POLITICS

‘भारत को लव लेटर लिखना जारी रखूंगा’ : ‘टू इंडिया’ विवाद को लेकर बोले कॉमेडियन वीर दास

नई दिल्‍ली :

वॉशिंगटन के केनेडी सेंटर में हाल ही में ‘टू इंडिया’ संबंधी अपने मोनोलॉग को लेकर तीखी आलोचना और नाराजगी का सामना करने वाले स्‍टैंडअप कॉमेडियन वीर दास (Vir Das)ने कहा है कि व्‍यंग्‍य करना उनका काम है और वे जब तक कॉमेडी करने में सक्षम हैं अपने देश को ‘लव लेटर’ लिखना जारी रखेंगे.पिछले सप्‍ताह यू-ट्यूब  पर पोस्‍ट किए गए अपने वीडियो को लेकर आलोचना से घिरे वीरदास ने इस विवाद के बाद दिए अपने पहले इंटरव्‍यू में जोर देकर कहा कि उनका मानना है कि किसी भी भारतीय, जिसके पास सेंस ऑफ ह्यूमर है, वह जानता है कि यह सटायर (व्‍यंग्‍य) है.वीर को उनके नेटफ्लिक्‍स शो ‘वीर दास: फॉर इंडिया’ के लिए इंटरनेशनल एमी अवार्ड के लिए नामित किया गया है.

‘मेरा मकसद देश का अपमान नहीं था’ : शो में टिप्पणी को लेकर शिकायत दर्ज होने पर वीरदास की सफाई

42 साल का यह कॉमेडियन ने इस पीस के जरिये दिए जाने वाले मैसेज को लेकर स्‍पष्‍ट हैं. न्‍यूयॉर्क से NDTV को दिएएक्‍सक्‍लूजिव इंटरव्‍यू में वीर दास ने कहा, ‘मैं सोचता हूं कि हंसी एक उत्‍सव की तरह है और जब हंसी औरतालियां एक कमरे में गूंज उठती है तो वह वर्ग का क्षण होता है. मुझे लगता है कि कोई भी भारतीय जिसके पास सेंस ऑफ ह्यूमर है या जो सटायर को समझता है या जिसमें मेरा पूरा वीडियो देखा है, जानता है कि रूप में क्‍या हुआ था. ‘ उन्‍होंने कहा, ‘एक आर्टिस्‍ट के तौर पर आपको हर तरह के फीडबैक मिलते हैं लेकिन लाखों लोगों ने….मेरे शो के लिए मुझे प्‍यार दिया है.’

देश में पिछले 24 घंटे में 8,488 नए केस आए सामने, 538 दिनों में सबसे कम मामले

केनेडी सेंटर केपरफॉर्मेंस से व्‍यापक रूप से शेयर की गई इस 6 मिनट की क्लिप ने सोशल मीडिया को दो हिस्‍सों में बांट दिया है. इसमें वीर दास ने देश के दो विरोधाभासी चेहरों को जिक्र किया है और दिल्‍ली गैंगरेप और किसानों के प्रदर्शन से लेकर प्रदूषण तक कुछ विवादास्‍पद टॉपिक्‍स का भी संदर्भ दिया है.तालियों की गड़गड़ाहट के बीच उन्‍होंने कहा था, ‘मैं ऐसे भारत से आता  हूं जहां की ज्‍यादातर आबादी 30 वर्ष से कम उम्र की है लेकिन जो इसके बावजूद यह 75 साल के नेताओं के 150 साल पुराने आइडियाज को सुनता है.’ जहां ट्विटर पर कई लोगों ने उनके ‘शब्‍दों’ को सराहा और वीडियो या इसके खास हिस्‍से को शेयर किया वहीं कई लोगों ने ‘इसके लिए वीर दास की जमकर आलोचना भी की. बीजेपी के एक नेता ने तो विदेशी जमीन पर भारत की छवि खराब करने का आरोप लगाते हुए वीर दास के खिलाफ पुलिस केस भी दर्ज कराया है.

Back to top button
%d bloggers like this: