगा। मैं एनसीपी के माध्यम से एलडीएफ के लिए चुनाव में काम करूंगा।

    Back to top button
    %d bloggers like this: